भौतिक वस्तुओं का प्रभाव ही दुख का कारण : आचार्य

Sitamarhi News - नगर क्षेत्र के छोटी कुटी में आयोजित भक्तिमय श्रीराम कथा के नौवें व अंतिम दिन वृंदावन से आये आचार्य श्री शीतल कृष्ण...

Jan 16, 2020, 09:25 AM IST
Sitamarhi News - impact of material goods is the cause of sorrow acharya
नगर क्षेत्र के छोटी कुटी में आयोजित भक्तिमय श्रीराम कथा के नौवें व अंतिम दिन वृंदावन से आये आचार्य श्री शीतल कृष्ण जी ने कहा कि जब हम प्रभु पर भरोसा कर लेते है तो प्रभु का भी स्नेह मिलता है। प्रभु से भक्ति मांगिए ताकि श्रद्धा, भक्ति और संतों की सेवा में मन रम जाए। आप प्रभु के लायक बन जाइए, प्रभु जी स्वयं आपके हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि परमात्मा के प्रति समर्पित हो जाना सच्ची भक्ति है। भौतिक वस्तुओं के अभाव से दु:ख नहीं होता। भौतिक वस्तुओं का प्रभाव दु:ख का कारण होता है। हाथ से काम हो और मुख में राम हो जाए तो सभी काम आसान होते है। संत विपत्तियों में भी भक्ति भाव में ही रहते है। नल नील ने पत्थर पर राम नाम लिख दिया तो वह तैरने लगा। जबकि भगवान राम स्वयं अपने हाथ से पानी में पत्थर डालते है तो वह डूब जाता है। मतलब भी यही है। जिसको राम छोड़े उसे डूब जाना तय है। क्योंकि राम से बड़ा राम का नाम होता है। उन्होंने कहा कि भोलेनाथ से निराला कोई नहीं। हरि और हर में कोई भेद नहीं। दोनों एक दूसरे का सम्मान करते है। इसलिए भक्तों को भी शिव और राम में भेद नहीं करना चाहिए।

परमात्मा को व्यक्त करें कृतज्ञता : महाराज जी

महाराज जी ने कहा कि कृतज्ञता का भाव और धन्यवाद का भाव हमेशा हृदय में रखें और परमात्मा को इस जीवन के लिए कृतज्ञता व्यक्त करें। आज की कथा में श्रीराम सेना का समुंद्र के रास्ते अयोध्या पहुंचना, मेघनाथ और कुंभकरण वध, रावण वध, विभीषण का लंकापति प्रसंग और पुष्पक विमान से प्रभु श्रीराम- लक्ष्मण और माता सीता सहित अयोध्या आगमन कथा सुनायी गई। अयोध्या में उत्सव का माहौल था।

विदाई में मिले वस्त्र

मदर शैडो स्कूल के निदेशक अंजनी कुमार ने समिति को कहा कि यदि निर्धन छात्र विद्यालय में पढ़ने के लिए भेजा जाएगा। उनसे शुल्क नहीं लिया जाएगा। आयोजन समिति की ओर से महाराज श्री शीतल कृष्ण जी और सभी संगीतज्ञ को विदाई स्वरूप वस्त्र प्रदान किए गए। कार्यक्रम में मिंकू कुमार, दिलीप झा, लालबाबू साह, सोनू शाही, मुन्ना प्रसाद, आग्नेय कुमार, सुरेश प्रभु आदि मौजूद थे।

X
Sitamarhi News - impact of material goods is the cause of sorrow acharya
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना