पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Supaul News Knowledge Of The Quality Of Generic Medicine Through Video Conferencing

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जेनेरिक दवा की गुणवत्ता की मिली जानकारी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सदर अस्पताल परिसर स्थित प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र परिसर में संचालक विजय झा के नेतृत्व में शनिवार को दूसरा जन औषधि दिवस मनाया गया। दूसरे जन औषधि दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जेनेरिक दवा की महत्ता व गुणवत्ता के बारे में लाभार्थियों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई।

जन औषधि केंद्र सुपौल के संचालक श्री झा ने बताया कि गरीबों को मिलने वाली सुविधा व देश के विभिन्न भागों में वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान लाभार्थी और जन औषधि संचालकों से बात की गई है। बताया गया कि देश में 6000 जन औषधि केंद्र है। इसमें बिहार में ही 450 केंद्र संचालित है। जहां 600 से अधिक तरह की दवाइयां बाजार से 50 से 90% तक सस्ती दर पर उपलब्ध है। कैंसर जैसे बीमारी की दवा बाजार में 6500 रुपये की कीमत पर उपलब्ध है। लेकिन जन औषधि केंद्र में महज 850 रुपये की कीमत पर ये दवाएं मिल रही है। हेल्‍थकेयर की कीमत में कमी आई है। संचालक श्री झा ने प्रधानमंत्री के संवाद को सुनने के बाद लाभार्थियों को बताया कि जन औषधि केंद्र परिसर में अच्छी रेंज में दवाएं उपलब्ध है। इसके अलावा एडल्ट डायपर व बेबी डायपर सहित जन औषधि पोषण एवं जन औषधि जननी भी कम कीमत पर उपलब्ध है। उन्होंने मरीज व उनके परिजनों से भी जन औषधि केंद्र में दवा खरीदने की अपील की। कार्यक्रम को सफल बनाने में कृष्ण देव कुमार, श्रवण कुमार, प्रशांत कुमार प्रियदर्शी, सुमित कुमार आदि का सराहनीय योगदान रहा। मौके पर केंद्र परिसर में मुख्य अतिथि के रूप में सदर अस्पताल के उपाधीक्षक अरुण कुमार वर्मा, औषधि निरीक्षक नवीन कुमार, सुबोध कुमार, विनोदानंद यादव, विंदेश्वरी यादव सहित अन्य मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...