• Hindi News
  • Bihar
  • Sitamarhi
  • Nanpur News principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat

प्रावि पेठिया रोड में 11 बजे पहुुंचीं प्रधान शिक्षिका, घंटी बजाते हुए बोलीं-यहां बच्चे सिर्फ खाने के लिए आते हैं

Sitamarhi News - जिले के स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था का हाल बुरा है। कहीं शिक्षक लेट से पहुंच रहे हैं, तो कहीं एमडीएम के संचालन में...

Feb 15, 2020, 09:00 AM IST
Nanpur News - principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat

जिले के स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था का हाल बुरा है। कहीं शिक्षक लेट से पहुंच रहे हैं, तो कहीं एमडीएम के संचालन में अनियमितता बरती जा रही है। जिले के अलग-अलग क्षेत्र के स्कूलों में पड़ताल करने पर साफ तौर पर कुव्यवस्था सामने अाई। नगर स्थित प्राथमिक विद्यालय पेठिया रोड में भास्कर टीम जब पड़ताल करने सुबह के 9:30 बजे पहुंची तो इस स्कूल में ताला लगा था। दो चार बच्चे स्कूल के बाहर खेल रहे थे। सुबह के 11 बजे प्रधान शिक्षिका शकुंतला पहुंची और स्कूल गेट का ताला खोला। स्कूल खोलते ही पहले घंटी बजाई। पूछे जाने पर घंटी बजाते हुए बोली-इस स्कूल में बच्चे सिर्फ खाना खाने के लिए आते है। 3 फरवरी से ही रसोईया के विवाद में एमडीएम बंद है, तो बच्चों की उपस्थिति कैसे होगी। शुक्रवार को बच्चों को फल अथवा अंडा देना था। स्कूल में न तो फल लाया गया था आैर न ही अंडा। भास्कर टीम को देखते हुए प्रधानाध्यापिका ने पूर्व से खड़ी एक रसोईया चंदा देवी को इशारा किया। इशारा मिलते ही रसोईया बच्चे को बुलाने चली गई। करीब 15 मिनट बाद चार बच्चों को लेकर स्कूल पहुंची। अब 11:30 बज चुके थे। अब तक मात्र 21 बच्चे उपस्थित हुए। न तो किसी की हाजिरी बनी थी और न ही भोजन बनना ही शुरू हुआ था। जबकि दोनों रसोइयां स्कूल में थी। प्रधानाध्यापिका ने बताया कि एक शिक्षिका अवकाश पर है तो एक शिक्षक बीआरसी पर प्रतिनियोजित है।

मवि बेला शांति कुटीर में शिक्षक अखबार पढ़ने और मोबाइल चलाने में ही व्यस्त थे

नानपुर | सुबह के 10:50 बजे मध्य विद्यालय बेला शांति कुटीर में शुक्रवार को एक शिक्षक अखबार पढ़ने में मगन थे तो दूसरे मोबाइल पर व्यस्त थे। कहने को 12 शिक्षक पदस्थापित हैं। लेकिन, मात्र तीन शिक्षक उपस्थित मिले। प्रधानाध्यापक अजय ठाकुर विद्यालय में नहीं थे। स्कूल में नामांकित 702 बच्चों में 111 की हाजिरी बनाई गई थी जबकि मात्र 92 बच्चे उपस्थित मिले। शारीरिक शिक्षक फेंकू चौधरी ने बताया कि शिक्षिका सीमा व शैलेन्द्र पासवान इंटर की परीक्षा में प्रतिनियुक्त हैं। संगीता कुमारी विशेषावकाश में, भरत प्रसाद चिकित्सकीय अवकाश में तो सादिक रजा दूसरे विद्यालय में प्रतिनियोजित हैं। 8वीं की नूतन कुमारी, अमृता कुमारी, मनीषा कुमारी आदि ने बताया कि शिक्षक पढ़ाने नहीं आते हैं।

प्रावि भरवारी में प्रधान शिक्षक ही थे गायब, अन्य धूप का ले रहे थे आनंद

बेलसंड | सुबह के 11:30 बजे प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय भरवारी खुला था। 10-12 बच्चे स्कूल के बाहर खेल रहे थे। दो शिक्षक धूप में बैठकर आपस में बात कर रहे थे। इन शिक्षकों ने कहा-स्कूल में 96 बच्चे नामांकित है। प्रधान शिक्षक दिनेश कुमार नहीं आए हैं। हम दो सहायक शिक्षक मंजीत कुमार व देवेन्द्र पासवान ही स्कूल में है। अपराह्न के 1:30 बज रहे थे। पुन: भास्कर टीम स्कूल पहुंची। मिड डे मिल का खाना पक रहा था। उपस्थित शिक्षक ने बताया कि प्रधान शिक्षक नहीं हैं, इसलिए रसोइया के पास जो मौजूद है, वह पका रही है। बताया कि चावल और आलू-चने की सब्जी बन रहे है। जबकि मेन्यू में चावल, चने के छोले, सलाद व अंडा देना था।

घंटी बजने के बाद धीरे-धीरे आने लगे बच्चे, शिक्षिका ने कहा-12 दिनों से बंद है एमडीएम तो कैसे अाएंगे बच्चे; विद्यालय में समय से न तो बच्चाें की हाजिरी ही बनती है अाैर न ही बनता है एमडीएम

बेलसंड में बरामदे पर खेलते बच्चे।

चापाकल पर बैठकर खेलते बच्चे।

घंटी बजाती प्राचार्य।

Nanpur News - principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat
Nanpur News - principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat
X
Nanpur News - principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat
Nanpur News - principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat
Nanpur News - principal teacher arrived in pravi pethia road at 11 am said to ring the bell here children come only to eat
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना