पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पांच प्रखंडों के 27455 बाढ़ पीड़ितों के खाते में भेजी राशि

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
14 जुलाई को कोसी की बाढ़ में बेघर हुए परिवारों का सर्वेक्षण कराकर पीड़ित परिवार के खाते में सरकार द्वारा 6000 रुपये भेजने का काम शुरू है। सुपौल जिले में बाढ़ प्रभावित परिवारों को सर्वेक्षण कर सूची अनुसार कुल 6000 रुपये प्रति परिवार राहत राशि डीबीटी (डायरेक्ट बेनीफीट ट्रांसफर) के माध्यम से लाभुकों के खाते में भेजी जा रही है।

किसनपुर प्रखंड में 4800, मरौना में 9725, निर्मली में 5355, सरायगढ़-भपटियाही में 1868 एवं सुपौल प्रखंड में 5707 परिवारों के खाते में 16 करोड़ 47 लाख 30 हजार रुपये भेजी गई है। शेष परिवारों का सर्वेक्षण हो रहा है, सर्वेक्षण पूरा होने के बाद पीड़ित परिवारों के खाते में राशि भेज दी जाएगी। बाढ़ में डूबने से 4 लोगों की हुई मौत के बाद जिला प्रशासन द्वारा मृतक के परिजनों को चेक से अनुग्रह अनुदान राशि दी गई। जानकारी के अनुसार मृतकों सतीश कुमार (12), पंचायत-हरड़ी, मो. अबदुल्ला (17), पंचायत-घोघड़रिया, बोकु मुखिया (55) पंचायत-ललमनियां एवं लखन कामत (55) बलवा में से तीन मृतकों के परिजनों को अनुग्रह अनुदान राशि चार लाख रुपये चेक के माध्यम से दिया गया है। बचे हुए एक परिवार को जल्द ही चेक के माध्यम से राशि दी जाएगी।

मरौना प्रखंड में 9725 परिवारों के बीच 5 करोड़ 83 लाख 50 हजार रुपये का वितरण किया गया। जबकि सबसे कम सरायगढ़- भपटियाही 1868 परिवारों के बीच 1 करोड़ 12 लाख 8 हजार रुपये का वितरण किया गया। सुपौल में 5707 परिवारों के बीच 3 करोड़ 42 लाख 42 हजार, किसनपुर प्रखंड में 4800 परिवारों के बीच 2 करोड़ 88 लाख एवं निर्मली प्रखंड में 5355 परिवारों के बीच 3 करोड़ 21 लाख 30 हजार रुपये का वितरण किया गया है।

खबरें और भी हैं...