• Home
  • Bihar News
  • Siwan
  • कहां गई 20 स्कूलों में शौचालय योजना की राशि, बार-बार नोटिस के बाद भी एचएम नहीं दे रहे हिसाब
--Advertisement--

कहां गई 20 स्कूलों में शौचालय योजना की राशि, बार-बार नोटिस के बाद भी एचएम नहीं दे रहे हिसाब

जिले के सिसवन प्रखंड के 20 स्कूलों के हेडमास्टर विभागीय आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं। साथ ही शौचालय निर्माण योजना के...

Danik Bhaskar | Aug 12, 2018, 05:45 AM IST
जिले के सिसवन प्रखंड के 20 स्कूलों के हेडमास्टर विभागीय आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं। साथ ही शौचालय निर्माण योजना के तहत दी गई राशि का हिसाब नहीं दे रहे हैं। निर्माण के मद में मिली राशि का आखिर क्या किया गया। शौचालय बना या नहीं। नहीं बना तो क्यों और राशि क्या नहीं लौटाई गई। विभागीय आदेश का जवाब क्यों नहीं दिया जा रहा है। इस मामले को बीईओ गुलाम सरवर ने गंभीरता से लिया है और कहा है आदेश का पालन नहीं करना खेदजनक है। इसलिए सभी हेडमास्टरों को निर्देश दिया है कि 13 अगस्त तक हर हाल में जवाब दें। बीईओ ने शनिवार को निर्देश जारी किया है। इसमें कहा है कि स्वच्छ विद्यालय, स्वच्छ भारत योजना अंतर्गत शौचालय निर्माण के लिए विद्यालयों को राशि निर्गत की गई थी। जिस राशि का समायोजन आज तक नहीं कराया गया है। जबकि पूर्व में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सर्व शिक्षा अभियान ने नेटिस जारी कर चुके है।

इन स्कूलों के हेडमास्टरों पर शो कॉज

बीईओ गुलाम सरवर ने प्रखंड के 20 हेडमास्टरों पर शो कॉज किया है। इसमें नया प्राथमिक विद्यालय बंगरे की बारी, नया प्राथमिक विद्यालय भैरव के टोला,नया प्राथमिक विद्यालय बिशुनपुरा, नया प्राथमिक विद्यालय कठतल, नया प्राथमिक विद्यालय दक्षिण टोला नोनिया पट्टी, नया प्राथमिक विद्यालय सरहरा, प्राइमरी स्कूल मकतब भागर, प्राइमरी स्कूल मकतब भीखपुर, प्राइमरी स्कूल मकतब ग्यासपुर, प्राइमरी स्कूल भरवलिया, प्राइमरी स्कूल महानगर, प्राइमरी स्कूल शुभंकर छपरा डीह, प्राइमरी स्कूल सुवहीं, प्रामइरी स्कूल ट्रेनवा, प्राइमरी स्कूल गोला बाजार चैनपुर, प्राइमरी स्कूल अर्जनीपुर, उत्क्रमित मिडिल स्कूल इजरा चांदपुर, उत्क्रमित मिडिल स्कूल उर्दू नया गांव,नया प्राथमिक विद्यालय शेख टोला चांदपुर, मिडिल स्कूल उर्दू अलीनगर शामिल है।

सिटी रिपोर्टर| सीवान

जिले के सिसवन प्रखंड के 20 स्कूलों के हेडमास्टर विभागीय आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं। साथ ही शौचालय निर्माण योजना के तहत दी गई राशि का हिसाब नहीं दे रहे हैं। निर्माण के मद में मिली राशि का आखिर क्या किया गया। शौचालय बना या नहीं। नहीं बना तो क्यों और राशि क्या नहीं लौटाई गई। विभागीय आदेश का जवाब क्यों नहीं दिया जा रहा है। इस मामले को बीईओ गुलाम सरवर ने गंभीरता से लिया है और कहा है आदेश का पालन नहीं करना खेदजनक है। इसलिए सभी हेडमास्टरों को निर्देश दिया है कि 13 अगस्त तक हर हाल में जवाब दें। बीईओ ने शनिवार को निर्देश जारी किया है। इसमें कहा है कि स्वच्छ विद्यालय, स्वच्छ भारत योजना अंतर्गत शौचालय निर्माण के लिए विद्यालयों को राशि निर्गत की गई थी। जिस राशि का समायोजन आज तक नहीं कराया गया है। जबकि पूर्व में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सर्व शिक्षा अभियान ने नेटिस जारी कर चुके है।