Hindi News »Bihar »Siwan» राम मंदिर नहीं बना तो सत्ता में बैठे सांसद भुगतेंगे खामियाजा

राम मंदिर नहीं बना तो सत्ता में बैठे सांसद भुगतेंगे खामियाजा

भगवानपुर में लोगों के साथ अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के डॉ. प्रवीण तोगड़िया। सिटी रिपोर्टर | बसंतपुर ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 08, 2018, 05:20 AM IST

राम मंदिर नहीं बना तो सत्ता में बैठे सांसद भुगतेंगे खामियाजा
भगवानपुर में लोगों के साथ अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के डॉ. प्रवीण तोगड़िया।

सिटी रिपोर्टर | बसंतपुर

हिंदूवादी नेता प्रवीण तोगड़िया ने विश्व हिंदू परिषद से अलग होने के बाद सत्ता में बेठे भाजपा सांसदों के लिए मुश्किलें खड़ी करना शुरू कर दिया है। मंगलवार को सीवान के भगवानपुर में पहुंचे अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के संस्थापक डॉ. प्रवीण तोगड़िया ने मलमलिया चौक पर प्रेसवार्ता में कहा कि केन्द्र में सत्ता में बैठी सरकार को हर हाल में राम मंदिर बनवाने के लिए कानून बनाना ही होगा। चार साल बीतने के बाद अब लोगों के भी सब्र का बांध टूट रहा है। अगर राम मंदिर नहीं बना तो, सत्ता में बैठे भाजपा के सांसद इसका खामियाजा भुगतेंगे। एक सवाल के जवाब में हिंदूवादी नेता प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो सत्ता में बैठे लोगों को देश की जनता अगले पांच साल के लिए राम मंदिर की सेवा करने में लगाएगी। प्रवीण तोगड़िया गोपालगंज जिले के हथुआ जाने के क्रम में मलमलिया के मनीष सिंह के आवास पर रुके थे। फायर ब्रांड नेता ने कहा कि जनता से किए वादे को हर हाल में निभाना ही होगा। आज सत्ता पक्ष के लोग इस स्थिति में हैं कि वे बहुमत नहीं होने का बहाना भी नहीं बना सकते। अगर सरकार चाहे तो निश्चित रूप से कानून बना राम मंदिर बनवा सकती है। जनता अब किसी भी झांसे में नहीं आने वाली। अगर इस कार्यकाल में सरकार मंदिर नहीं बनवा सकी तो अगले चुनाव में उसे इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। अवसर पर मनीष सिंह, अर्जुन कुमार सिंह, मनोज कुमार, चंदन कुमार, विनोद कुमार, तुषार कुमार, मुकेश सिंह, अनिल बाबा, हरिशंकर सिंह, राजू कुमार आदि मौजूद थे।

मिलने के लिए उमड़ी भीड़

उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के संस्थापक डॉ.प्रवीण तोगड़िया व पीएम मोदी कभी गहरे दोस्त थे। बताते हैं कि एक वक्त ऐसा भी था जब पीएम मोदी और तोगड़िया गहरे दोस्त हुआ करते थे और दोनों एक ही स्कूटर से आरएसएस कार्यकर्ताओं से मिलने जाया करते थे। मंगलवार को जब उनके भगवानपुर में मौजूद होने की सूचना कार्यकर्ताओं को मिली, उनसे मिलने व हाथ मिलाने के लिए होड़ सी लग गई। कुछ पल के लिए मलमिलया चौराहा पर गजब की भीड़ उमड़ पड़ी थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Siwan

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×