• Hindi News
  • Bihar News
  • Siwan
  • 85 फीसदी खेतों में हुई रोपनी, एक हफ्ते में हो जाएगी पूरी
--Advertisement--

85 फीसदी खेतों में हुई रोपनी, एक हफ्ते में हो जाएगी पूरी

एक सप्ताह में धान की रोपनी पूरी हो जाएगी। जिस तरह जिले में झमाझम बारिश हो रही है और किसानों ने जिस गति से रोपनी कर...

Dainik Bhaskar

Aug 04, 2018, 05:35 AM IST
85 फीसदी खेतों में हुई रोपनी, एक हफ्ते में हो जाएगी पूरी
एक सप्ताह में धान की रोपनी पूरी हो जाएगी। जिस तरह जिले में झमाझम बारिश हो रही है और किसानों ने जिस गति से रोपनी कर रहे हैं। इससे उम्मीद है कि 14 अगस्त तक धान की रोपनी हर हाल में पूरी हो जाएगी। अभी तक जिले में धान की रोपनी किसानों ने 85 फीसदी पूरी कर ली है। इस साल 98 हजार हेक्टेयर में धान की रोपनी करने का लक्ष्य रखा गया है। जुलाई के मध्य में जिस तरह किसानों ने रोपनी बंद कर दी थी। इससे लग रहा था कि इस साल रोपनी 50 फीसदी भी पूरी नहीं हो पाएगी। साथ ही सुखाड़ होने की भी संभावना जताई जाने लगी थी। लेकिन 21 जुलाई से जिले में इस तरह झमाझम बारिश हो रही है कि किसानों को पानी की अब चिंता नहीं सता रही है। भले ही जुलाई माह में भी अौसत से कम बारिश हुई थी। फिर भी अंतिम समय में ज्यादा बारिश होने से धान की रोपनी आसान हो गई। जुलाई माह में अौसत से 40 फीसदी बारिश कम हुई थी। हालांकि अगस्त माह में भी शुरुआती दौर ठीक नहीं रहा। एक व दो जुलाई को कम बारिश हुई। लेकिन 3 अगस्त को झमाझम बारिश हुई है। तीन दिनों के अंदर जिले में 29.9 एमएम बारिश हुई है।

मौसम

इस साल 98 हजार हेक्टेयर में धान की रोपनी करने का लक्ष्य रखा गया था, जुलाई में 40 फीसदी कम हुई थी बारिश

जिले में धान की रोपनी करती महिलाएं।

अगस्त माह में भी अच्छी बारिश हो रही है। धान की रोपनी एक सप्ताह में पूरी हो जाएगी। अब महज 15 फीसदी ही रोपनी बाकी है। अशोक कुमार राव, जिला कृषि पदाधिकारी, सीवान

29.9 एमएम बारिश हुई अगस्त माह में जिले में

25. 2 एमएम बारिश हुई 3 अगस्त को

254.9 एमएम बारिश की जरूरत है अगस्त माह में

153.6 एमएम बारिश हुई रघुनाथपुर प्रखंड में

इस माह भी अच्छी बारिश की उम्मीद

जिस तरह तीन दिनों में बारिश हुई है। इससे लगता है कि इस माह में भी अच्छी बारिश होगी। इससे किसानों के चेहरे खिल गए हैं और वे बिना पानी खरीदे ही धान की रोपनी कर रहे हैं। इस साल भले ही धान की रोपनी लेट हो गई है। फिर भी किसानों को उम्मीद है कि अच्छी पैदावार होगी। धान की रोपनी का उत्तम समय 10 जुलाई तक ही माना जाता है। लेकिन बारिश के अभाव में उस समय तक रोपनी नहीं हुई थी। बिचड़ा भी गिराने का काम प्रभावित हुआ था।

X
85 फीसदी खेतों में हुई रोपनी, एक हफ्ते में हो जाएगी पूरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..