Hindi News »Bihar »Siwan» महाराजगंज-मशरक रेल लाइन बनकर तैयार महीने के तीसरे हफ्ते में उद्घाटन की संभावना

महाराजगंज-मशरक रेल लाइन बनकर तैयार महीने के तीसरे हफ्ते में उद्घाटन की संभावना

महाराजगंज-मशरक रेल लाइन का सीआरएस के निरीक्षण की अंतिम रिपोर्ट विभाग में पेश कर दी गई है। इस रिपोर्ट में इस लाइन को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 03, 2018, 05:20 AM IST

  • महाराजगंज-मशरक रेल लाइन बनकर तैयार महीने के तीसरे हफ्ते में उद्घाटन की संभावना
    +1और स्लाइड देखें
    महाराजगंज-मशरक रेल लाइन का सीआरएस के निरीक्षण की अंतिम रिपोर्ट विभाग में पेश कर दी गई है। इस रिपोर्ट में इस लाइन को ट्रेन चलाने लायक तैयार बताया गया है। वाराणसी रेल मंडल के पीआरओ अशोक कुमार ने बताया कि इस रेलखंड पर जल्द ट्रेनें चलाई जाएगी। अभी इसके उद्घाटन की तिथि तय नहीं हुई है। तय होने के साथ ही उद्घाटन की तैयारी भी शुरू कर दी जाएगी। ऐसी संभावना है कि अगस्त माह के तीसरे सप्ताह में इस रेल लाइन का उद्घाटन हो सकेगा। इसके लिए अगले सप्ताह ट्रेन का इंजन या पैसेंजर ट्रेन चलाकर रेलवे ट्रैक की क्षमता का पूरी तरह से आंकलन होगा। हालांकि सीआरएस ने अपने निरीक्षण के दौरान सैलून चलाकर स्पीड की जांच भी कर चुके हैं। इसमें पाया गया है कि इस पर ट्रेन चलाई जा सकती है। इधर रेल सेवा शुरू होने के साथ ही 15 साल से रेल लाइन निर्माण का सपना पूरा हो जाएगा और महाराजगंज क्षेत्र के लोग अब सीधे देश के अन्य स्टेशनों से भी रेल लाइन से जुड़ जाएंगे। वे अब महाराजगंज से ही मशरक होकर छपरा व हाजीपुर भी जा सकते हैं। साथ ही वह से थावे रेलखंड पर भी यात्रा कर सकेंगे। अभी तक महाराजगंज के लोगों को सीवान होकर रेल लाइन की यात्रा करनी पड़ती है।

    महाराजगंज क्षेत्र के लोग अब सीधे देश के अन्य स्टेशनों से भी रेल लाइन से जुड़ जाएंगे

    बसंतपुर का नगौली हाल्ट।

    साल से लोग कर रहे थे ट्रेन सेवा की मांग

    5 स्थानों पर बनाया गया हाल्ट

    महाराजगंज-मशरक रेलखंड पर 5 स्थानों पर हाल्ट बनाया गया है। ताकि इस रेलखंड पर चलने वाली पैसेंजर ट्रेन से इन हाल्ट पर यात्री उतर सके और वहरां से सवार हो सके। वहीं पर ट्रेनों का ठहराव किया जाएगा। हालांकि हाल्ट पर अभी बुनियादी सुविधाएं नहीं हैं। जहां पर हाल्ट बनाया गया है, उसमें बसंतपुर का नगौली शामिल है। इसके अलावा विशुनपुर महुआरी, सरहरी, बड़कागांव, बसंतपुर का नगौली व सागर सुलतनपुर शामिल है। यहां के लोग आसानी से अब ट्रेन की सुविधा ले सकेंगे। वहीं इसी रेलखंड में मशरक से रेवा घाट तक भी रेल लाइन निर्माण प्रस्तावित है। इसकी भी दूरी 36 किलोमीटर होगी। इस तरह इस जिले के लोग आने वाले दिनों में रेवा घाट तक की यात्रा कर सकेंगे।

    साल पहले जमीन विवाद में निर्माण कार्य हो गया था बंद

    36 किलोमीटर है नई रेल लाइन

    महाराजगंज से मशरक के बीच रेलवे लाइन की दूरी 36 किलोमीटर है। इस रेल लाइन के चालू होने से यात्री छपरा से मशरक होते हुए महाराजगंज ट्रेन से ही यात्रा कर सकेंगे। वहीं मशरक जाने वालों को छपरा जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यात्री सीवान से महाराजगंज होते हुए मशरक चले जाएंगे। वहीं छपरा-सीवान रेलखंड पर रेलवे ट्रैक में अचानक आई गड़बड़ी के बाद भी रेल परिचालन प्रभावित नहीं होगा। इस रूट से भी ट्रेनों का परिचालन होने लगेगा।

    5 स्थानों पर बनाया गया हाल्ट

    छपरा या हाजीपुर जाने के लिए महाराजगंज क्षेत्र के लोग बस या अन्य साधनों से ही जाते हैं। पीआरओ ने बताया कि जिस दिन इस रेलखंड का उद्घाटन होगा। उसके अगले दिन से पैसेंजर ट्रेन चलने लगेगी। अभी ट्रेन चलाने के लिए रूट का भी निर्धारण नहीं किया गया है। लेकिन संभावना है कि जो भी पैसेंजर ट्रेन चलाई जाएगी। उसे सीवान, मशरक, थाने व छपरा को जोड़ने की कोशिश होगी। ताकि महाराजगंज से इन स्थानों के लिए लाेग यात्रा कर सके।

    क्या कहते हैं पीआरओ

    महाराजगंज-मशरक रेल लाइन का उद‌्घाटन जल्द होगा। इसकी तिथि अभी तय नहीं की गई है। रेलवे ट्रैक पर स्पीड क्षमता की निरीक्षण रिपोर्ट में सभी समान्य है। इसलिए अब उद्घाटन होना बाकी है। अशोक कुमार, पीआरओ, वाराणसी रेल मंडल, वाराणसी

    प्रखंडों के लोग सीधी रेल सेवा से जुड़ेंगे कई स्टेशन

  • महाराजगंज-मशरक रेल लाइन बनकर तैयार महीने के तीसरे हफ्ते में उद्घाटन की संभावना
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Siwan

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×