• Home
  • Bihar News
  • Siwan
  • शहर में 8 जलमीनार, किसी भी घर में कनेक्शन नहीं
--Advertisement--

शहर में 8 जलमीनार, किसी भी घर में कनेक्शन नहीं

शहर में करोड़ों रुपए की लागत से बने 8 जलमीनार लोगों के लिए अनुपयोगी साबित हो रहे हैं। इन जलमीनारों से एक भी घर में...

Danik Bhaskar | Jul 30, 2018, 05:35 AM IST
शहर में करोड़ों रुपए की लागत से बने 8 जलमीनार लोगों के लिए अनुपयोगी साबित हो रहे हैं। इन जलमीनारों से एक भी घर में पानी सप्लाई के लिए कनेक्शन नहीं दिया गया है। हालांकि कई स्थानों पर तो पानी सप्लाई के लिए पाइप लगाया गया है। लेकिन वह भी पाइप व नल टूटने लगे हैं। इसलिए हर घर नल-जल योजना फेल नजर आ रहा है। शहर के लोगों का कहना है कि इस योजना पर सरकार भले ही करोड़ों रुपए खर्च कर दे, लेकिन इसका लाभ किसी को नहीं मिल रहा है। शहर मालवीय चौक के पास, लक्ष्मीपुर, पशु अस्पताल व श्रीनगर में नया जलमीनार बनकर 2014 में तैयार हुआ। पीएचईडी विभाग ने इसमें से 7 को सीवान नगर परिषद को हैंडओवर भी कर दिया। लेकिन इससे आज तक पानी की सप्लाई नहीं की गई। एक जलमीनार खराब है। प्रत्येक जलमीनार के निर्माण पर लगभग 1 करोड़ रुपए खर्च किए गए। लेकिन इसे चालू नहीं किया गया। इधर मामले में भ्रष्टाचार मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्येन्द्र कुशवाहा ने पीएचडीई के कार्यपालक अभियंता से 17 नवम्बर 2017 को जानकारी मांगी थी। इस पर कार्यपालक अभियंता ने 10 नवम्बर को यह जानकारी दी थी कि शहर में सात जलमीनार हैं। इसे 10 नवम्बर 2014 को ही नगर परिषद काे हैंडओवर कर दिया गया है। इसके बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष ने डीएम को तीन बार पत्र लिखकर जलमीनार को चालू कराने का अनुरोध किया। लेकिन इसे आजतक चालू नहीं कराया जा सका। अंतिम बार पत्र डीएम को 11 जुलाई को भी दी गई है।

बबुनिया रोड स्थित बेकार पड़ा जलमीनार।

आंकड़ों पर एक नजर

01 करोड़ रुपए प्रत्येक जलमीनार के निर्माण पर हुई थी खर्च

03 जलमीनार है शहर में 10 साल पुराना

04 नए जलमीनार भी बना अनुपयोगी

बबुनिया मोड़ का जलमीनार खराब

शहर के बबुनिया रोड स्थित उर्दू मिडिल स्कूल के पास जलमीनार लगभग 10 साल से खराब पड़ा है। लेकिन इसे ठीक नहीं कराया जा रहा है। इस जलमीनार का बोरिंग ही खराब हो गया है। यहां पर नया बोरिंग लगाना पड़ेगा। इसके बाद ही इसे चालू किया जा सकेगा। 10 साल पहले इस जलमीनार से शहर के लहेरा टोली, मखदुम सराय, शेख मोहल्ला, पुरानी किला, एमएम कॉलोनी समेत अन्य कई मोहल्ले में लोगों के घरों तक पानी की सप्लाई होती थी। अभी भी लोगों के घरों में पानी सप्लाई वाली पाइप लगी हुई है। लेकिन इसके खराब होने की वजह से पानी की सप्लाई नहीं हो रही है। जबकि अन्य पुराने जलमीनार चालू हालत में तो हैं। लेकिन इससे किसी भी घर में पानी की सप्लाई नहीं हो रही है।