--Advertisement--

ट्विंकल बोली- अगर पीरियड्स नहीं होते तो दुनिया में कोई भी पैदा नहीं होता

ट्विंकल खन्ना ने एक इंटरव्यू में कहा कि हमारे समाज के हर शख्स को पीरियड्स को शर्म से जोड़ने वाली सोच को बदलना होगा।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 12:04 PM IST
ट्विंकल खन्ना। इनसेट में फिल्म पैडमैन का पोस्टर। ट्विंकल खन्ना। इनसेट में फिल्म पैडमैन का पोस्टर।

डायरेक्टर आर बाल्की की फिल्म 'पैडमैन' शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। फिल्म की प्रोड्यूसर ट्विंकल खन्ना ने हाल ही में इस फिल्म से जुड़े सब्जेक्ट पर अपनी राय खुलकर रखी। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि पीरियड्स एक सामान्य प्रक्रिया है और इस पर बात करने में शर्म महसूस नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि महिलाओं को पीरियड्स नहीं होते तो दुनिया में कोई भी पैदा नहीं होता। उन्होंने कहा कि हमारे समाज के हर शख्स को पीरियड्स को शर्म से जोड़ने वाली सोच को बदलना होगा। उन्हें उम्मीद है कि फिल्म 'पैडमैन' देखने के बाद लोगों की सोच में बदलाव आएगा। ट्विंकल बोली उन्होंने पीरियड्स पर कई आर्टिकल लिखे हैं...


इंटरव्यू के दौरान ट्विंकल ने बताया कि उन्होंने पीरियड्स पर कई आर्टिकल लिखे हैं। इसी दौरान उन्हें मुरुगनाथम की कहानी के बारे में पता चला। वे उनसे बहुत ज्यादा प्रभावित हुई क्योंकि उन्हें उनकी स्टोरी इंस्पीरेशन से भरी लगी। उन्होंने बताया कि ये कहानी एक ऐसे शख्स की है, जिसने अपनी वाइफ के लिए इतना बड़ा कदम उठाया। मुरुगनाथम की कहानी को फिल्म के जरिए लोगों तक पहुंचाना चाहते थे। इसलिए इसे रोचक तरीके से पेश किया, ताकि लोग इसे देखने आए। और अपनी सोच में चेंज लाए।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें पीरियड्स पर और क्या बोली ट्विंकल खन्ना...

ट्विंकल खन्ना। ट्विंकल खन्ना।

ट्विंकल ने इंटरव्यू में कहा कि अब टीवी पर आने वाले सेनेटरी नैपकिन के विज्ञापनों में बदलाव देखने को मिल सकता है। सेनेटरी नैपकिन के ऐड में पीरियड्स के बारे में बताने के लिए नीले रंग का पदार्थ दिखाया जाता है, लेकिन शायद अब इस नीले रंग की जगह लाल रंग दिखाया जाए। 

 

ट्विंकल खन्ना। ट्विंकल खन्ना।

वे कहती है अक्सर दुकानदार महिलाओं को सेनेटरी पैड पेपर या फिर काली पन्नी में बंधकर देते हैं। इससे भी महिलाओं को असहज महसूस होता है।