--Advertisement--

श्रीदेवी को मरणोपरांत मिला नेशनल अवॉर्ड, रिहर्सल में बेटियों के साथ इमोशनल हुए बोनी

65वें राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड्स गुरुवार को नईदिल्ली के विज्ञान भवन में दिए जाएंगे।

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 09:22 PM IST
नेशनल अवॉर्ड की रिहर्सल के दौरान इमोशनल बोनी कपूर और बेटियां जाह्नवी और खुशी। नेशनल अवॉर्ड की रिहर्सल के दौरान इमोशनल बोनी कपूर और बेटियां जाह्नवी और खुशी।

मुंबई/नई दिल्ली। 65वें राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड्स गुरुवार को नईदिल्ली के विज्ञान भवन में दिए गए। श्रीदेवी और विनोद खन्ना को मरणोपरांत यह अवॉर्ड मिला। श्रीदेवी को बेस्ट एक्ट्रेस और विनोद खन्ना को दादा साहब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा गया। इससे पहले विज्ञान भवन में बुधवार को हुई अवॉर्ड रिहर्सल के दौरान बोनी कपूर इमोशनल हो गए। उनके साथ बेटियां जाह्नवी और खुशी भी मौजूद थीं। तीनों के चेहरे पर श्रीदेवी को खोने का दुख साफ झलक रहा था। बता दें कि फरवरी, 2018 में श्रीदेवी का निधन हो गया था। वहीं एक्टर विनोद खन्ना का 27 अप्रैल 2017 को 71 साल की उम्र में निधन हो गया था। ये हैं नेशनल अवॉर्ड विनर्स...


बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड फिल्म नगरकीर्तन के लिए रिद्धी सेन को दिया गया है। इसके साथ ही डायरेक्टर अमित वी. मुसुर्कार की फिल्म 'न्यूटन' ने दो कैटेगरी में यह अवॉर्ड अपने नाम किया है। 'न्यूटन' को जहां बेस्ट हिंदी फीचर फिल्म चुना गया है तो वहीं इसमें अहम भूमिका में नजर आए पंकज त्रिपाठी को स्पेशल अवॉर्ड दिया गया है।


ये है बाकी विनर्स की लिस्ट...
बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस : दिव्या दत्ता (इरादा)
बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर : फहाद फाजिल (Thondimuthalum Driksakshiyum)
बेस्ट बैकग्राउंड स्कोर : ए. आर. रहमान (मॉम)
बेस्ट एक्टर : रिद्धि सेन (नगरकीर्तन)
बेस्ट नॉन फीचर फिल्म :वॉटर बेबी
नरगिस दत्त अवॉर्ड फॉर बेस्ट फिल्म ऑन नेशनल इंटीग्रेशन : धप्पा (मराठी मूवी)
बेस्ट फिल्म (ऑल लैंग्वेज): विलेज रॉकस्टार (असमिया)
बेस्ट सिंगर : यसुदास (मलयालम फिल्म 'Viswasapoorvam Mansoor' के सॉन्ग 'Poy Maranja Kalam' के लिए)
बेस्ट चिल्ड्रेन फिल्म : Mhorkya (मराठी)
बेस्ट डायरेक्शन : जयराज (मलयालम फिल्म 'भयानकम' के लिए)
बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट : बनिता दास (असमी फिल्म 'विलेज रॉकस्टार्स)
इंदिरा गांधी अवॉर्ड फॉर बेस्ट डेब्यूटेंट डायरेक्टर :पम्पल्ली (सिंजर)
बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर :शशा तिरुपति (तमिल फिल्म 'Kaatru Veliyidai' के सॉन्ग 'वान' के लिए)

बेस्ट लिरिक्स :प्रहलाद (अपकमिंग फिल्म 'मार्च 22' के सॉन्ग 'Muthu Ratnada Pyate' के लिए)
बेस्ट सिनेमैटोग्राफी:निखिल एस. प्रवीण (मलयालम फिल्म 'भयानकम' के लिए)
बेस्ट अडॉप्टेड स्क्रीनप्ले :जयराज (मलयालम फिल्म 'भयानकम' के लिए)
बेस्ट ओरिजिनल स्क्रीनप्ले :संजीव पजहूर (मलयालम फिल्म 'Thondimuthalum Driksakshiyum' के लिए)
बेस्ट ऑडियोग्राफी :विलेज रॉकस्टार (असमी मूवी)
बेस्ट साउंड डिजाइन एंड बेस्ट रिकॉर्डिस्ट : वॉकिंग विद द विंड (लद्दाखी मूवी)
बेस्ट प्रोडक्शन डिजाइन :संतोष रमण (मलयालम फिल्म 'टेक ऑफ' के लिए)
बेस्ट मेकअप आर्टिस्ट :राम रजक (बंगाली फिल्म 'नगरकीर्तन' के लिए)
बेस्ट म्यूजिक डायरेक्शन :मणि रत्नम (तमिल फिल्म 'Kaatru Veliyidai' के लिए)
बेस्ट तमिल फिल्म :टू लेट
बेस्ट असमी फिल्म :इशु
बेस्ट तेलुगु फिल्म :गाजी
बेस्ट बंगाली फिल्म :मयूरसखी
बेस्ट कन्नड़ फिल्म :Hebbettu Ramakka.
बेस्ट तुलु फिल्म: Paddayi
बेस्ट लद्दाखी फिल्म :वॉकिंग विद द विंड
बेस्ट मलयालम फिल्म :Thondimuthalum
बेस्ट मराठी फिल्म : कच्चा लिम्बू
बेस्ट उड़िया फिल्म :हैलो अरसी
बेस्ट फिल्म इन जसरी : सिंजर
बेस्ट शॉर्ट फिल्म :मय्यत (मराठी)
बेस्ट फिल्म इन सोशल इश्यु : 'I am Bonnie' और 'Whale Done'
बेस्ट फिल्म ऑफ आर्ट एंड कल्चर :गिरिजा : अ लाइफ ऑफ म्यूजिक
बेस्ट एनीमेशन फिल्म :The Fish Curry and Tokri: The Basket
बेस्ट डायरेक्टर : नागराज मंजुले