• Hindi News
  • Bihar
  • Supaul
  • Supaul News the crowd increased in ijtima the nepal government kept the border sealed for 20 hours 20 thousand people stuck in indian territory

इज्तिमा में बढ़ी भीड़ तो नेपाल सरकार ने 20 घंटे तक सील रखा बॉर्डर, भारतीय क्षेत्र में फंसे रहे 20 हजार लोग

Supaul News - गृह मंत्रालय, नेपाल सरकार के अादेश पर गुरुवार की शाम 4 बजे से शुक्रवार की शाम 5 बजे तक सुपौल जिले के कुनौली व भीमनगर...

Feb 15, 2020, 10:05 AM IST
Supaul News - the crowd increased in ijtima the nepal government kept the border sealed for 20 hours 20 thousand people stuck in indian territory

गृह मंत्रालय, नेपाल सरकार के अादेश पर गुरुवार की शाम 4 बजे से शुक्रवार की शाम 5 बजे तक सुपौल जिले के कुनौली व भीमनगर बाजार से सटे नेपाल सीमा सील रही। इस कारण नेपाल बॉर्डर से सटे भीमनगर व कुनौली थाना क्षेत्र की सड़क पर गाड़ियां खड़ी रही।

सुपौल जिले के सीमावर्ती कुनौली बॉर्डर से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर अवस्थित नेपाल के सप्तरी जिला स्थित बोधे वरसाइन के जांजर गांव में 15 से 17 फरवरी तक तीन दिवसीय आलमी तब्लीगी इज्तिमा में जाने के लिए तकरीबन 20 हजार से अधिक लोग भारतीय प्रभाग में ही फंसे रहे। दरअसल बिहार के विभिन्न जगहों से मुस्लिम वर्ग के लोग कार्यक्रम में शामिल होने के लिए नेपाल जाना चाह रहे थे। लेकिन भारतीय प्रभाग से नेपाल सीमा में नेपाल पुलिस के द्वारा लोगों को शाम पांच बजे तक रोक रखा गया था। हालांकि नेपाल सरकार के गृह मंत्रालय से पत्र आने के बाद कुनौली के समीप नेपाल प्रभाग में नेपाल पुलिस के द्वारा लोगों को शाम 5.30 बजे के बाद पैदल जाने की अनुमति दी गई। वहीं, भीमनगर के पास नेपाल बॉर्डर पर तैनात पुलिस बलों के द्वारा शाम 5 बजे से जांचोपरांत लोगों को जाने दिया गया।

भारतीय प्रभाग से नेपाल जाने वाले लोगों की सघन जांच जारी


आलमी तब्लीगी इज्तिम आज से, 50 हजार की मिली थी अनुमति गुरुवार तक पहुंच गए एक लाख लोग

भीड़ को देख नेपाल प्रशासन ने बढ़ाई सुरक्षा, दंगा निरोधी दस्ता किए तैनात, सीमा पर भी चौकसी

बताया जा रहा है कि जांजर गांव में कार्यक्रम की तैयारी छह माह पहले से चल रही है। 5 किमी लंबी व 3 किमी चौड़ी में इज्तिमागाह बने हैं। जबकि लगभग 20 किमी में लोगों के लिए रहने, खाने व पार्किंग की व्यवस्था की गई है। नेपाल सरकार ने कार्यक्रम में 50 हजार लोगों को शामिल होने की अनुमति दी थी। लेकिन कार्यक्रम शुरू होने से एक दिन पहले ही वहां एक लाख से अधिक लोग पहुंच गए। इस कारण नेपाल प्रशासन द्वारा वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दंगा निरोधी दस्ता की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। जबकि सीमा पर अतिरिक्त पुलिस बल को रखा गया है।

मौलाना व आमलोग कार्यक्रम में होंगे शामिल, भारत, सऊदी अरब, बांग्लादेश, चीन आदि से पहुंच रहे लोग

दोपहर करीब 11.30 बजे निर्मली प्रखंड के मझारी चौक के पास एनएच-57 पर कार्यक्रम स्थल तक पहुंचने वाले लोगों के लिए पंडाल का निर्माण किया गया था। जहां तकरीबन आधा दर्जन से अधिक लोग कार्यक्रम स्थल की ओर जाने के लिए रास्ता दिखाने का काम कर रहे थे। मरौना प्रखंड के सिसौनी पंचायत के पूर्व मुखिया सरफराज आलम ने बताया कि मौलाना व आमलोग तीन दिवसीय आलमी तब्लीगी इज्तिमा में भाग लेंगे। पाकिस्तान को छोड़कर नेपाल, सऊदी अरब, बांग्लादेश, चीन सहित विभिन्न देश से मुस्लिम वर्ग के लोग शामिल होंगे। मुस्लिम धर्म गुरुओं के संयुक्त नेतृत्व में जांजर में आयोजन हो रहा है। भारत से नेपाल बॉर्डर पार करने के लिए लोग रुके हैं। नेपाल प्रभाग में जाने नहीं दिया जा रहा है।

इंडो-नेपाल सीमा पर एसएसबी अधिकारियों से जानकारी प्राप्त करते वीरपुर एसडीएम।

भीमनगर में इंडो-नेपाल बॉर्डर पर वाहनों की लंबी कतार व सीमा खुलने का इंतजार करते लोग।

Supaul News - the crowd increased in ijtima the nepal government kept the border sealed for 20 hours 20 thousand people stuck in indian territory
X
Supaul News - the crowd increased in ijtima the nepal government kept the border sealed for 20 hours 20 thousand people stuck in indian territory
Supaul News - the crowd increased in ijtima the nepal government kept the border sealed for 20 hours 20 thousand people stuck in indian territory

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना