हॉलीवुड / 'ब्लाइंडनेस' से लेकर 'द हॉट जोन' तक वायरस के डर पर बनी है 10 बड़ी फिल्में, कोरोनावायरस के कारण फिर ट्रेंड में

10 films that have been made on the virus-induced epidemic, again in the trend
X
10 films that have been made on the virus-induced epidemic, again in the trend

दैनिक भास्कर

Mar 15, 2020, 02:24 PM IST
हॉलीवुड डेस्क. दुनियाभर में कोरोनावायरस का कहर जारी है। कई बड़े देशों में इमरजेंसी जैसे हालात हैं। हालांकि एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लिए यह नया नहीं है। फिल्म मेकर्स कई बार अपनी स्क्रिप्टस जरिए दर्शकों के लिए बड़े पर्दे पर यह माहौल तैयार कर चुके हैं।

बड़े पर्दे पर दिखाई गई महामारी

1995 में आई नॉवेल पर आधारित ‘ब्लाइंडनेस’ अंग्रेजी थ्रिलर फिल्म है। फिल्म में व्हाइट सिकनेस महामारी को दिखाया गया है। इस फिल्म की कहानी भी कई मायनों में कोरोनावायरस से मिलती जुलती है। फिल्म में पहले एक व्यक्ति को अचानक दिखना बंद हो जाता है इसके बाद उसका इलाज कर रहा डॉक्टर भी अपनी आंखें खो देता है। कहानी के अनुसार यह परेशानी दुनियाभर में फैल जाती है। फिल्म में जूलियन मूर और मार्क रफेलो जैसे दिग्गज एक्टर्स लीड रोल में हैं।

स्टीवन सोडरबर्ग के निर्देशन में बनी ‘कॉन्टेजियन’ को कोराना की महामारी को दिखाती हुई सबसे सफल फिल्म माना जा रहा है। कोरोना के सामने आते ही यह फिल्म भी सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगी थी। कहानी के अनुसार लीड एक्ट्रेस ग्वेनेथ पॉल्ट्रो एक अंजान बीमारी के साथ ट्रिप से लौटती है। इसके कुछ दिन बाद ही उसकी मौत हो जाती है। बाद में उसके बेटे की मौत भी इसी अंजान बीमारी के कारण होती है। खाली एयरपोर्ट्स, सड़कें जैसी फिल्म के कई सीन दुनिया के हालातों को दिखाते हैं। ग्वेनेथ के अलावा फिल्म में केट विंसलेट, मैट डेमन, जूड लॉ जैसे बड़े स्टार्स ने काम किया था।

ऑस्कर विजेता डायरेक्टर अल्फॉन्जो कुरोन की फिल्म ‘चिल्ड्रन ऑफ मैन’ में साल 2027 की हालात दिखाए गए थे। कहानी के अनुसार 18 साल से अनजान कारणों के चलते दुनिया में कोई भी इंसान प्रजनन नहीं कर पा रहा है। इस कारण से दुनिया में इंसान खत्म होने की कगार पर हैं। फिल्म में क्लाइव ओवन, माइकल कैन अहम भूमिका में हैं। 2007 में फिल्म को तीन कैटेगरी में ऑस्कर के लिए नॉमिनेशन मिला था।

फिल्म आर्कटिक रिसर्च सेंटर पर काम कर रहे चार इकोलॉजी रिसर्च स्टूडेंट्स की कहानी है। उन्हें पता लगता है कि दुनिया को ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण बर्फ पिघलने से खतरा नहीं है। स्टूडेंट्स पाते हैं कि पिघलती हुई बर्फ में पैरासाइट भी जमा हुआ है, जो दुनिया में महामारी फैला सकता है। फिल्म में वेल किल्मर ने अहम भूमिका निभाई थी।

ऑन्टारियो के पोन्टीपूल में एक रेडियो जॉकी ग्रांट मैजी अपने सुनने वालों को एक वायरस के बारे में चेतावनी देता है। पूरे शहर में फैल चुके इस वायरस के कारण लोग जॉम्बी में बदलते जा रहे हैं। फिल्म का निर्देशन ब्रूस मैकडॉनल्ड ने किया था।

कुछ पत्रकारों के लॉस एंजेलिस में फायर क्रू के साथ रात में काम करने के लिए कहा जाता है। इस दौरान वे एक इमरजेंसी कॉल के बाद एक अपार्टमेंट तक पहुंचते हैं, जहां पहले से ही पुलिस मौजूद होती है। सभी को बाद में पता चलता है कि बिल्डिंग में अंजान वायरस से पीड़ित एक महिला मौजूद है। फिल्म का डायरेक्शन जॉन एरिक डॉडल ने किया था। 

वुल्फगैंग पीटरसन निर्देशित इस फिल्म में बंदरों से फैले एक वायरस की कहानी दिखाई गई थी। अफ्रीकन रेन फॉरेस्ट से लाए गए बंदरों की वजह से फैले वायरस से बचाव के लिए वैज्ञानिक मेहनत करते हैं। फिल्म में केविन स्पेसी, मॉर्गन फ्रीमैन, डस्टिन हॉफमैन जैसे बड़े एक्टर्स ने काम किया था।

एरिजोना टाउन के नजदीक एक सैटेलाइट क्रैश हो जाती है। इस एक्सीडेंट के बाद इलाके के लोग अचानक मर जाते हैं। वैज्ञानिकों का समूह सैटेलाइट के जरिए धरती पर पहुंचे वायरस से लड़ने की कोशिश करते हैं। 1972 में फिल्म को दो ऑस्कर कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था।

जॉन सूट्स डायरेक्टेड ‘पेनडैमिक’ जॉम्बी वायरस की कहानी है। इलाके में संक्रमित लोगों की संख्या ज्यादा हो गई है। वायरस फैलने के बाद जॉम्बी सड़कों पर घूम रहे हैं और इनसे निपटने के लिए डॉक्टर्स और रेस्क्यू टीम डटी हुई है।

6 एपिसोड्स की इस टीवी सीरीज में 1989 का समय दिखाया गया है। कहानी के अनुसार वैज्ञानिकों को वॉशिंगटन डीसी के रिसर्च लैब में चिंपान्जियों में इबोला वायरस मिलता है। इसके बाद इंसानों को बचाने के लिए साइंटिस्ट और यूएस आर्मी कोशिश करते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना