• Home
  • Bihar News
  • Siwan
  • Siwan - सरकार अब किसानों को देगी 80 पैसे यूनिट की दर से बिजली
--Advertisement--

सरकार अब किसानों को देगी 80 पैसे यूनिट की दर से बिजली

जिले के किसानों को कृषि कार्य के लिए बिजली विभाग द्वारा 80 पैसे प्रति यूनिट दर से बिजली बिल लेगी। सरकार के निर्देश...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:36 AM IST
जिले के किसानों को कृषि कार्य के लिए बिजली विभाग द्वारा 80 पैसे प्रति यूनिट दर से बिजली बिल लेगी। सरकार के निर्देश पर दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत डेढ़ माह के अंदर जिले के 12 हजार किसानों को चिह्नित कर उनके खेतों तक सिचाई के लिए बिजली पहुंचाने का कार्य योजना तैयार कर ली है। इसकी बिजली सप्लाई व्यवस्था भी खास होगी, कृषि कार्य में विद्युत आपूर्ति के लिए अलग फीडर का निर्माण किया गया है। इसके साथ ही कृषकों को प्रत्येक निजी नलकूपों पर 25 किलोवाट का एक-एक ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा। किसानोंं को निर्बाध रूप से बिजली मिल सके। इसके लिए घरेलू बिजली आपूर्ति व्यवस्था से इसे अलग रखा गया है। इसके बारे में विद्युत विभाग के कार्यपालक अभियंता अजय कुमार साहा ने बताया कि सरकार के निर्देश पर कृषि कार्य के लिए 80 पैसे यूनिट के दर से किसानों को बिजली दी जाएगी।

सिंचाई के लिए किसानों के खेतों में लगेगा ट्रांसफॉर्मर : अजय कुमार साहा

विद्युत विभाग का ऑफिस।

सिंचाई के लिए सस्ती दरों पर कनेक्शन मिलेगा

सिंचाई के लिए की जाने वाली नई व्यवस्था में विद्युत विभाग व राज्य सरकार के सहयोग से योजना का लाभ जिले के किसानों को मिलेगा। वहीं जल्द ही जिले के किसानों की खेतों की सिचाई के लिए सस्ती दरों पर बिजली कनेक्शन देकर किसानों की सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत जिले के 12 हजार किसानों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया। जिले में सिंचाई के वैकल्पिक साधनों को व्यवस्थित करने के लिए किसानों को अब बिजली की कमी नहीं होगी। विद्युत विभाग ने इसके लिए बड़ी परियोजना का डीपीआर की तैयारी कर लिया है।

क्या है जिले में सिंचाई व्यवस्था की स्थिति

जिले के सभी 19 प्रखंडों में किसान को खेतों सिचाई के लिए वर्तमान में 289 नलकूप मौजूद हैं। विभाग द्वारा सभी नलकूपों का निजीकरण किया जा रहा है। जिले के कुछ प्रखंडों में नहर से भी सिंचाई की व्यवस्था की गई है लेकिन हमेशा पानी नहीं रहने से किसानों को खेती करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

400 आवेदन मिले