विज्ञापन

सौदागर के 27 साल: विवेक मुशरान का बर्थडे गिफ्ट बन गई थी डेब्यू फिल्म, राजकुमार नहीं बोलना चाहते थे यूपी वाला लहजा इसलिए शूटिंग छोड़ आ गए थे वापस / सौदागर के 27 साल: विवेक मुशरान का बर्थडे गिफ्ट बन गई थी डेब्यू फिल्म, राजकुमार नहीं बोलना चाहते थे यूपी वाला लहजा इसलिए शूटिंग छोड़ आ गए थे वापस

DainikBhaskar.com

Aug 09, 2018, 03:40 PM IST

सुभाष घई को आज तक केवल सौदागर के लिए ही फिल्मफेयर बेस्ट डायरेक्टर का अवार्ड मिला है।

27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
  • comment

बॉलीवुड डेस्क. 1973 में फिल्म आई थी 'सौदागर' अमिताभ बच्चन और नूतन वाली। लेकिन, उसके 18 साल बाद 1991 में शो मैन सुभाष घई इसी टाइटल के साथ लेकर आए एक और फिल्म। कहानी दो जिगरी दोस्तों की, जो दुश्मनी में बदल जाती है। सुभाष घई जब इस फिल्म की कास्टिंग के लिए दिलीप कुमार और राज कुमार के पास गए थे, उस वक्त बहुत मजेदार वाकये हुए थे। सुभाष घई ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हाेंने इन दोनों लीजेंड्री एक्टर्स को फिल्म में काम करने कैसे तैयार किया था।

सौदागर फिल्म के 3 अनसुने किस्से, डायरेक्टर सुभाष घई की जुबानी

राजकुमार को मनाने में लगे थे 2 घंटे : शूटिंग पर पहुंचते ही राजकुमार ने देखा, दिलीप कुमार यूपी-बिहारी लहजे वाली हिन्दी में बात करते हैं। जबकि राजकुमार को रेग्युलर हिन्दी बोलनी थी। सुभाष घई ने इस बारे में उन्हें नहीं बताया था, जिससे राजकुमार गुस्सा हो गए और घई से कहा कि वे फिल्म छोड़कर वापस मुंबई जा रहे हैं।

- सुभाष को राजकुमार को मनाने में दो घंटे लगे थे। उन्होंने राजकुमार से कहा कि दिलीप कुमार फिल्म में गरीब परिवार से हैं, जबकि राजकुमार एक रॉयल फैमिली से इसलिए लहजे में फर्क रखा है।

विवेक के बर्थडे पर रिलीज हुई थी फिल्म : सौदागर जिस दिन रिलीज हुई थी, उस दिन यानी 9 अगस्त को डेब्यू एक्टर विवेक मुश्रान का बर्थडे था। हालांकि विवेक से पहले यह रोल आमिर को ऑफर किया गया था। आमिर ने रोल छोटा होने के कारण करने से इंकार कर दिया था।

- फिल्म में वासु यानी विवेक वाले रोल के लिए चंद्रचूड़ सिंह ने भी ऑडिशन दिया था। मनीषा कोइराला के रोल के लिए दिव्या भारती को चुना गया था। कम उम्र होने के कारण दिव्या को रिप्लेस किया गया।

32 साल बाद साथ आए थे दिलीप-राजकुमार : राजकुमार और दिलीप कुमार एक साथ फिल्म पैगाम में नजर आए थे। 1959 में आई फिल्म के 32 साल बाद तक किसी ने भी दोनों के साथ फिल्म बनाने की कोशिश नहीं की।

- खुद सुभाष घई ने भी दिलीप कुमार से जब राजकुमार के बारे में बताया कि वे उनके दोस्त की भूमिका में हैं, तब वे अपनी कार में बैठे थे। राजकुमार का नाम बताने के बाद वे वहां से भाग गए थे।

27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
  • comment
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
  • comment
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
  • comment
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
  • comment
X
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
27 years of suadagar release raajkumar was quitting the film due to up bihari dialect
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन