हत्या की प्राथमिकी होने के बाद भी बथानाहा पुलिस ने आचरण प्रमाण पत्र जारी करवा दिया

Sitamarhi News - पुलिस ने संगीन मामले के आरोपी को आचरण प्रमाण पत्र जारी कर अपनी कारगुजारी स्पष्ट कर दी है। थाने में हत्या का...

Nov 11, 2019, 06:35 AM IST
पुलिस ने संगीन मामले के आरोपी को आचरण प्रमाण पत्र जारी कर अपनी कारगुजारी स्पष्ट कर दी है। थाने में हत्या का प्राथमिकी दर्ज होने के बावजूद बथानाहा थाना पुलिस ने इस साक्ष्य को छुपाते हुए एसपी से आचरण प्रमाण पत्र जारी करने के लिए अनुशंसा कर दी। इतना ही नहीं पुलिस अधीक्षक ने उक्त सत्यापन के आधार पर संगीन मामले के आरोपी को आचरण प्रमाण पत्र जारी भी कर दिया।

यह है मामला

बथनाहा थाना क्षेत्र के दिग्घी पंचायत वार्ड नं-7 निवासी रविंद्र महतो के पुत्र चंदन कुमार के विरुद्ध थाने में हत्या के मामले में कांड संख्या 135/2007 दर्ज है। वहीं वर्ष 2004 में अपहरण के मामले दिग्घी निवासी बिंदा महतो द्वारा चंदन के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी। उक्त दोनों मामला स्थानीय न्यायालय में लंबित है। इसके बावजूद बथनाहा पुलिस ने सत्यापन के दौरान उक्त मामले को नजरअंदाज करते हुए कहा है कि इनके विरुद्ध इस थाना अभिलेख में कोई प्रतिकूल प्रविष्टि नहीं पाई गई है।

क्या है प्रावधान

नगर थानाध्यक्ष प्रभात रंजन सक्सेना ने बताया कि आचरण प्रमाण पत्र बनाने के लिए विहित प्रपत्र में पुलिस अधिक्षक कार्यालय में अभ्यर्थी द्वारा आवेदन किया जाता है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से अभ्यर्थी के पोषक क्षेत्र के थाने में सत्यापन के लिए भेजा जाता है। सत्यापन रिपोर्ट के आधार पर एसपी द्वारा आचरण प्रमाण पत्र जारी किया जाता है। बताया कि अगर अभ्यर्थी मारपीट जैसे छोटे मामले के आरोपी है अथवा मामला न्यायालय में लंबित है तो आचरण प्रमाण पत्र जारी किया जा सकता है। लेकिन, अपहरण व हत्या जैसे संगीन मामलों में आरोपी है तो ऐसा संभव नहीं है।

जारी किया गया प्रमाणपत्र।

थाना अभिलेख में कोई प्रतिकूल प्रविष्टि नहीं

एसपी द्वारा जारी आचरण प्रमाण पत्र में अंकित किया गया है कि अभ्यर्थी द्वारा दिए गए पत्ता पर थानाध्यक्ष बथनाहा द्वारा सत्यापन किया गया है। सत्यापन के क्रम में संबंधित थानाध्यक्ष द्वारा अपने ज्ञापांक 25503 दिनांक 19 अक्टूबर 2019 द्वारा सूचित किया गया है कि अभ्यर्थी चंदन कुमार का नाम व पता सही है। जन्म से पढ़ाई कार्य करते है। इनके विरुद्ध इस थाना अभिलेख में कोई प्रतिकूल प्रविष्टि नहीं पाई गई है। इसके आधार पर यह चरित्र प्रमाण पत्र नौकरी कार्य के लिए जारी किया गया है।

मामले की जांच कर दोषी के विरुद्ध होगी कार्रवाई

इस संबंध में एसपी अनिल कुमार ने कहा साक्ष्य छुपाकर आचरण प्रमाण पत्र के लिए अनुशंसा करना घोर लापरवाही है। यह बात संज्ञान में आई है। इसकी जांच की जाएगी। अगर मामला सत्य पाया जाता है तो जो भी दोषी होगा सख्त कार्रवाई की जाएगी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना