• Hindi News
  • Rajya
  • Bihar
  • Sitamarhi
  • shivahar News in the year 2014 15 only the instructions for establishment of agricultural machinery bank but not yet open from departmental negligence

2014-15 में ही कृषि यंत्र बैंक स्थापित करने का अाया निर्देश, पर विभागीय लापरवाही से अबतक नहीं खुला

Sitamarhi News - जिले में सिंचाई की समस्या और महंगे खाद बीज से किसान परेशान हैं। दिन-रात मेहनत करने के बावजूद किसान फटेहाल जीवन...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:26 AM IST
shivahar News - in the year 2014 15 only the instructions for establishment of agricultural machinery bank but not yet open from departmental negligence
जिले में सिंचाई की समस्या और महंगे खाद बीज से किसान परेशान हैं। दिन-रात मेहनत करने के बावजूद किसान फटेहाल जीवन जीने को विवश है। खेती के लिए संसाधन की कमी है। अनुदान का लाभ नहीं मिल पा रहा है। वहीं बहुत से किसान योजनाओं की जानकारी से वंचित है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत कृषि यांत्रिकीकरण योजना जिले में धरातल पर उतरती नहीं दिख रही है। जबकि वर्ष 2014-15 में ही सरकार द्वारा विभाग को जिले में कृषि यंत्र बैंक स्थापित करने का निर्देश दिया गया था। इसके बावजूद अब तक जिले में कृषि यंत्र बैंक नहीं खुल सका है। इससे विभाग की कार्यप्रणाली पर उंगली उठती नजर आ रही है। किसान आर्थिक लाचारी के कारण कृषि यंत्र नहीं खरीद पाते हैं। इसके लिए केन्द्र सरकार ने कमजोर किसानों को मजबूत बनाने, आधुनिक खेती को बढ़ावा देने एवं उपजाऊ भूमि पर अधिकतम उत्पादन हासिल करने के कृषि यंत्र बैंक स्थापित करने की योजना बनायी थी। यहां से सस्ते किराये पर आवश्यकता अनुसार ट्रैक्टर, हार्वेस्टर, पंपसेट, रोटावेटर, ब्रशकटर, स्टेशनरी इंजन चालित चैफकटर, एमबीप्लाउ, लेवलर, फ्रुटप्लकर, पोस्टहोलडीगर, वरहैरो एवं जानवरों को भगाने वाला बिजली चालित वायोएकोस्टिक उपकरण सोलर पैनल के साथ आदि कृषि यंत्र सहजता से उपलब्ध होने है। लेकिन कृषि यंत्र बैंक खोलने की इस दिशा में न ताे आज तक कोई ठोस पहल नहीं किया गया और न ही विभाग द्वारा प्रचार-प्रसार कर किसानों को उचित जानकारी दी गयी।

कहते हैं किसान : सरकारी योजनाओं का नहीं होता प्रचार प्रसार

मथुरापुर के किसान वीरेंद्र सिंह का कहना है कि योजनाओं की जानकारी मिलती ही नहीं। सरकारी योजना का लाभ मिलना तो दूर की बात है। क्षेत्र में जायजा लेने आज तक कृषि विभाग का कोई कर्मी भी नहीं आया। कोठियां गांव निवासी किसान ब्रजमोहन साह ने बताया कि योजना और अनुदान का लाभ अधिकारी अपने चहेते को देते हैं। गरीब व सामान्य किसान तो कृषि योजना और मिलने वाले लाभ को जानते भी नहीं, यहां जो भी खेती हो रही है किसान को अपने दम पर करनी पड़ती है। बसहिया के किसान प्रमोद कुमार ने कहा कि सरकार की योजनाओं का ठीक ढंग से प्रचार नहीं किया जाता है। इस कारण योजनाओं की जानकारी सभी किसान को नहीं मिल पाती है। इसलिए किसान योजना का लाभ नहीं ले पाते हैं और उनकी हालत दयनीय रह जाती है।

कहते हैं अधिकारी : बैंक खोले जाने की दिशा में आवेदन नहीं दिया

जिला कृषि पदाधिकारी विष्णुदेव कुमार रंजन ने कहा कि किसानों के ग्रुप में कृषि यंत्र बैंक खोलना है। बैंक में 71 प्रकार का कृषि यंत्र रखा जाना है। लेकिन इस दिशा में एक भी किसान आवेदन नहीं दिया है। अगर आवेदन मिलता है तो आगे की कार्रवाई के लिए शीघ्र ही विभाग को भेजा जाएगा।

X
shivahar News - in the year 2014 15 only the instructions for establishment of agricultural machinery bank but not yet open from departmental negligence
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना