--Advertisement--

ये है आकाश अंबानी की मौसी, पढ़ाती है ऐश्वर्या-शाहरुख के बच्चों को

बिजनेस टायकून मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी की शादी हीरा व्यापारी रसेल मेहता की बेटी श्लोका ने होने जा रही है।

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2018, 06:11 PM IST
ममता दलाल और आकाश अंबानी। ममता दलाल और आकाश अंबानी।

बिजनेस टायकून मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी की शादी हीरा व्यापारी रसेल मेहता की बेटी श्लोका ने होने जा रही है। हाल ही में दोनों की सगाई हुई है। यूं तो आप अंबानी फैमिली के बारे में काफी कुछ जानते हैं। आज इस पैकेज में आपको आकाश अंबानी की मौसी ममता दलाल के बारे में बताने जा रहे हैं। ममता धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों को पढ़ती हैं। लाइमलाइट से रहती हैं दूर...

ममता लाइमलाइट से दूर लो प्रोफाइल में ही रहना पसंद करते हैं। ममता, रिलायन्स इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की वाइफ नीता अंबानी की छोटी बहन है। जहां नीता अंबानी अपने स्टाइल और ग्लैमर को लेकर मीडिया की सुर्खियों में छाई रहती हैं। वहीं, उनकी बहन ममता मीडिया से दूर साधारण जीवन जीती हैं। ममता शाहरुख खान, ऐश्वर्या राय, रवीना टंडन, करिश्मा कपूर सहित सेलेब्स के बच्चों को पढ़ाती हैं।


ममता ने एक बार एक इंटरव्यू में बताया था, 'हां मैंने शाहरुख खान से लेकर सचिन तेंदुलकर तक के बच्चों को पढ़ाया है। ये जरूर सेलिब्रिटीज के बच्चे हैं लेकिन मेरे लिए ये हमेशा मेरे स्टूडेंट्स ही रहे जैसे बाकी स्टूडेंट्स हैं'। उन्होंने ये बताया था, 'मैं सिर्फ पढ़ाने का काम ही नहीं करती बल्कि स्टूडेंट्स के लिए कैम्प्स, वर्कशॉप और फिजिकल एक्टिविटी की क्लासेस भी आयोजित करतीं हूं'।

ये भी पढ़ें


आकाश की साली की शादी में थे ऐसे ठाठ, मुकेश अंबानी की बेटी का था ऐसा लुक

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें नीता अंबानी की बहन ममता के बारे में कुछ और बातें...

