• Hindi News
  • Bihar News
  • Siwan
  • कैदी वार्ड में दो साल से लगा है ताला, जेनरल वार्ड में होता है जेल के बंदियों का इलाज, परेशान हैं मरीज
--Advertisement--

कैदी वार्ड में दो साल से लगा है ताला, जेनरल वार्ड में होता है जेल के बंदियों का इलाज, परेशान हैं मरीज

अगर आप सदर अस्पताल के जेनरल वार्ड में अपने मरीज भर्ती कराते हैं तो ये खबर आपके होश उड़ाने के लिए काफी है। सीवान सदर...

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 05:30 AM IST
कैदी वार्ड में दो साल से लगा है ताला, जेनरल वार्ड में होता है जेल के बंदियों का इलाज, परेशान हैं मरीज
अगर आप सदर अस्पताल के जेनरल वार्ड में अपने मरीज भर्ती कराते हैं तो ये खबर आपके होश उड़ाने के लिए काफी है। सीवान सदर अस्पताल का बंदी वार्ड में पिछले दो साल से ताला लग चुका है और सीवान जेल से आने वाले कुख्यात व गंभीर विचाराधीन बंदियों को जेनरल वार्ड में ही आम मरीजों के साथ भर्ती कर दिया जाता है। कुख्यातों का पुलिस की निगरानी में सदर अस्पताल के जेनरल वार्ड में कई-कई दिन तक इलाज चलता है और उनके परिजनों की भीड़ भी वहीं मौजूद रहती है। विभाग की इस व्यवस्था से जेनरल वार्ड में भर्ती सामान्य मरीजों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

जनरल वार्ड में इलाज कराता कैदी।

कैदी कर रहे थी वार्ड का दुरुपयोग


अभी भी 8 कुख्यातों का जेनरल वार्ड में चल रहा है इलाज

अभी की स्थिति यह है कि सदर अस्‍पताल के जनरल वार्ड में जेल से आए भारत कुमार सहित अन्य 8 मरीजों का इलाज पुलिस अभिरक्षा में पिछले कई दिनों से चल रहा है। अस्पताल में भर्ती अन्य मरीजों के साथ ही इनकी इलाज करने से मरीजों को काफी असुविधा होती है और उनके जान को भी खतरा रहता है। क्योंकि उनके पास के बेड पर इलाज करा रहा मरीज कोई आम मरीज नहीं होता, वह एक कुख्यात अपराधी होता है, या जेल में बिताने वाले विचाराधीन, सजायाफ्ता बंदी भी होता है। जिसका व्यवहार आम लोगों के तरह नहीं होता।

क्या कहते हैं अधिकारी


X
कैदी वार्ड में दो साल से लगा है ताला, जेनरल वार्ड में होता है जेल के बंदियों का इलाज, परेशान हैं मरीज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..