Hindi News »Bihar »Siwan» Beaten With Rod Of Iron

बच्चों के सामने ही पिता की लाठी-डंडे व लोहे की रॉड से पीट-पीटकर ले ली जान

दर्जनों लोगों के बीच सिर पर लाठी-डंडे, हॉकी तथा लोहे की रॉड से मारकर उसकी हत्या कर दी।

Bhaskar News Network | Last Modified - May 08, 2018, 02:50 AM IST

बच्चों के सामने ही पिता की लाठी-डंडे व लोहे की रॉड से पीट-पीटकर ले ली जान
बिहार। एमएचनगर थानाक्षेत्र के हसनपुरा में रविवार संध्या बच्चों की बात को लेकर उत्पन्न विवाद में जालिमों ने दूसरे पक्ष के मुखिया को देर रात घर से बाहर बुलाया और दर्जनों लोगों के बीच सिर पर लाठी-डंडे, हॉकी तथा लोहे की रॉड से मारकर उसकी हत्या कर दी। मृतक की पहचान मैनेजर महतो के रूप में हुई है। इस हमले का घर के लोगों ने व परिजनों ने विरोध किया तो हमलावरों ने तीन मासूम बच्चों सहित परिवार के कुल 9 लोगों को मारपीट कर घायल कर दिया। इस घटना के बाद से पूरे गांव में कोहराम मच गया। हत्या बाद जहां घर के बच्चे व सदस्य बिलखते रहे वहीं आरोपी रक्त रंजित मैनेजर महतो को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। गंभीर रूप से घायल बच्चों में मृतक की 13 वर्षीय मंजू व भतीजा 12 वर्षीय ऋषि व अमरजीत (10) शामिल हैं।

दिहाड़ी मजदूरी कर था परिवार का भरण-पोषण
मैनेजर महतो अपने परिवार का इकलौता कमाऊ व्यक्ति था। जो दैनिक मजदूरी कर परिवार की परवरिश करता था। मृतक के एक 6 वर्षीय पुत्र सूरज सहित 5 पुत्रियां हैं। पूनम और नीलम की शादी हो चुकी है। जबकि शीलम कुमारी (15), मंजू कुमारी (13) व रंभा कुमारी (8) अविवाहित हैं।

क्या है मामला

विरोध करने पर हमलावरों ने 3 मासूम सहित 9 लोगों को हाॅकी, डंडा व रॉड से पीटा
रविवार शाम करीब 7 बजे मैनेजर महतो तथा वीरेंद्र महतो के घर के बच्चों में किसी बात को लेकर कहा-सुनी हुई। पड़ोसियों द्वारा बीच-बचाव कर व समझा-बुझा कर मामला शांत कराया गया। तभी रात्रि करीब 8 बजे वीरेंद्र महतो, शिवनाथ महतो, सुरेंद्र महतो, केश्वर महतो, अच्छेलाल महतो, राजकुमार महतो, नागेंद्र महतो, जयप्रकाश महतो तथा ओमप्रकाश महतो लाठी-डंडे, हॉकी तथा लोहे के रॉड से लैस हो मैनेजर महतो के दरवाजे पर पहुंचे। घर में रात का खाना खा रहे मैनेजर महतो को बाहर बुलाया और उसको रॉड, हॉकी और डंडे से मारने पिटने लगे। मैनेजर के सिर पर चोट लगी और वो वहीं जमीन पर गिर गया। हो-हल्ला सुन घर मे खाना खा रहे कन्हैया महतो (60), सनइया महतो(25), ऋषि कुमार (12), अमरजीत कुमार (10) तथा मंजू कुमारी (13)पहुंचे और बीच-बचाव करने लगे। हमलावरों ने उन्हें भी मारपीट कर घायल कर दिया। सभी घायलों का इलाज स्थानीय पीएचसी में कराया गया। वही गंभीर रूप से घायल मैनेजर महतो को चिकित्सकों ने सीवान रेफर कर दिया। सीवान-सदर अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा स्थिति की गंभीरता को देखते हुये पटना रेफर कर दिया, जिसके पटना ले जाने के दौरान रास्ते में मौत हो गई।



शव को पुलिस सुरक्षा में भेजा पोस्टमार्टम के लिए सीवान
थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने पंचनामा कर शव को पुलिस अभिरक्षा में पोस्टमार्टम के लिए सीवान सदर अस्पताल भेज दिया। वहीं अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। सीवान से पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही शव हसनपुरा पहुंचा। पत्नी कृष्ण मालती, पुत्री शीलम, मंजू तथा रंभा के करुण चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया। पड़ोस की बड़ी-बूढ़ी महिलाएं कभी कृष्ण मालती तो कभी मृतक के पुत्रियों को संभालने और सांत्वना देने में लगी हैं और विधाता तथा सुजनी को कोस रही हैं।


एएसपी ने मौके पर पहुंच कर ली मामले की जानकारी
मौत की खबर सुन एएसपी कांतेश कुमार मिश्रा रविवार रात करीब 11 बजे थाने पर पहुंच मामले की जानकारी ली। इसके बाद पूरे दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और थानाप्रभारी पंकज कुमार सहित अधीनस्थ कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मृतक मैनेजर महतो की प|ी कृष्ण मालती देवी के बयान पर वीरेंद्र महतो, शिवनाथ महतो, सुरेंद्र महतो सहित 9 लोगों पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Siwan

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×