दर्जनों गावाें में बाढ़ का पानी, परसा महेंद्र गांव में डूबी प्रियंका, ससमय अस्पताल नहीं पहुंचने से मौत

Sitamarhi News - भास्कर न्यूज| सीतामढ़ी सुरसंड रूक-रूक कर लागातार छह दिनों से हो रही बारिश के कारण रातो नदी में उफान आ जाने से जिले...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:05 AM IST
Mejargang News - due to flooding in dozens of villages prius dead in parsa mahendra village death from not reaching sadham hospital
भास्कर न्यूज| सीतामढ़ी सुरसंड

रूक-रूक कर लागातार छह दिनों से हो रही बारिश के कारण रातो नदी में उफान आ जाने से जिले के श्रीखंडी भिट्ठा पूर्वी पंचायत के वार्ड नंबर 5 महादलित टोला में लगभग 400 सौ घरों में पानी प्रवेश कर गया है। महादलित टोला के बाढ़ पीड़ित अपने बच्चे व मवेशियों के साथ मध्य विद्यालय में शरण ले रखा है। रातो नदी के उफान से भारत-नेपाल सीमा के एसएसबी चेक पोस्ट, भिट्ठा ओपी, पुलिस चेकपोस्ट व भिट्ठामोड़ में आवासीय व लगभग 70 दुकानों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर जाने से पूरा क्षेत्र पानी के चपेट में अा गया है। भारत-नेपाल सीमा स्थित सहलेश स्थान के निकट लगभग 30 फीट लंबी तटबंध में हो रहे कटाव को रोकने के लिए मरम्मत कार्य जारी है। भिट्ठामोड़-चोरौत एनएच 104 पर 3 फीट पानी का बहाव होने से गाड़ियों का परिचालन बंद है। इधर भिट्ठामोड़- नेपाल के जनकपुरधाम महेन्द्र राज मार्ग पर 3 से 4 फीट पानी के तेज बहाव से यातायात बंद है। तरियानी के मुंशी चौक से बेलसंड- सीतामढ़ी मुख्य पथ में बनाए गए डायवर्सन बागमती नदी में तेज बाढ़ के कारण बह गया है। इधर, सोनबरसा थाना क्षेत्र के परसा महेंद्र गांव में शनिवार की शाम बाढ़ के पानी में डूबने से दो वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। मृतका की पहचान वार्ड आठ निवासी मदन झा की पुत्री प्रियंका कुमारी के रूप में हुई है। पिता ने बताया उसके घर को चारों तरफ से पानी ने घेर लिया है। खेलने के दौरान पांव फिसलने के कारण उसकी बेटी बाढ़ के पानी में गिर गयी। उसे सीएचसी में ले जाने का प्रयास किया। लेकिन, बाढ के कारण सारा रास्ता अबरुद्ध था। इस कारण समय पर अस्पताल नहीं पहुंच सके। वहीं रास्ते में ही उसकी बेटी की मौत हो गई।

लखनदेई नदी के जलस्तर में हो रही वृद्धि के कारण नदी तट पर बसे परिवारों ने रेलवे लाइन के समीप बनाया आशियाना

शिवहर की अम्बा शाैख टाेली में बाढ़ के बहाव में टूटी सड़क।

सुप्पी में लोग उंचे स्थानों पर ले रहे शरण राहत के लिए प्रशासन से कोई पहल नहीं

सुप्पी| जलस्तर में वृद्धि होने से बड़हरवा, पकड़ी, परसा, जमला, राजपुर, घरवाड़ा, नरहा समेत कई गांव में बाढ़ का पानी घुस गया है। स्थानीय लोग अपने घरों से निकलकर ऊंचे स्थानों पर शरण लिये हुए है। स्थानीय प्रशासन स्तर पर किसी भी तरह के बचाव या राहत पहुंचाने के लिये पहल नहीं हो सकी है। सुप्पी प्रखंड के परसा व मेजरगंज प्रखंड के हरपुर गांव के समीप से गुजरने वाली बागमती नदी का तटबंध टूटा हुआ था, जिस होकर बाढ का पानी सुप्पी व मेजरगंज प्रखंड के कई गांव में प्रलय मचा रही है।

बथनाहा प्रखंड की जमुरा नदी का तटबंध टूटा, स्कूल में की रहने की व्यवस्था

बथनाहा| प्रखंड क्षेत्र के रनौली पंचायत के सिंगरहिया गांव में अवस्थित जमुरा नदी का तटबंध टूटने से दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। हरिबेला गांव के मुशहरी टोल में पानी प्रवेश कर जाने से लोग ऊंचे स्थान पर चले गये है। स्थानीय ग्रामिणों की मदद से बाढ़ पीड़ितों को सरकारी विद्यालय में रहने की व्यवस्था की गई है। बाढ़ पीड़ितों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का निर्देश देते हुए सरकारी विद्यालय के मध्याह्न भोजन से भोजन कराने का निर्देश दिया।

बाढ़ से बचाव के लिए रेलवे ट्रेक पर रहने को विवश हुए लोग।

परिहार में 200 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया, एनडीआरएफ की 2 टीम तैनात

परिहार| लगातार हाे रही बारिश के बाद प्रखंड के कमोबेश सभी गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। प्रखंड कार्यालय परिसर में करीब 5 फीट पानी प्रवेश कर गया है। राहत व बचाव कार्य के लिए यहां एनडीआरएफ की 2 टीमों को लगाया गया है। एनडीआरएफ की टीम ने करीब 200 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है। भीषण बाढ़ के कारण दर्जनों सड़के क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिसके चलते लोगों का प्रखंड एवं जिला मुख्यालय से सड़क संपर्क भंग हो गया है।

भिट्ठामोड़-चोरौत एनएच-104 पर 3 फीट पानी का बहाव होने से गाड़ियों का परिचालन बंद है

20 तक सभी स्कूलों में बंद रहेगा पठन-पाठन

सीतामढ़ी| नदियों में आई उफान से जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। डीएम डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने आपात बैठक बुलाकर सभी पदाधिकारियों को तटबंधों पर निगरानी करने व बाढ़ से प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने का आदेश दिया है। इसे लेकर डीएम ने आगामी 20 जुलाई तक सभी स्कूलों में पठन पाठन बंद करने का आदेश दिया है। वहीं, निचले स्थानों में जल जमाव वाले क्षेत्र में स्थित आंगनबाड़ी केंद्र को भी बंद करने का आदेश दिया गया है।



पटना से पहुंचा सेटेलाइट फोन रामपुर कंठ में बांध पर रेन कट के माध्यम से रिसाव होने की सूचना दी गई है। कहा कि रामपुर कंठ सबसे अधिक संवेदनशील स्थान है। उन्हाेंने वहां डबल लेबल सैंड बैग और जियो बैग लगवाने के दिया निर्देश दिया। स्थिति को देखते हुए पटना से सेटेलाइट फोन उपलब्ध कराया गया है। रामपुर कंठ में बांध पर हाे रहे रिसाव काे लेकर डीएम ने कैंप शुरू करने का अंदेशा दिया है। सभी जल जमाव क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दिया गया है। बैरगनिया बागमती पुल का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों काे निर्देश दिया है।

Mejargang News - due to flooding in dozens of villages prius dead in parsa mahendra village death from not reaching sadham hospital
X
Mejargang News - due to flooding in dozens of villages prius dead in parsa mahendra village death from not reaching sadham hospital
Mejargang News - due to flooding in dozens of villages prius dead in parsa mahendra village death from not reaching sadham hospital
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना