पाश्चात्य संस्कृति के हावी होने से हम अपनी संस्कृति व संस्कार भूलते जा रहे

Sitamarhi News - पड़ोसी देश नेपाल के रौतहट स्थित राजदेवी नगरपालिका 9 ब्रह्मपुरी में शिव शक्ति महायज्ञ का आयोजन किया गया है। इस...

Feb 15, 2020, 08:45 AM IST
Mejargang News - due to the dominance of western culture we keep forgetting our culture and culture

पड़ोसी देश नेपाल के रौतहट स्थित राजदेवी नगरपालिका 9 ब्रह्मपुरी में शिव शक्ति महायज्ञ का आयोजन किया गया है। इस दौरान आयाेजित तीन दिवसीय संगीतमय श्रीराम कथा में भारत-नेपाल के बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। इस अवसर पर कथा-प्रवचन को पहुंचे मेजरगंज के मुबारकपुर निवासी व प्रसिद्ध कथावाचक संत आचार्य सुदर्शनजी महाराज का स्वागत नेपाल के केंद्रीय श्रम तथा रोजगार कल्याण मंत्री रामेश्वर राय यादव, राजदेवी, नगरपालिका के मेयर धीरेन्द्र कुमार सिंह, गौर नगरपालिका के नगर उपप्रमुख किरण ठाकुर, यज्ञ समिति के अध्यक्ष नवीन कुमार सिंह आदि ने माला व पट्टीका पहनाकर किया। वहीं आचार्य श्री सुदर्शनजी महाराज ने बाबा भोलेनाथ की आरती से कथा शुरू की। आचार्य श्री ने विभिन्न प्रसंगाें काे सुनाते हुए लोगों को आध्यात्म का महत्व समझाया। भगवान श्री राम एवं भाइयों के नामकरण संस्कार अाैर शिक्षा संस्कार को बताया। उन्होंने कहा कि आज पाश्चात्य संस्कृति के हावी होने से हम अपनी संस्कृति और संस्कार भूलते जा रहे हैं। प्राचीन काल में गुरु के द्वारा शुभ मुहूर्त में विद्यारंभ कराया जाता था। गुरु-शिष्य परंपरा आदर्श रूप में स्थापित था। कहा कि भगवान राम का संपूर्ण जीवन एक आदर्श है। वो मर्यादा के स्वामी हैं। माया-मोह में फंसे लोगों को भगवान की शरण में जाना चाहिए। भगवान की शरण में जाने वाले पापी को भी मुक्ति मिलती है। मौके पर रुद्रेश कुमार सिंह, बाबू साहब, शैलेन्द्र कुमार सिंह, पूर्व सांसद मो. कलाम आजाद, विश्व हिन्दू परिषद नेपाल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल, राजकिशोर यादव, चन्द्रिका सिंह, रामनारायण सिंह समेत सैकड़ों श्रद्धालु उपस्थित थे।

रामकथा सुनते भक्तगण।

रामकथा सुनाते संत।

Mejargang News - due to the dominance of western culture we keep forgetting our culture and culture
X
Mejargang News - due to the dominance of western culture we keep forgetting our culture and culture
Mejargang News - due to the dominance of western culture we keep forgetting our culture and culture

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना