वेणु श्रीनिवासन / जापान के डेमिंग पुरस्कार से सम्मानित हो चुके हैं श्रीनिवासन, यह सम्मान पाने वाली पहली कंपनी थी टीवीएस



Venu Srinivasan has been awarded the prestigious Deming Prize of Japan
X
Venu Srinivasan has been awarded the prestigious Deming Prize of Japan

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 04:27 PM IST

लाइफ-मैनेजमेंट डेस्क.  66 साल के वेणु श्रीनिवासन टीवीएस ग्रुप के चेयरमैन हैं। वह इस ग्रुप की कंपनी सुंदरम क्लेटन ग्रुप और टीवीएस मोटर कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर भी हैं। वेणु कंपनी के काम में क्वालिटी मैनेजमेंट का खास ध्यान रखते हैं। वेणु को जानने वाले लोग कहते हैं कि क्वालिटी मैनेजमेंट को लेकर उनमें ऑब्सेशन-सा है। वेणु कई साल पहले क्वालिटी के क्षेत्र में सबसे बड़ा डेमिंग प्राइज जीत चुके जापान के प्रोफेसर यासुतोशी वाशियो और जापान के क्वालिटी मैनेजमेंट गुरु प्रोफेसर योशिकाजू सूदा को टीवीएस में टोटल क्वालिटी मैनेजमेंट के लिए लेकर आए थे। 

श्रीनिवासन बचपन से ही गाड़ियों के दीवाने थे

  1. 2002 में टीवीएस डेमिंग प्राइज जीतने वाली दुनिया की पहली टू-व्हीलर कंपनी बनी थी। क्वालिटी के क्षेत्र में नोबेल माने जाने वाले डेमिंग पुरस्कार से अब वेणु भी सम्मानित हुए हैं। यह पुरस्कार पाने वाले वह देश के पहले उद्योगपति हैं। टीवीएस की स्थापना 1911 में टी वी सुंदरम आयंगर ने की थी, हालांकि उस वक्त कंपनी का नाम टी वी सुंदर आयंगर एंड संस था। यह बस कंपनी थी, जो लोकल ट्रांसपोर्ट का काम देखती थी, बाद में ऑटोमोबाइल प्रोडक्शन के क्षेत्र में आई थी। 

  2. 1978 में टीवीएस मोटर्स की स्थापना हुई। एक इंटरव्यू में वेणु श्रीनिवासन कहते हैं कि बचपन से ही उन्हें गाड़ियों के प्रति पागलपन था। उन्होंने जब दसवीं की पढ़ाई पूरी की उसके बाद हर छुटि्टयों में वह गैराज में रोज आठ-आठ घंटेबिताते। भले ही गैराज उनका अपना था, लेकिन वेणु को वहां कोई भी स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं मिलता था। वह घंटों कार के नीचे लेटकर इंजिन पर काम करते, इंजिन की ओवरहॉलिंग करते। वेणु बताते हैं कि गैराज जाने का एक और लालच था अपने कजिन भाई के साथ एयरकंडीशंड ऑफिस में बैठकर कॉफी पीना। जब गैराज में काम नहीं होता था, तो वह बैठकर कॉफी पी सकते थे। वेणु बताते हैं कि गाड़ियों से लगाव के कारण ही उनको इस बिजनेस को समझने में मदद मिली।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना