जिले में नशापान उन्मूलन अभियान ठप, आए दिन मिलता रहता है शिकार, नशामुक्ति केंद्र अनुपयोगी

Sitamarhi News - जिला मुख्यालय स्थित मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में बने नशामुक्ति केंद्र अनुपयोगी साबित हो रहा है। जिले में चल रहे...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:26 AM IST
shivahar News - disruption eradication campaign stalled in the district hunting continues for the day disadvantage is inaccessible
जिला मुख्यालय स्थित मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में बने नशामुक्ति केंद्र अनुपयोगी साबित हो रहा है। जिले में चल रहे नशापान उन्मूलन अभियान ठप है। कभी कभी नशापान के शिकार लोग मिलते रहते है। लेकिन प्रशासन देखकर भी कुछ नहीं कर रहा है। विडंबना है कि एक भी शराबी अपनी लत से तौबा करने केंद्र नहीं पहुंच रहा है। हांलाकि चुनाव की अवधि को छोड़ दें तो शायद ही कोई दिन ऐसा बीता हो जब शराब या शराबी नहीं पकड़े जाते है। ऐसे में सरकार की शराब बंदी मुहीम के प्रति लोगों में निराशा का भाव देखा जा रहा है। लोगों का कहना है कि शराब बंदी के बावजूद शराब की होम डिलवरी धड़ेल्ले से हो रही है। हांलाकि पुलिस अपने स्तर से शराब करोबारी एवं शराबियों को पकड़ने के लिए प्रतिदिन अभियान चला रही है। प्रतिदिन करोबारी और शराबी पकड़े जा रहे है। लेकिन नशापान करने वाले भी अपने जिद पर कायम है। एक अप्रैल 2016 से कार्यरत नशा मुक्ति केंद्र पर विगत चार सालों में मात्र 24 लोग ही पहुंच पाये है। जिनका इलाज और कांउसिलिंग किया गया।

शिवहर में स्थापित नशामुक्ति केंद्र बना अनुपयोगी।

केन्द्र पर 6 कर्मी हंै कार्यरत

नशामुक्ति केंद्र के प्रभारी डॉ. सुरेश राम ने बतया कि नशा मुक्ति केंद्र में 6 कर्मी कार्यरत है। लेकिन कोई नशा के आदि व्यक्ति केंद्र पर नहीं आ रहे है। जिस कारण केंद्र में लगे उपकरण भी बेकार हो रहा है। सिविल सर्जन धनेश्वर कुमार सिंह ने कहा कि नशामुक्ति केंद्र में आने वाले मरीजों की पहचान भी सार्वजनिक नहीं की जाती है। फिर भी नशा का लत छुड़ाने के लिए कोई व्यक्ति नहीं आ रहा है तो स्वास्थ्यकर्मी क्या करेंगे।

X
shivahar News - disruption eradication campaign stalled in the district hunting continues for the day disadvantage is inaccessible
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना