--Advertisement--

तुषार कपूर बेटे के साथ मनाएंगे चिल्ड्रन्स डे, ये हैं प्लान्स

तुषार कपूर की दिवाली में रिलीज हुई फिल्म ‘गोलमाल अगेन’ ने 200 करोड़ के क्लब में एंट्री कर ली है।

Dainik Bhaskar

Nov 14, 2017, 12:57 PM IST
तुषार , एकता , जितेन्द्र और  लक्ष्य तुषार , एकता , जितेन्द्र और लक्ष्य
मुंबई. तुषार कपूर की दिवाली में रिलीज हुई फिल्म ‘गोलमाल अगेन’ ने 200 करोड़ के क्लब में एंट्री कर ली है। दरअसल तुषार अपने बेटे लक्ष्य को काफी लकी मानते हैं। बता दें फिल्म के सेट पर तुषार अपने बेटे लक्ष्य को भी लेकर जाते थे क्योंकि तुषार को अपने बेटे से दूर रहना बिलकुल पसंद नहीं है। जब वो उसके साथ होते हैं तो वो भी एक दम बच्चे ही बन जाते हैं। बाल दिवस के खास मौके पर DainikBhaskar.com ने की तुषार कपूर से खास बातचीत...
बच्चे ‘चिल्ड्रन्स डे’ को स्कूल में काफी एन्जॉय करते हैं? लक्ष्य को लेकर क्या प्लान हैं?
इस खास दिन पर प्लेस्कूल्स में पार्टी होस्ट की जाती है। पार्टी का थीम है ‘केंपेनिंग’। जिसमें बच्चों के लिए फन राइड्स हैं। मैं लक्ष्य को लेकर काफी एक्साइटेड हूं। उसके लुक के लिए मैंने काफी कुछ प्लान किया है। उसके साथ तो मैं भी बच्चा ही बन जाता हूं। लक्ष्य के साथ तो ऐसा लगता है जैसे में डिजनीलैंड में हूं।
आगे की स्लाइड्स में जानें बाकी बातचीत...
तुषार कपूर और लक्ष्य तुषार कपूर और लक्ष्य
लक्ष्य और तैमूर की फोटोज काफी वाइरल होती हैं। क्यो दोनों एक ही प्ले स्कूल में हैं?
नहीं, दोनों अलग अलग स्कूल में हैं। वो कभी कभी मिल लेते हैं। दोनों ही साथ में खूब मस्ती करते हैं। एक तरफ जहां तैमूर को लक्ष्य के खिलौने चाहिए तो वहीं लक्ष्य को तैमूर के खिलौने। लक्ष्य सभी के साथ जल्दी ही मिक्स हो जाता है और मस्ती करता है।
तुषार कपूर और लक्ष्य तुषार कपूर और लक्ष्य
लक्ष्य के साथ जब होते हो तो क्या रूटीन रहता है?
जब लक्ष्य साथ होता है तो मैं आठ बजे उठ जाता हूं। जब तक वो बाथ ले चुका होता है और नहाने के बाद वो करीब 30 मिनट सोता है। जब तक मैं जिम जाता हूं और बाथ वगैरह लेकर रेडी हो जाता हूं। उसके बाद मैं उसके साथ खेलना शुरू करता हूं। मैं एक बजे तक ऑफिस जाता हूं और 4 बजे तक लौट आता हूं। शाम को मैं उसके साथ घूमने जाता हूं। हम शाम को 7.30 तक वापस आते हैं। उसको 8 बजे तक डिनर करवा देते हैं और फिर सुला देते हैं। उसके सोने के बाद मैं डिनर करता हूं और अपने बाकी काम खत्म करता हूं। जब मैं उससे दूर होता हूं तो मुझे गिलटी फील होता है।
एकता कपूर और लक्ष्य एकता कपूर और लक्ष्य
लक्ष्य के ज्यादा करीब कौन है, आपके पापा जितेन्द्र या फिर आपकी बहन एकता कपूर ?
मेरे बाद एकता ही के साथ वो सबसे ज्यादा एन्जॉय करता है। यहां तक कि एकता भी लक्ष्य के साथ बच्ची हो जाती है। वो उसके साथ पीक-आ-बू खेलती है। हर सुबह वो मेरे साथ खेलता है उसके बाद उसे एकता चाहिए होती है। एकता लक्ष्य को हंसाने के लिए खूब हरकते करती हैं। एकता और लक्ष्य एक दूसरे के लिए काफी खास हैं।
लक्ष्य लक्ष्य
लक्ष्य को सबसे ज्यादा पेंपर कौन करता है?
मेरे पापा। वो तो लक्ष्य के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं। उनके लिए पोते से बढ़कर कुछ भी नहीं है। मुझे तो ऐसा लगता है कि लक्ष्य और मेरा पापा साइन लैंग्वेज में एक दूसरे से बात भी करते हैं। जैसे इसमें लाइट बंद करना और ऑन करना शामिल है। एक तरफ जहां वो सिर्फ दादा की गोदी में रहता है तो वहीं मैं कोशिश करता हूं कि उसको ज्यादा से ज्यादा उसके फीट का इस्तेमाल करने दूं।
तुषार कपूर और लक्ष्य तुषार कपूर और लक्ष्य
क्या वो बात करता है?
वो बात करता है, चलता है दौड़ता है। वो कार, कैट जैसे शब्द भी बोलता है। वो मुझे पापा बुलाता है। वो डॉग, टाइगर जैसे जानवरों की भी आवाज निकालता है। वो बहुत अच्छे से सीख रहा है।
 
X
तुषार , एकता , जितेन्द्र और  लक्ष्यतुषार , एकता , जितेन्द्र और लक्ष्य
तुषार कपूर और लक्ष्यतुषार कपूर और लक्ष्य
तुषार कपूर और लक्ष्यतुषार कपूर और लक्ष्य
एकता कपूर और लक्ष्यएकता कपूर और लक्ष्य
लक्ष्यलक्ष्य
तुषार कपूर और लक्ष्यतुषार कपूर और लक्ष्य
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..