पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोई ट्रेन अपने प्रारंभिक स्टेशन से रवाना नहीं होगी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पहले से चल रही ट्रेनों को रास्ते के स्टेशनों पर रोक लिया जाएगा

कोरोना के कारण शनिवार रात से रविवार रात तक देश में रेल यातायात ठप रहेगा। रेल मंत्रालय ने घोषणा की है कि 21 व 22 मार्च की आधी रात यानी ठीक 12 बजे से 22 मार्च की देर रात 10 बजे तक, 22 घंटे कोई भी यात्री ट्रेन नहीं चलेगी। रेल मंत्रालय की ओर से जारी पत्र के अनुसार 22 मार्च को 22 घंटे तक कोई भी यात्री ट्रेन अपने प्रारंभिक स्टेशन से रवाना नहीं की जाएगी।

डीडीयू के मंडल रेल प्रबंधक पंकज सक्सेना ने बताया की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा जनता कर्फ्यू के पालन के आहवान के मद्देनजर रेल मंत्रालय ने शनिवार रात 12 बजे से रविवार रात 10 बजे के बीच देश में रेल यातायात को पूरी तरह बंद रखने का निर्णय लिया है। इस दौरान पहले से चल रही ट्रेनों को रास्ते के स्टेशनों पर रोक लिया जाएगा और यात्रियों को प्रतीक्षालयों में रखा जाएगा। जिन जिन रेल यात्रियों के द्वारा ट्रेनों में टिकट बुक कराए है, उन्हें व्यक्तिगत रूप से इसकी जानकारी दी जा रही है। इन ट्रेनों में टिकट रद होने का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। यात्रियों को पूरा पैसा वापस मिलेगा। सामाजिक दूरी सुनिश्चित करना जरूरी है। यह पहली बार हो रहा है कि रेल संचालन इतनी बड़ी संख्या में रोका गया है।

रेलवे ने घोषणा की है कि 21 व 22 मार्च की आधी रात यानी ठीक 12 बजे से 22 मार्च की देर रात 10 बजे तक, 22 घंटे कोई भी यात्री ट्रेन नहीं चलेगी। हालांकि रेलवे ने पहले ही दिन सात घंटे की यात्रा पूरी कर चुकी पैसेंजर ट्रेन के लिए राहत का इंतजाम किया है. ऐसी ट्रेनों के गंतव्य तक परिचालन की अनुमति होगी। बता दें कि देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार की रात राष्ट्र को संबोधित करते हुए 22 मार्च, रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था। प्रधानमंत्री ने लोगों से खुद ही इस अवधि में घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की थी। रेलवे ने भी जनता कर्फ्यू के दिन ट्रेनबंदी का ऐलान किया है।

यात्रियों को दी गई स्वच्छ रहने की सलाह

नोखा |डीआरएम पंकज सक्सेना ने गढ़ नोखा रेलवे स्टेशन पर कोरोना वायरस संक्रमण से रोकथाम हेतु तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने वहां मौजूद यात्री से भी पूछताछ की एवं उनको बचाव के लिए सलाह भी दिए। स्टेशन मास्टर को निर्देश देते हुए कहा कि स्टेशन परिसर की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें। कोई स्टेशन पर बाहर से आये तो उसकी जानकारी अधिकारी को दें। डीआरएम ने यात्रियों को बताया कि काेराेना से डरे नहीं बल्कि सतर्क एवं सजग रहें। वहीं, रेलकर्मियों को निर्देश दिया कि स्टेशन परिसर में नियमित रूप से सेनिटेशन करवाएं।

जनता कर्फ्यू: 7 घंटे की यात्रा कर चुकी ट्रेन गंतव्य तक जाएगी
खबरें और भी हैं...