न्यूज़

--Advertisement--

नहीं रहे एक्टर-डायरेक्टर नीरज वोरा, 54 साल की उम्र में मुंबई में निधन

पुकार और बोल बच्चन (2012) और वेलकम बैक (2015) जैसी फिल्मों के एक्टर नीरज वोरा नहीं रहे।

Danik Bhaskar

Dec 14, 2017, 08:24 AM IST
नीरज वोरा फिल्म \'बोल बच्चन\' के नीरज वोरा फिल्म \'बोल बच्चन\' के

मुंबई. एक्टर और कॉमेडियन नीरज वोरा नहीं रहे। उन्होंने रंगीला (1995), सत्या (1998), बादशाह (1999), पुकार (2000), बोल बच्चन (2012) और वेलकम बैक (2015) जैसी कई फिल्मों में काम किया था। गुरुवार सुबह करीब 4 बजे अंधेरी (मुंबई) के कृति केयर हॉस्पिटल में उन्होंने आखिरी सांस ली। वे 54 साल के थे और पिछले करीब 13 महीने से कोमा में थे। एक्टर और कॉमेडियन परेश रावल ने ट्वीट कर नीरज की मौत की जानकारी दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा,

"Neeraj Vora - The writer n director of Phir Hera Pheri n many hit films is no more ...Aum Shanti"

शाम को होगा अंतिम संस्कार

- शाम करीब 3 बजे सांताक्रूज श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

अचानक बिगड़ी हालत

- DainikBhaskar.com से बातचीत में फिरोज नाडियाडवाला ने बताया, "शुक्रवार तक तो सब सही था, वो आंखों से रिस्पॉन्स भी दे रहा था। लेकिन अचानक हालत खराब हो गई। उसके घर में बस एक छोटा भाई है। माता-पिता और पत्नी का देहांत पहले ही हो चुका था। वो मेरे लिए काफी अजीज है, क्योंकि हमारी दोस्ती 18 साल से ज्यादा की है। उसके दिमाग का हिस्सा भी काम करने लगा था। हां और न का जवाब भी देने लगा था। मेरे लिए तो सगे भाई से भी बढ़कर था। बस उसका बात करना ही बाकी रह गया था। मेरे लिए वो 'था' नहीं, मेरे लिए हमेशा वो 'है' रहेगा।"

पीएम मोदी ने जताया शोक

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीरज वोरा के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है, "नीरज वोरा के निधन से दुखी हूं। वे बहुत ही एनर्जेटिक और क्रिएटिव पर्सन थे। अपनी फिल्मों और गर्मजोशी वाले स्वभाव के लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदना उनके फैमिली मेंबर्स और फैन्स के साथ है।"

अक्षय कुमार ने कहा ये

- अक्षय कुमार ने नीरज के निधन पर शोक जताते हुए कहा, "मेरी कॉमेडी के पीछे उनका बड़ा हाथ है। सुनकर दुखी हूं कि नीरज वोरा जैसा टैलेंटेड आदमी, राइटर, डायरेक्टर और एक्टर अब हमारे बीच नहीं है। वे अपने आप में एक मिनी इंडस्ट्री थे। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है।"

दुखी हुए सुनील शेट्टी

- सुनील शेट्टी ने कहा, "बहुत ज़्यादा दुखी हूं। वो बहुत ही ग्रेट इंसान थे। बहुत ही उम्दा राइटर, एक्टर, डायरेक्टर थे। ऐसा कॉम्बिनेशन बहुत कम देखने को मिलता है। उनका सेंस ऑफ ह्यूमर गज़ब का था। मेरे लिए वो हमेशा साथ रहेंगे, क्योंकि उन्होंने मुझे कुछ बेहतरीन किरदार दिए हैं। प्रियदर्शन के साथ उन्होंने बहुत ही बड़ा मैजिक क्रिएट किया था। बहुत बड़ी क्षति है। ऊपरवाला शायद उनके दर्द को समझ रहा था, क्योंकि वो कई महीनों से कोमा में थे। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे। फिरोज नाडियाडवाला ने उनका बहुत ज्यादा साथ दिया। दोनों बहुत अच्छे दोस्त रहे हैं।"

फिरोज कर रहे थे देखभाल

- 19 अक्टूबर, 2016 को आए ब्रेन स्ट्रोक की वजह से नीरज को दिल्ली स्थित एम्स में एडमिट कराया गया था। पहले उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। हालांकि, बाद में हालत में कुछ सुधार के बाद उनके दोस्त फिरोज नाडियाडवाला मार्च, 2017 में उन्हें मुंबई ले आए। तब से नीरज उन्हीं के यहां रह रहे थे।

- कोमा की हालत में फिरोज नाडियाडवाला नीरज की पूरी जिम्मेदारी उठा रहे थे। यहां तक कि फिरोज ने जुहू स्थित अपने घर 'बरकत विला' के एक कमरे को ही आईसीयू में कन्वर्ट करा दिया था।
- फिरोज के मुताबिक, मार्च 2017 से नीरज के लिए चौबीसों घंटे एक नर्स, वॉर्ड ब्वॉय और कुक रहता था।
- इसके अलावा फिजियोथेरेपिस्ट, न्यूरो सर्जन, एक्यूपंक्चर थेरेपिस्ट और जनरल फिजिशियन हर हफ्ते विजिट पर आते थे।

'रंगीला' से मिली थी पहचान

- 22 जनवरी 1963 को गुजरात के भुज में जन्मे नीरज ने अपनी पहचान बतौर राइटर, डायरेक्टर और कॉमेडियन बनाई।

- बचपन से ही उनका रुझान आर्ट फील्ड में था। पिता पंडित विनायक राय नंदलाल वोरा ने उन्हें हारमोनियम पर बॉलीवुड सॉन्ग्स की धुन निकालना सिखाया था। 6 साल की उम्र में नीरज ने थिएटर शुरू कर दिया था।
- कॉलेज के दिनों में उन्होंने ड्रामा में काम किया और अवॉर्ड भी जीते। इसके बाद आमिर खान स्टारर 'होली' में उन्होंने एक्टिंग की, जिसे केतन मेहता ने डायरेक्ट किया था।
- हालांकि, नीरज को बॉलीवुड में मुकाम मिला आमिर खान स्टारर 'रंगीला' (1995) से, जिसके डायलॉग्स उन्होंने लिखे थे। इस फिल्म में उनका छोटा-सा रोल भी था।
- 'मन' (1999) 'बादशाह' (1999), 'खट्टा-मीठा' (2010), 'कमाल धमाल मालामाल' (2012), 'बोल बच्चन' (2012) और 'वेलकम बैक' (2015) जैसी फिल्मों में नीरज को बतौर कॉमेडियन खूब पसंद किया गया।

इन फिल्मों में किया डायरेक्शन

- नीरज वोरा ने 'खिलाड़ी 420' (2000), 'फिर हेरा फेरी' (2006), 'फैमिलीवाला' (2009), 'रन भोला रन' (2016) का डायरेक्शन किया था।

- इसके अलावा उन्होंने कई फिल्में लिखी हैं। इनमें 'दौड़', 'हेराफेरी', 'ये तेरा घर ये मेरा घर' और 'गोलमाल' प्रमुख हैं।

Click to listen..