शिक्षा व शिक्षक विरोधी नीति पर राज्य सरकार : पंकज

Supaul News - नियमित शिक्षकों की भांति समान कार्य के बदले समान वेतनमान, राज्यकर्मी का दर्जा, पुरानी पेंशन योजना, 65 वर्ष सेवा...

Feb 15, 2020, 10:10 AM IST
Triveniganj News - state government on education and anti teacher policy pankaj

नियमित शिक्षकों की भांति समान कार्य के बदले समान वेतनमान, राज्यकर्मी का दर्जा, पुरानी पेंशन योजना, 65 वर्ष सेवा अवधि करने, पुरानी अनुकंपा नीति लागू करने आदि मांगों को लेकर 17 फरवरी से बिहार के 75 हजार विद्यालयों में तालाबंदी की जाएगी। साथ ही मैट्रिक परीक्षा, बीएलओ कार्य, जनगणना सहित अन्य कार्यों का बहिष्कार कर सूबे के 5 लाख नियोजित शिक्षक हड़ताल पर जाएंगे। यह बातें शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति की बैठक में पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह ने शनिवार को कही। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षा और शिक्षक विरोधी नीति पर काम कर रही है। समिति सरकार को लगातार अपनी मांगों से अवगत कराती रही है। लेकिन सरकार शिक्षकों को डराने का प्रयास कर रही है। जबकि सरकार चाहती तो यह हड़ताल टल सकता था।

उन्होंने कहा कि सरकार और उसके अधिकारी किसी तरह के मुगालते में न रहें कि शिक्षक आंदोलन को कुचल दिया जाएगा। अगर मैट्रिक परीक्षा बहिष्कार करने वाले शिक्षकों पर किसी तरह की कार्रवाई हुई तो पूरे सूबे में उग्र आंदोलन किया जाएगा। हड़ताल के समर्थन में 15 फरवरी को सभी प्रखंड मुख्यालयों में मशाल जुलूस निकाला जाएगा। बैठक की अध्यक्षता कर रहे समिति के त्रिवेणीगंज प्रखंड संयोजक सुशील कुमार सुमन ने कहा कि हड़ताल को लेकर प्रखंड क्षेत्र के सभी शिक्षक संकल्पित हैं। मौके पर प्रखंड अध्यक्ष गजेंद्र कुमार, भूपेंद्र यादव, जयकिशोर रजक, रजाऊर रहमान, कृष्ण मुरारी अग्रवाल, अरुण आर्य, पिंकू दास, मिथलेश कुमार, संजीव कुमार, महेश कुमार, गोरी शंकर कुमार, शशि प्रभा, राजेश गुप्ता, अखिलेश बहादुर, सुजीत कुमार, कुमारी पुष्पा, संजीव पासवान, भवेश मालाका आदि थे।

त्रिवेणीगंज में बैठक के बाद नारेबाजी करते नियोजित शिक्षक।

X
Triveniganj News - state government on education and anti teacher policy pankaj

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना