खुले में मांस-मछली की बिक्री धड़ल्ले से जारी, नियमों की उड़ रहीं धज्जियां

Sasaram News - प्रखंड क्षेत्र के मुख्य बाजार स्थित मुख्य पथ पर जगह-जगह मांस-मछली की दुकानों को खोलकर बिक्री की जा रही है। आरा नहर...

Dec 05, 2019, 06:15 AM IST
प्रखंड क्षेत्र के मुख्य बाजार स्थित मुख्य पथ पर जगह-जगह मांस-मछली की दुकानों को खोलकर बिक्री की जा रही है। आरा नहर पर स्थित हनुमान मंदिर एवं शिव मंदिर से महज 50 फीट की दूरी पर मांस-मछली धड़ल्ले से बिक्री हो रही है। मुख्य बाजार चौक से लेकर चांदी रोड हनुमान गढी तक सैकड़ों दुकानदार सड़क के किनारे दुकान लगा कर बेच रहे हैं। सबसे दुखद बात यह है कि थाना से महज 200 गज की दूरी पर सब्जी मंडी के समीप मुख्य पथ पर मुर्गा मांस से लेकर बकरे भी काटे जाते है व मछलियों भी बेची जाती है। जबकि सरकार का सख्त निर्देश है कि खुले में मांस मछली बेचना अपराध है। मांस को फिरिंजर में रख कर बेचने की हिदायत दे रखी है। लेकिन विक्रेताओं ने सारे नियम को ताख पर रख कर धड़ल्ले से मांस मछली को बिक्री कर रहे है। मांस-मछली की दुकान खोलने से हर तरफ गंदगी का आलम है।

सड़कों पर ही मुर्गे के पंख व मछली के छिलके पसरे रहते हैं। मांस मछली की दुकानों के समीप से गुजरते समय निकलने वाले दुर्गंध से आम लोगों को काफी परेशानी होती है। सबसे अधिक परेशानी वैसे लोगों को होती है जो मंदिरों में पूजा-अर्चना करने आते-जाते हैं। आम लोग भी प्रशासन की इस व्यवस्था को मन ही मन कोसते रहते हैं। आम लोगों की विवशता यह है कि वे न तो मांस की दुकानों को हटा सकते हैं और ना ही मांस मछली बेचने वालों पर कोई दबाव बनाया जा सकता है। मांस मछली बेचने वाले अपने दुकानों पर कम वजन वाली बाट रखकर ग्राहकों को कम मांस मछली देकर अच्छी कमाई करते हैं। इसके वजह से कई बार ग्राहकों से नोक-झोंक भी हो जाती है, ऐसे ही कई मामले भी प्रशासन तक पहुंच भी चुका है। अगर खुले में मांस बेचने वालों पर प्रशासनिक कार्रवाई नहीं होती है उनके हौसले बुलंद होते रहेंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना