सीवान

  • Home
  • Bihar News
  • Siwan
  • Siwan - सीवान स्टेशन पर कपड़े से घेरकर बनाया गया ओट और महिला पुलिसकर्मियों ने कराया प्रसव
--Advertisement--

सीवान स्टेशन पर कपड़े से घेरकर बनाया गया ओट और महिला पुलिसकर्मियों ने कराया प्रसव

सीवान स्टेशन पर एक प्रसव पीड़िता को जब दर्द होने लगा तो वह जीआरपी के महिला पुलिसकर्मियों से मदद मांगी। महिला...

Danik Bhaskar

Sep 11, 2018, 05:15 AM IST
सीवान स्टेशन पर एक प्रसव पीड़िता को जब दर्द होने लगा तो वह जीआरपी के महिला पुलिसकर्मियों से मदद मांगी। महिला पुलिसकर्मियों व महिला सफाई कर्मचारियों ने प्लेटफॉर्म पर ही कपड़े से घेरकर प्रसव कक्ष बनाया। महिलाओं ने उसे सहयोग किया। इसी दौरान महिला ने बच्ची को जन्म दिया। बच्ची की किलकारी सुनते ही महिला सफाई कर्मी गीत भी गाने लगी। हालांकि प्रसव होने की संभावना पर आरपीएफ ने रेलवे के डॉक्टर को भी बुला लिया था। लेकिन डॉक्टर के बिना ही बच्ची की जन्म हो गई।

अस्पताल में चल रहा है जच्चा व बच्चे का इलाज।

अस्पताल भेजा

आरपीएफ व जीआरपी ने एंबुलेंस बुलाकर महिला को सदर अस्पताल भेजवाया। जहां दोनों का इलाज चल रहा है। दोनों स्वस्थ हंै। आरपीएफ के इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह ने परिजनों को इसकी सूचना दे दी है।


जाम में फंसी बस, प्रसव पीड़ा हाेने पर मायके जा रही महिला ने नवजात को दिया जन्म

सिटी रिपोर्टर| दरौली

भारत बन्द के दौरान जाम में फंसी महिला का प्रसव बस में ही कराना पड़ा। प्रसव में महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया। प्रसव इतना नॉर्मल हुआ कि बच्चा हो जाने के बाद अगल बगल के लोगों को इसकी जानकारी हुई। महिला कृष्णपाली पंचायत के लहरपुरा गांव निवासी 28 वर्षिय राबड़ी देवी है। जिसकी शादी मैरवा के बभनौली गांव के संजय राम से हुई है। संजय राम बभनौली में लेबर का काम करते हैं। प्रसव के लिए महिला राबड़ी देवी अपने चार साल की बेटी के साथ अपने मायके जा रही थी।

नवजात के साथ महिला।

भारत बंद के दौरान बस देरी से मिली तथा मैरवा से दरौली आ रही गोविन्द रथ में महिला सवार थी। बस जाम में फंसी थी तभी महिला को दर्द हुआ और प्रसव हो गया। बस को अस्पताल गेट पर लाकर नर्स को बुलाया गया। प्रसव रूम में ले जा कर प्रक्रिया की गई। प्रमुख के पति बच्चा प्रसाद, मुखिया लाल बहादुर, सरपंच राजेन्द्र यादव ने अस्पताल पहुंचा हालचाल जाना।

बाद में ले गए अस्पताल

Click to listen..