Home | Bihar | Siwan | 15 ईंट-भट्ठा मालिकों पर केस दर्ज 38 चिमनी से नहीं निकलेगा धुआं

15 ईंट-भट्ठा मालिकों पर केस दर्ज 38 चिमनी से नहीं निकलेगा धुआं

ईंट-भट्ठा मालिकों और चिमनियों पर होगी कार्रवाई। सिटी रिपोर्टर | सीवान सीवान जिले में अवैध रूप से संचालित 15 ईंट...

Bhaskar News Network| Last Modified - Jul 25, 2018, 05:45 AM IST

15 ईंट-भट्ठा मालिकों पर केस दर्ज 38 चिमनी से नहीं निकलेगा धुआं
15 ईंट-भट्ठा मालिकों पर केस दर्ज 38 चिमनी से नहीं निकलेगा धुआं
ईंट-भट्ठा मालिकों और चिमनियों पर होगी कार्रवाई।

सिटी रिपोर्टर | सीवान

सीवान जिले में अवैध रूप से संचालित 15 ईंट भट्ठादारों के विरुद्ध खनन विभाग द्वारा विभिन्न थानों में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। खनन निरीक्षक सह सक्षम पदाधिकारी सीता शरण ने इन अवैध रूप से संचालित 15 ईंट भट्ठा मालिकों पर एफआईआर दर्ज कराई है। उनका कहना है कि सत्र 2017-18 में बिना खनन राजस्व जमा किए तथा बिना पर्यावरण और बिना प्रदूषण के अनापत्ति प्रमाणपत्र एवं सहमति पत्र के ईंट भट्टा संचालित पाया गया है, जो बिहार लघु खनिज नियम का उल्लंघन है । इनके खिलाफ अवैध ईंट निर्माणकर्ता के विरुद्ध बिहार लघु खनिज समनुदान नियमावली 1972 के नियम 26 क, 28,4 के उल्लंघन के तहत धारा 379 के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी गई है। अन्य 38 पर भी प्राथमिकी दर्ज कराने की तैयारी चल रही है। जिले में मौजूद लगभग 200 ईंट भट्ठों में इस वर्ष मात्र 161 संचालकों द्वारा ही संचालन शुल्क जमा किया गया है।

गिरफ्तारी व कुर्की होगी

खनन विभाग के नियमानुसार ईंट भट्ठा संचालकों द्वारा प्रतिवर्ष शुल्क के रूप में 74 हजार पांच सौ रुपए जमा करने का प्रावधान है। संचालकों द्वारा राशि ना जमा कराए जाने की स्थिति में विभाग द्वारा जुर्माने के साथ राशि वसूल की जानी है। राशि जल्द नहीं जमा कराया गया तो गिरफ्तारी व कुर्की होगी।

इन ईंट-भट्‌ठा मालिकों पर दर्ज हुई है प्राथमिकी | विभाग ने जिले के एकेएस ईंट उद्योग रसूलपुर, सन ईंट उद्योग कइलगढ़, एकेआरबी ईंट उद्योग कइलगढ़, एचआरबी ईंट उद्योग बड़हरिया, विकास ईंट उद्योग गोरेयाकेठी, एसएसबी ईंट उद्योग शादीपुर, नम्बर वन ईंट उद्योग बंसुही, अलियादिद ईंट उद्योग मदारपुर आदि हैं।

अन्य संचालकों पर भी जल्द कार्रवाई

कई बार विभाग द्वारा नोटिस देने के बाद भी संचालकों द्वारा संचालन शुल्क जमा न करने के बाद एफआईआर की कार्रवाई की जा रही है। शुल्क जमा न करने वाले अन्य संचालकों पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी। सीता शरण, खनन निरीक्षक सह सक्षम पदाधिकारी

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now