--Advertisement--

विरोध के बाद 'पद्मावत' ने ऐसे कमाए 5 करोड़, फर्स्ट डे कर सकती है इतनी कमाई

संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म 'पद्मावत' विरोधों के बीच गुरुवार को 7 हजार स्क्रीन्स पर रिलीज हुई।

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 04:27 PM IST
फिल्म पद्मावत में अलाउद्दीन खिलजी के रोल में रणवीर सिंह। फिल्म पद्मावत में अलाउद्दीन खिलजी के रोल में रणवीर सिंह।

मुंबई। संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म 'पद्मावत' विरोधों के बीच गुरुवार को 7 हजार स्क्रीन्स पर रिलीज हुई। देश के 4 राज्यों के मल्टीप्लेक्स और थिएटर मालिकों ने फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं की। बावजूद इसके 24 जनवरी को हुए पेड प्रिव्यू में ही फिल्म ने करीब 5 करोड़ रुपए कमा लिए। ट्रेड एनालिस्ट सुमित कडेल ने फिल्म के पेड प्रिव्यू कलेक्शन को सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए यह जानकारी दी। राज्यों में विरोध के चलते फिल्म को 8-10 करोड़ का नुकसान...


- सुमित कडेल के मुताबिक, 4 राज्यों में राजपूत करणी सेना के विरोध के चलते इसे फर्स्ट डे ही करीब 8 से 10 करोड़ का नुकसान होगा।
- बता दें कि फिल्म का बजट करीब 180 करोड़ रुपए है। इसके अलावा फिल्म को आईमैक्स और 3डी फॉर्मेट में कन्वर्ट कराने के लिए भी 20 करोड़ रुपए खर्च किए गए।


फर्स्ट डे 25 से 30 करोड़ कमा सकती है पद्मावत...
- ट्रेड एनालिस्ट्स के मुताबिक, फर्स्ट डे फिल्म करीब 25 से 30 करोड़ रुपए कमा सकती है।
- इसके अलावा अगले 15 दिन तक कोई भी फिल्म रिलीज न होने की वजह से भी फिल्म को फायदा मिल सकता है।
- रिपब्लिक डे की छुट्टी का भी फिल्म की कमाई पर असर दिखेगा। यानी छुट्टी की वजह से इसका कलेक्शन बढ़ सकता है।
- फर्स्ट वीकेंड में फिल्म 100 करोड़ के आंकड़े को छू सकती है।

आगे की स्लाइड्स पर, इन पांच बदलावों के साथ रिलीज हुई फिल्म 'पद्मावत'

फिल्म में हुए ये 5 प्रमुख बदलाव...
 

- नाम पद्मावती से बदलकर पद्मावत किया।
- पात्र की गरिमा के अनुसार घूमर डांस में सुधार किया।
- डिस्क्लेमर दिया कि यह सती प्रथा काे महिमामंडित नहीं करती है। 
- फिल्म के काल्पनिक होने का डिस्क्लेमर दिया गया। 
- ऐतिहासिक स्थलों के गलत या भ्रामक संदर्भों में बदलाव किया। 

पाकिस्तान में बिना कट के रिलीज होगी...

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का देशभर में विरोध हो रहा है। हालांकि, पाकिस्तान में फिल्म को बिना किसी कट के रिलीज किया जाएगा। पाकिस्तान सेंसर बोर्ड के एक अधिकारी के मुताबिक, बुधवार को फिल्म को देश में दिखाने की मंजूरी दे दी गई है। फिल्म को सिनेमा हॉल्स में U सर्टिफिकेट के साथ रिलीज किया जाएगा। फिल्म डिस्ट्रिब्यूटर्स के मुताबिक, अलाउद्दीन खिलजी को निगेटिव रोल में दिखाए जाने को लेकर कई लोगों को आपत्ति थी, लेकिन फिर भी फिल्म रिलीज का रास्ता साफ कर दिया गया है।

भारत में रिलीज के साथ भड़की हिंसा
 

- बता दें कि पद्मावत की मेकिंग के समय से ही भारत में इस फिल्म पर विवाद शुरू हो गया था। कई लोगों ने दावा किया था कि फिल्म में राजपूतों और पद्मावत के कैरेक्टर के साथ छेड़छाड़ की गई है। इसी के चलते 25 जनवरी को भारत के 4 राज्यों में फिल्म को रिलीज नहीं किया गया है। सिनेमाघर मालिकों के संगठन मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने इन राज्यों में फिल्म नहीं दिखाने का एलान किया था।

- इन राज्यों में करणी सेना ने फिल्म के विरोध में हिंसक प्रदर्शन किए हैं। जिसके चलते मल्टीप्लेक्स के बाहर सिक्युरिटी बढ़ा दी गई है।

फिल्म पद्मावत को लेकर क्या विवाद है?
 

- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची।
-फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर नृत्य करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।
- हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।

राहुल बोले- हिंसा और नफरत कमजोर लोगों का हथियार

- पद्मावत के विरोध में बच्चों और महिलाओं पर हुए हमलों की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी निंदा की है। 
- उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, "बच्चों के खिलाफ हिंसा को किसी भी हालत में सही नहीं ठहराया जाएगा। हिंसा और नफरत कमजोर लोगों का हथियार है। बीजेपी पूरे देश में आग लगाने के लिए हिंसा और नफरत का इस्तेमाल कर रही है।"