--Advertisement--

पहले दिन 20 केंद्रों पर हुई परीक्षा में 10 हजार परीक्षार्थी हुए शामिल

Sasaram News - बिहार कर्मचारी चयन आयोग की प्रथम इंटर स्तरीय संयुक्त(प्रारंभिक) परीक्षा- 2014 शनिवार से शुरू हुई। पहले दिन 10 हजार...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:06 AM IST
Sasaram News - on the first day 10 thousand examinations were conducted in 20 centers
बिहार कर्मचारी चयन आयोग की प्रथम इंटर स्तरीय संयुक्त(प्रारंभिक) परीक्षा- 2014 शनिवार से शुरू हुई। पहले दिन 10 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए। तीन दिनों चलने वाली परीक्षा के लिए जिला मुख्यालय में भी 20 केंद्रो पर हो रही है। परीक्षा की प्रथम पाली प्रथम पाली 9.30 सुबह से शुरू होकर 11.45 तक चली, जबकि द्वितीय पाली दो बजे से 4.15 तक चली। परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी थी। परीक्षार्थी कोई भी अतिरिक्त सामान अंदर नहीं ले जा सकते थे। परंतु नकल रोकने के नाम पर निर्देशानुसार परीक्षा केंद्रों पर छात्रौ के जूता-मोजा के साथ स्वेटर जैकेट भी उतरवा लिए गए। परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों पर सामान जमा करने में भी काफी समय लग रहा था। इसके बाद नंगे पांव उन्हें परीक्षा भवन में प्रवेश के लिए लंबी लाइन भी लगानी पड़ी। महिलाओं को भी जूता-मोजा के साथ गहना आदि भी साथ आए परिजनों काे सौंप परीक्षा भवन में प्रवेश करना पड़ा। ठंड में बिना जूता-स्वेटर के परीक्षा देने में बहुत कठिनाई हुई। खासकर दूसरी पाली में परीक्षा में छात्र-छात्राओं को गिरते तापमान के कारण कष्ट हुआ। इसे ले उनमें रोष भी देखा गया। परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की थी। जिसमें सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान एवं गणित विषय के बहुवैकल्पिक प्रश्न परीक्षार्थियों को हल करने थे। परीक्षार्थी सभी विषयों की एक-एक पुस्तक लेकर अंदर जा सकते थे। परंतु परीक्षार्थियों का कहना था कि समयाभाव के कारण वे प्रश्नों को हल करने में साथ ले गए पुस्तकों की सहायता नहीं ले सके।

बिहार एसएससी की परीक्षा में जूता-मोजा उतार परीक्षा में शामिल हुए परीक्षार्थी

नंगे पांव परीक्षा केंद्र में प्रवेश के लिए कतारबद्ध परीक्षार्थी

सिटी रिपोर्टर | सासाराम

बिहार कर्मचारी चयन आयोग की प्रथम इंटर स्तरीय संयुक्त(प्रारंभिक) परीक्षा- 2014 शनिवार से शुरू हुई। पहले दिन 10 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए। तीन दिनों चलने वाली परीक्षा के लिए जिला मुख्यालय में भी 20 केंद्रो पर हो रही है। परीक्षा की प्रथम पाली प्रथम पाली 9.30 सुबह से शुरू होकर 11.45 तक चली, जबकि द्वितीय पाली दो बजे से 4.15 तक चली। परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी थी। परीक्षार्थी कोई भी अतिरिक्त सामान अंदर नहीं ले जा सकते थे। परंतु नकल रोकने के नाम पर निर्देशानुसार परीक्षा केंद्रों पर छात्रौ के जूता-मोजा के साथ स्वेटर जैकेट भी उतरवा लिए गए। परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों पर सामान जमा करने में भी काफी समय लग रहा था। इसके बाद नंगे पांव उन्हें परीक्षा भवन में प्रवेश के लिए लंबी लाइन भी लगानी पड़ी। महिलाओं को भी जूता-मोजा के साथ गहना आदि भी साथ आए परिजनों काे सौंप परीक्षा भवन में प्रवेश करना पड़ा। ठंड में बिना जूता-स्वेटर के परीक्षा देने में बहुत कठिनाई हुई। खासकर दूसरी पाली में परीक्षा में छात्र-छात्राओं को गिरते तापमान के कारण कष्ट हुआ। इसे ले उनमें रोष भी देखा गया। परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की थी। जिसमें सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान एवं गणित विषय के बहुवैकल्पिक प्रश्न परीक्षार्थियों को हल करने थे। परीक्षार्थी सभी विषयों की एक-एक पुस्तक लेकर अंदर जा सकते थे। परंतु परीक्षार्थियों का कहना था कि समयाभाव के कारण वे प्रश्नों को हल करने में साथ ले गए पुस्तकों की सहायता नहीं ले सके।

परीक्ष ाकेंद्र पर सामान व जूता आदि जमा करते परीक्षार्थी।

परीक्षा को ले परीक्षा केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही

प्रत्येक केंद्र पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस बल तैनात थे। चार-चार केंद्रो के लिए पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट तैनात थे। अनुमंडलाधिकारी द्वारा परीक्षा केंद्रों पर निषेधाज्ञा जारी की गई है। सभी परीक्षार्थियों को परीक्षा कार्य से संबंधित वैध कागजात के अतिरिक्त कोई अन्य कैलकुलेटर, स्लाइड रूल, लाग टेबुल, ग्राफ पेपर, चार्ट पेपर, अलेक्ट्रानिक उपकरण, मोबाइल फोन, ब्लू ट्रूथ, पेजर, डिकोड्रस, स्मार्टफोन, घड़ी, जूता-मोजा, आभूषण आदि परीक्षा में ले जाने की इजाजत नहीं थी। परीक्षा केंद्र के 200 गज परिधि की दूरी में फोटो स्टेट एवं साइबर कैफे के दुकान भी परीक्षा अवधि में बंद रहे।

Sasaram News - on the first day 10 thousand examinations were conducted in 20 centers
X
Sasaram News - on the first day 10 thousand examinations were conducted in 20 centers
Sasaram News - on the first day 10 thousand examinations were conducted in 20 centers
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..