Hindi News »Bihar »Siwan» 58 हजार किसानों को देना था ऋण, 4000 के आवेदन स्वीकृत

58 हजार किसानों को देना था ऋण, 4000 के आवेदन स्वीकृत

किसानों को उनकी ऋण की आवश्यकताओं (कृषि संबंधी खर्चों ) की पूर्ति के लिए पर्याप्‍त एवं समय पर ऋण की सुविधा प्रदान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 12, 2018, 05:45 AM IST

58 हजार किसानों को देना था ऋण, 4000 के आवेदन स्वीकृत
किसानों को उनकी ऋण की आवश्यकताओं (कृषि संबंधी खर्चों ) की पूर्ति के लिए पर्याप्‍त एवं समय पर ऋण की सुविधा प्रदान करना साथ ही आकस्मिक खर्चों के अलावा सहायक कार्यकलापों से संबंधित खर्चौ की पूर्ति करने को लेकर यह ऋण सुविधा एक सरलीकृत कार्यविधि के माध्‍यम से आवश्यकता आधार पर प्रदान की जाती है। लेकिन सीवान में इसे पूरी तरह से जटिल बना दिया गया है। स्थिति यह है कि जिले के सभी प्रखंडों में 16 अगस्त को किसान क्रेडिट कार्ड शिविर का आयोजन किया जाना हैं। इसके लिए जिला कृषि पदाधिकारी के निर्देश पर सभी किसान सलाहकारों और कृषि समन्वयकों को प्रत्येक पंचायत से 200 नये किसानों का कृषि ऋण के लिए आवेदन लेने का लक्ष्य दिया गया था। यानि की पूरे जिला से कुल 58 हजार किसानों से कृषि ऋण लेने के आवेदन लेने के लिए किसान सलाहकार और कृषि समन्वयक को लक्ष्य दिया गया था। लेकिन पूरे जिले से कुल 58 हजार की जगह 4 हजार किसानों ने ही कृषि ऋण के लिए आवेदन दिया है।

16 अगस्त को होना है किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण

जिला कृषि कार्यालय।

58 हजार 600 किसानों को ऋण देने का है लक्ष्य | प्रत्येक पंचायत में 200 नए किसानों के ऋण हेतु आवेदन लेने का लक्ष्य दिया गया था। 293 पंचायतों में यह लक्ष्य दिया गया है। 58 हजार 600 किसानों को सरकार की इस योजना का लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

इन कारणों से कम किसानों ने दिया आवेदन

कई किसानों ने ऋण के लिए कई बार आवेदन दिया लेकिन उन्हें ऋण नहीं मिला।

ऋण के लिए आवेदन के लिए एफिडेविट के साथ कई जगहाें पर किसानों का पैसा खर्च होना

ऋण के लिए बैंक की हार्ड प्रोसेस

बैंकोंं की मनमानी करना, बैंको द्वारा सेलेक्टेड किसानों के बीच ही ऋण का वितरण करना

कम मात्रा में ऋण के लिए आवेदन सिलेक्ट होना।

समस्या से मिलेगा तुरंत निजात | 16 अगस्त को लगने वाले किसान क्रेडिट शिविर में आवेदन करने वाले किसानों के जमीन से संबंधित किसी भी समस्या के लिए सीओ उपस्थित रहेंगे। जो किसानों को होनेवाली समस्याओं से निजात दिलाने में सहयोग करेंगे।

चुने हुए किसानों का ही हो रहा है आवेदन स्वीकृत

जिला कृषि पदाधिकारी ने किसानों के कम आवेदन मिलने के बारे में बताया कि बैंक की मनमानी, बैंकों द्वारा सेलेक्टेड किसानों को ही ऋण देना, पिछली बार भी अप्लाई किये किसानों को ऋण नहीं मिलना और हर बार ऋण के लिए अप्लाई करने में पैसा खर्च होना प्रमुख कारण हैं जिससे किसान इस बार कम संख्या में ऋण के लिए आवेदन दिया हैं। 16 अगस्त को होने वाले शिविर से पहले और अधिक किसानों के ऋण के लिए आवेदन लिये जायेंगे। वही 16 अगस्त को होने वाले शिविर में प्रत्येक प्रखण्ड के किसानों के कृषि ऋण से संबंधित आवेदन लिये जायेंगे और ऑन द स्पाॅट किसानों के आवेदन को स्वीकृत भी किया जायेगा।

क्या कहते हैं कृषि पदाधिकारी

16 अगस्त को प्रत्येक प्रखण्ड में किसान क्रैडिट शिविर का आयोजन किया गया हैं। इसके लिए प्रत्येक पंचायत से 200 किसानों से आवेदन लेने का लक्ष्य रखा गया हैं। लेकिन ऋण लेने के लिए बहुत कम किसानों का आवेदन प्राप्त हुआ हैं। इसका कारण हैं कि बैंक की कठिन प्रोसेस, किसानों का ज्यादा खर्च कर आवेदन देने के बाद भी कई बार आवेदन बैंक द्वारा सिलेक्ट नहीं हो पाता हैं। अभी समय हैं किसानों को और अधिक संख्या में ऋण के लिए आवेदन लिये जाएंगे। अशोक कुमार राव, जिला कृषि पदाधिकारी, सीवान

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Siwan

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×