--Advertisement--

कृष्ण मुरारी पाण्डेय| सीवान :

मैरवा

Dainik Bhaskar

Jul 28, 2018, 05:25 AM IST
कृष्ण मुरारी पाण्डेय| सीवान :
मैरवा

कृष्ण मुरारी पाण्डेय| सीवान :

समय पर विद्यालय भवन नहीं बनाने और पैसा निकाल लिए जाने के मामले को लेकर एक तरफ जहां डीएम और डीपीओ सर्वशिक्षा अभियान गंभीर है, वहीं दूसरी ओर विभागीय अधिकारियों के आदेश का खुलेआम उल्लंघन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कर रहे हैं। अधूरे भवन निर्माण मामले में 122 दोषी शिक्षकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश विभाग द्वारा नवम्बर 2017 में ही निर्गत किए जा चुके हैं। लेकिन प्रखंडों में उसका अनुपालन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी नहीं कर रहे हैं और दोषी शिक्षकों को बचाने में पूरी तरह से लगे हैं। इतना ही नहीं आरोप है कि वो कनीय अभियंताओं के विरुद्ध भी दोषी शिक्षकों को भड़का रहे हैं कि सारी कार्रवाई कनीय अभियंताओं के कारण ही हो रही है। कनीय अभियंताओं का आरोप है दोषी शिक्षकों को बचाने में प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारियों द्वारा लाखों का लेनदेन हो रहा है और आदेश के अनुपालन के विरुद्ध विभाग को गुमराह करने का काम किया जा रहा है।

जिले में सरकारी स्कूलों में अधूरे भवन निर्माण का हाल

स्कूल नहीं बनवाने वाले 122 एचएम पर आठ माह बाद भी एफआईआर नहीं

कनीय अभियंताओं का आरोप

इनपर केस के लिए विभाग ने जारी किए थे आदेश

01. प्रभारी प्रधान शिक्षक बृज किशोर पाण्डेय, नया प्राथमिक विद्यालय हहवा पश्चिम टोला, महाराजगंज

02. प्रधानाध्यापक शारदानंद प्रसाद, उत्क्रमित मध्य विद्यालय शाहपुर महाराजगंज

03. प्रधानाध्यापक मंजूर हुसैन, राजकीय प्राथमिक विद्यालय मकतत कोहरौता, हसनपुरा

04. पूर्व प्रभारी प्रधान शिक्षक प्रमोद कुमार गिरि, प्राथमिक विद्यालय गेहुआं गोरेयाकोठी

05. वर्तमान प्रभारी प्रधान शिक्षक प्रभाशंकर, नया प्राथमिक विद्यालय हरख तिवारी के टोला वाजितपुर, गोरेयाकोठी

06. पूर्व प्रभारी प्रधानाध्यापिका अवधेश कुमार राम, नया प्राथमिक विद्यालय शेखपुरा एससी टोला गोरेयाकोठी

07. पूर्व प्रधान शिक्षक ललन सिंह, नया प्राथमिक विद्यालय विनटोला गभिरार, रघुनाथपुर

दोषियों को बचा रहे अधिकारी, बीईओ नहीं दर्ज करा रहे एफआईआर

तत्कालीन डीएम ने जांच के बाद शुरू की थी कार्रवाई

कई स्कूलों के प्रधानाध्यापकों, स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष व सचिव ने भवन निर्माण और अन्य कार्यों के लिए विभाग से मिली पूरी राशि की निकासी तो कर ली लेकिन न तो काम पूरे किए और न ही राशि सरेंडर की। पिछले पांच सालों के दौरान विभिन्न निर्माणों के लिए स्कूलों को करोड़ों रुपए जिला शिक्षा विभाग की ओर से प्रदान किए गए। तत्कालीन डीएम महेन्द्र कुमार ने कई गड़बड़ियां पाईं थीं।

मध्य विद्यालय बखरी का 2007 से ही अधूरा पड़ा है भवन

सिसवन| सिसवन प्रखण्ड का राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय बखरी का भवन 2007 से अधूरा पड़ा है। यहां एनआरईपी योजना के अन्तर्गत 2 कमरे निर्मित होने थे, दो कमरे यहां बने भी लेकिन बीते 10 सालों में इन निर्माणाधीन कमरों का न तो प्लास्टर व फीनिंसिंग हो सका और न ही कमरों में दरवाजे व खिड़कियां ही लग सकी। सांसद मद से अनुशंसित इस विद्यालय के अर्द्ध निर्मित कमरों के निर्माण कराने वाले संवेदक कौन हैं और किसकी देखरेख में इसका काम काज चला इसका भी पता विद्यालय के प्रबंधन को नहीं है।

संवेदक कौन है, मुझे जानकारी नहीं


पटना, शनिवार 28 जुलाई , 2018 सावन कृष्ण पक्ष-प्रतिपदा, 2075

इन एचएम पर भी हो चुके हैं एफआईआर के आदेश

डीपीओ सर्व शिक्षा अभियान द्वारा निर्गत पत्र के आलोक में आंदर प्रखण्ड के मध्य विद्यालय भिटौली और उत्क्रमित मध्य विद्यालय कटवार, भगवानपुरहाट प्रखण्ड के नया प्राथमिक विद्यालय विठुना राजपुत टोला, प्राथमिक विद्यालय गोपालपुर और मध्य विद्यालय अरुआ कन्या, गोरेयाकोठी प्रखण्ड के प्राथमिक विद्यालय गोरेयाकोठी , रघुनाथपुर प्रखण्ड के नया प्राथमिक विद्यालय बिनटोला गभिरार के एचएम के लिए 11 नवंबर,2017 को प्राथमिकी के आदेश निकल चुके हैं। आंदर के मध्य विद्यालय भिटौली के एचएम पर भी प्राथमिकी दर्ज करायी गई है।

अभी कार्रवाई स्थगित रखी गई है


12 राज्य | 66 संस्करण

15

X
कृष्ण मुरारी पाण्डेय| सीवान :
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..