वे क्वालिफाइड लेडी है और धीरुभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल का न केवल मैनेजमेंट संभालती है बल्कि बच्चों को पढ़ाती भी हैं। वे क्वालिफाइड लेडी है और धीरुभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल का न केवल मैनेजमेंट संभालती है बल्कि बच्चों को पढ़ाती भी हैं।
बच्चों को पढ़ाना ममता का पैशन है। टीचिंग ही उनका फुलटाइम करियर है। बच्चों को पढ़ाना ममता का पैशन है। टीचिंग ही उनका फुलटाइम करियर है।
ममता ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें न केवल बच्चों को पढ़ाना पसंद है बल्कि उनके साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम बिताना भी वे पसंद करती हैं। छोटे बच्चों की मेमोरी बेहद शार्प होती है और वो सीखने के क्यूरियस होते हैं। ममता ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें न केवल बच्चों को पढ़ाना पसंद है बल्कि उनके साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम बिताना भी वे पसंद करती हैं। छोटे बच्चों की मेमोरी बेहद शार्प होती है और वो सीखने के क्यूरियस होते हैं।
बांद्रा स्थित धीरूभाई अंबानी स्कूल की नींव रखते समय ममता ने ही नीता को स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन हैंडल करने में मदद की थी। बांद्रा स्थित धीरूभाई अंबानी स्कूल की नींव रखते समय ममता ने ही नीता को स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन हैंडल करने में मदद की थी।
ममता का कहना है कि वे पिछले 5-6 सालों से टीचिंग के प्रोफेशन में हैं। बच्चों को पढ़ाना आसान टास्क नहीं होता है। लेकिन चूंकि ये उनका पैशन है, इसलिए वे सारी चीजें मैनेज कर लेती हैं। ममता का कहना है कि वे पिछले 5-6 सालों से टीचिंग के प्रोफेशन में हैं। बच्चों को पढ़ाना आसान टास्क नहीं होता है। लेकिन चूंकि ये उनका पैशन है, इसलिए वे सारी चीजें मैनेज कर लेती हैं।
टीचिंग के अलावा वे खाली समय में ज्वैलरी डिजाइनिंग का काम भी करती हैं। टीचिंग के अलावा वे खाली समय में ज्वैलरी डिजाइनिंग का काम भी करती हैं।
कभी-कभी वे अपनी बहन नीता अंबानी के साथ उनकी पार्टियों में स्पॉट होती हैं। उन्होंने डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के लिए रैम्प वॉक भी किया है। कभी-कभी वे अपनी बहन नीता अंबानी के साथ उनकी पार्टियों में स्पॉट होती हैं। उन्होंने डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के लिए रैम्प वॉक भी किया है।
X
ममता दलाल और आकाश अंबानी।ममता दलाल और आकाश अंबानी।
वे क्वालिफाइड लेडी है और धीरुभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल का न केवल मैनेजमेंट संभालती है बल्कि बच्चों को पढ़ाती भी हैं।वे क्वालिफाइड लेडी है और धीरुभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल का न केवल मैनेजमेंट संभालती है बल्कि बच्चों को पढ़ाती भी हैं।
बच्चों को पढ़ाना ममता का पैशन है। टीचिंग ही उनका फुलटाइम करियर है।बच्चों को पढ़ाना ममता का पैशन है। टीचिंग ही उनका फुलटाइम करियर है।
ममता ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें न केवल बच्चों को पढ़ाना पसंद है बल्कि उनके साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम बिताना भी वे पसंद करती हैं। छोटे बच्चों की मेमोरी बेहद शार्प होती है और वो सीखने के क्यूरियस होते हैं।ममता ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें न केवल बच्चों को पढ़ाना पसंद है बल्कि उनके साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम बिताना भी वे पसंद करती हैं। छोटे बच्चों की मेमोरी बेहद शार्प होती है और वो सीखने के क्यूरियस होते हैं।
बांद्रा स्थित धीरूभाई अंबानी स्कूल की नींव रखते समय ममता ने ही नीता को स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन हैंडल करने में मदद की थी।बांद्रा स्थित धीरूभाई अंबानी स्कूल की नींव रखते समय ममता ने ही नीता को स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन हैंडल करने में मदद की थी।
ममता का कहना है कि वे पिछले 5-6 सालों से टीचिंग के प्रोफेशन में हैं। बच्चों को पढ़ाना आसान टास्क नहीं होता है। लेकिन चूंकि ये उनका पैशन है, इसलिए वे सारी चीजें मैनेज कर लेती हैं।ममता का कहना है कि वे पिछले 5-6 सालों से टीचिंग के प्रोफेशन में हैं। बच्चों को पढ़ाना आसान टास्क नहीं होता है। लेकिन चूंकि ये उनका पैशन है, इसलिए वे सारी चीजें मैनेज कर लेती हैं।
टीचिंग के अलावा वे खाली समय में ज्वैलरी डिजाइनिंग का काम भी करती हैं।टीचिंग के अलावा वे खाली समय में ज्वैलरी डिजाइनिंग का काम भी करती हैं।
कभी-कभी वे अपनी बहन नीता अंबानी के साथ उनकी पार्टियों में स्पॉट होती हैं। उन्होंने डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के लिए रैम्प वॉक भी किया है।कभी-कभी वे अपनी बहन नीता अंबानी के साथ उनकी पार्टियों में स्पॉट होती हैं। उन्होंने डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के लिए रैम्प वॉक भी किया है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..