--Advertisement--

मनीषा और ‘न्यूड’ के डायरेक्टर का विवाद जारी, ये है पूरा मामला

मनीषा कुलश्रेष्ठ और फिल्म `न्यूड' के डायरेक्टर रवि जाधव के बीच का आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला आगे बढ़ गया है।

Dainik Bhaskar

Nov 26, 2017, 11:08 AM IST
फिल्म न्यूड का पोस्टर और राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ फिल्म न्यूड का पोस्टर और राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ

मुंबई. राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ और चर्चित मराठी फिल्म `न्यूड' के डायरेक्टर रवि जाधव के बीच का आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला आगे बढ़ गया है। बता दें मनीषा ने एक कदम आगे बढ़कर रवि को कानूनी नोटिस भी भिजवा दिया है। मनीषा ने कहा कि पहले मैंने बीच का रास्ता तलाशने की कोशिश की थी, लेकिन फेसबुक मैसेंजर से रिमूव कर जाधव ने जता दिया कि वो लेखकों का हक मारने को उतावले हैं। आईएफएफआई में भी `न्यूड' की स्क्रीनिंग नहीं हो सकी थी...

बता दें, पिछले दिनों भारत के 48वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में भी `न्यूड' की स्क्रीनिंग नहीं हो सकी थी। सूचना और प्रसारण मंत्रालय की पहल पर मलयालम फिल्म `एस दुर्गा' और `न्यूड' को फेस्टिवल से बाहर कर दिया गया था। इसके विरोध में इंडियन पैनोरमा के ज्यूरी प्रमुख सुजॉय घोष और कई ज्यूरी मेंबर्स ने इस्तीफा दे दिया था। `एस दुर्गा' के निर्देशक सनल कुमार शशिधरन ने फैसले को केरल हाईकोर्ट में चुनौती दी। उनके पक्ष में फैसला आया, फिर भी फिल्मों का प्रदर्शन नहीं हो सका है।

आगे की स्लाइड में जानें क्या है विवाद....

राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ  और जाधव के बीच चैट राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ और जाधव के बीच चैट

मनीषा ने कई बार की जाधव से कॉन्टेक्ट की कोशिश...

कल्ट फिल्म ‘बालक-पालक’ और 2011 में तीन नेशनल अवार्ड हासिल करने वाली `बालगंधर्व' बनाने वाले रवि जाधव को कानूनी नोटिस भेजने वाली मशहूर लेखिका मनीषा कुलश्रेष्ठ ने बताया कि उन्होंने कई बार जाधव से संपर्क साधने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया। मनीषा ने रवि को फेसबुक पर भी संदेश भेजकर कहा था कि `न्यूड' की स्टोरीलाइन उनकी कहानी `कालिंदी' की हूबहू कॉपी है। शुरुआत में तो रवि ने जवाब दिया कि मेरी कहानी अलग है और मैं आपकी कहानी पढ़ना चाहूंगा, फिर बाद में जवाब देना बंद कर मैसेंजर से ही रिमूव कर दिया।

 

अपनी बात पर अड़े हैं जाधव

DainikBhaskar.com से बातचीत में मनीषा ने कहा कि मेरे एक परिचित (रवि के भी कॉमन फ्रेंड) ने जाधव को पहले ही बताया था कि आपकी फिल्म की स्टोरी मनीषा की कहानी की हूबहू कॉपी जान पड़ती है। हालांकि जाधव इस बात पर पूरी तरह अड़े रहे कि वो मुंबई के जेजे स्कूल ऑफ आर्ट्स से संबंधित हैं और ये वहीं की सच्ची घटना पर आधारित है।

 

 

फिल्म न्यूड का पोस्टर फिल्म न्यूड का पोस्टर

न्यायालय में जाएगा मामला...

मनीषा ने कहा कि शुरुआत में सोच रही थी कि जाधव बेहतरीन फिल्मकार हैं। अगर सम्मानजनक पारिश्रमिक और क्रेडिट देंगे तो मैं आपत्ति नहीं जताऊंगी, लेकिन उनके रवैए से साफ जाहिर है कि हिंदी के साहित्यकारों को वे ऐरा-गैरा समझते हैं। मैंने जाधव को कानूनी नोटिस भिजवाकर कहा है कि एक निश्चित समय अवधि के दौरान फिल्म को रि-एडिट कर क्रेडिट और पारिश्रमिक दें। ऐसा न करने पर मामले को सक्षम न्यायालय के समक्ष रखा जाएगा।

राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ

कितनी है समानता !

जानकारों की मानें तो कहानी और फिल्म, दोनों जगह एक न्यूड मॉडल की स्टोरी ही है। `कालिंदी' में गरीब महिला जमुना को दिखाया गया है, जो न्यूड पोज करती है। बेटा मां पर संदेह करता है कि वो किसी गलत व्यवसाय में है। फिल्म में भी यही किरदार हैं। मनीषा कह चुकी हैं - ये (फिल्ममेकर्स) हिंदी के लेखकों की स्टोरी चुराते हैं और उन्हें उपेक्षा की दृष्टि से देखते हैं। बता दें कि मनीषा की कहानी का अंग्रेजी अनुवाद भी छप चुका है। जब उन्हें `न्यूड' के बारे में पता चला था, तब उन्होंने फैसला किया था कि रिलीज के बाद नोटिस भेजेंगी, लेकिन अब उन्होंने यह कदम पहले ही उठा लिया है। इस बारे में फिल्म के निर्देशक रवि जाधव का पक्ष जानने के लिए कई बार फोन और मैसेज पर संपर्क साधने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

X
फिल्म न्यूड का पोस्टर और राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठफिल्म न्यूड का पोस्टर और राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ
राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ  और जाधव के बीच चैटराइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ और जाधव के बीच चैट
फिल्म न्यूड का पोस्टरफिल्म न्यूड का पोस्टर
राइटर मनीषा कुलश्रेष्ठराइटर मनीषा कुलश्रेष्ठ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..