Hindi News »Bihar »Siwan» बार के 18 सौ वकीलों के बैठने की नहीं है जगह

बार के 18 सौ वकीलों के बैठने की नहीं है जगह

कानून के जानकार अधिवक्ता अदालत में न्याय दिलाते हैं, लेकिन अपने ही क्षेत्र में लगातार उपेक्षा का शिकार हैं। सीवान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 04, 2018, 05:35 AM IST

बार के 18 सौ वकीलों के बैठने की नहीं है जगह
कानून के जानकार अधिवक्ता अदालत में न्याय दिलाते हैं, लेकिन अपने ही क्षेत्र में लगातार उपेक्षा का शिकार हैं। सीवान में स्थिति यह है कि दूसरे को न्याय दिलाने वाले अधिवक्ताओं को खुद बैठने के लिए जगह तक नसीब नहीं है। जिला बार एसोसिएशन में 18 सौ से ज्यादा वकील मौजूद हैं। लेकिन बैठने के लिए किसी को चेंबर नहीं है। बार एसोसिएशन भवन की कमी से वकील पेड़ के नीचे या बांस के खंभे पर रखे शेड के नीचे बैठते हैं। अधिवक्ताओं की स्थिति ठंड, गर्मी और बरसात के दिनों में तो बहुत ही दयनीय हो जाती है।

बारिश के दिनों में सबसे बुरा हाल

सबसे बुरा हाल बारिश के दिनों में होता है। अधिवक्ता अपने झोपड़ीनुमा बने चैम्बर में छिपने को मजबूर हो जाते हैं। इन्हें कोर्ट जाने के लिए कीचड़ और परिसर में लगे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। थोड़ी देर की बारिश होने पर कोर्ट परिसर में जलजमाव हो जाता है। बांस के खंभे पर रखे शेड से पानी टपकते हैं तो पैर रखने की जगह में पानी भर जाता है। वकीलों के कागजात तक भीग जाते हैँ जिससे परेशानियों का सामना करना पड़ता है। नोटरी पब्लिक अवधेश कुमार ने बताया कि बार एसोसिएशन के पास जमीन न होने अधिवक्ताओं को न्यायालय परिसर में ही बैठना पड़ता है। जिससे बाहर से आने वाले लोगों और अधिवक्ताओं को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वहीं सिसवन से केस की तारीख पर आये रमेश कुमार ने बताया कि बारिश होने के बाद वकील के शेड से निकलने में गिरने का खतरा रहता है लेकिन कोर्ट में काम होने पर किसी तरह जाना पड़ता है।

जमीन की कमी के कारण भवन का निर्माण नहीं हो पा रहा

वकीलों द्वारा बनाए गए शेड में जल-जमाव।

काउंसिल के पास मात्र दो छोटे भवन उपलब्ध

बार काउंसिल में 18 सौ से ज्यादा वकीलों का नामांकन है, और काउंसिल के पास मात्र दो छोटे भवन उपलब्ध हैं जिसमें मात्र 250 से 300 वकीलों का चेंबर बना हुआ है। बाकी वकीलों को न्यायालय परिसर में को पेड़ के नीचे या अपनी शेड रख कर काम करते हैं। उन्होंने बताया कि बार-बार उच्च न्यायालय के नीरक्षी जज से एसोसिएशन के सदस्यों को बैठने के लिए जमीन अलॉट करने के लिए आग्रह किया गया है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। ठाकुर ज्वाला प्रसाद, पूर्व सेक्रेट्री एवं बार काउंसिल के सदस्य

जल्द ही कोई विकल्प निकाला जाएगा

वकीलों के बैठने को लेकर बहुत बड़ी समस्या बनी हुई है। एसोसिएशन के पास मात्र 9 कट्‌ठा जमीन ही उपलब्ध है और जमीन की कमी के चलते भवन का निर्माण नहीं हो पा रहा है। बार एसोसिएशन के वकीलों के बैठने के लिए सिविल कोर्ट परिसर में ही भवन निर्माण कराने को लेकर प्रयास चल रहा है। हाई कोर्ट के जज रवि रंजन से इसको लेकर बात हुई है। जल्द ही कोई विकल्प निकाला जाएगा। शंभूदत्त शुक्ला, बार काउंसिल के अध्यक्ष

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Siwan

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×