पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जयंती पर याद किए गए गोस्वामी तुलसीदास

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सूर्यपुरा | प्रखंड मुख्यालय स्थित सूर्यपुरा बड़ा तालाब के पास तुलसी जयंती के अवसर पर बुधवार को रामचरित मानस के रचयिता गोस्वामी तुलसीदास की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य वक्ताओं ने तुलसी के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। जयंती समारोह की अध्यक्षता कर रहे आचार्य विजय किशोर तिवारी ने कहा कि लोक नायक तुलसीदास भारतीय जनता में परम्परा विरोधी संस्कृतियां, साधनाएं, जातियां, आचार निष्ठा, विचार पद्धतियों में समन्वय कर गीता की तरह समन्वयकारी बन मानस के देदीप्यमान नक्षत्र बने। हर देश काल परिस्थिति में तुलसी की रचना पथ प्रदर्शक है। शिक्षक धनेश्वर प्रसाद ने अपने कविता के माध्यम से कहा कि हुलसी की गोदी में आया, राम बोला एक बालक था। नाम तुलसी दास जिसका, आत्मा राम पालक था॥ इनके अलावा चन्द्रमा शर्मा, मुकेश, अभय कुमार, बीरेंद्र कुमार, मनोज सिंह, इन्द्रजीत कुमार, सन्नी यादव ने भी संबोधित किया।

खबरें और भी हैं...