--Advertisement--

MOVIE REVIEW: शुद्ध देसी रोमांस

ये कुछ ऐसे बैचेन इशकजादों की स्टोरी है जो समाज के बनाए नियम कानून नहीं मानते और अपने दिल की सुनते भी हैं करते भी हैं।

Dainik Bhaskar

Sep 06, 2013, 12:58 AM IST
Movie review of Shudh desi romance
'शुद्ध देसी रोमांस' आज के युवाओं की स्टोरी है जो मॉडर्न तो हैं, लेकिन उनका दिल देसी है। उनकी कहानी में अट्रैक्शन, प्यार और फ्रस्ट्रेशन सबकुछ है।ये कुछ ऐसे बैचेन इशकजादों की स्टोरी है जो समाज के बनाए नियम-कानून नहीं मानते और अपने दिल की सुनते भी हैं, करते भी हैं। मगर ये इतना आसान नहीं होता। एक ऐसा समय आता है, जब अपने इसी बिंदास रवैये के चलते इन्हें समाज और परिवार का विरोध झेलना पड़ता है। तब क्या इनका प्यार हार मान जाता है? फिल्म की कहानी इसी पर है।
'शुद्ध देसी रोमांस' की कहानी तीन लोगों के इर्द-गिर्द घूमती है। रघु (सुशांत सिंह राजपूत) एक गाइड है। वह जयपुर में रहता है। यहीं उसकी मुलाकात गायत्री (परिणीति चोपड़ा) से होती है। विचारों से बोल्ड मगर पहनावे और दिल से देसी गायत्री का दिल रघु पर आ जाता है और वह उसे लिव-इन रिलेशन में रहने का ऑफर देती है।
रघु भी दिलफेंक है। वह उसके ऑफर को स्वीकार कर लेता है। फिर शुरू होती है इनकी प्रेम कहानी, ढेर सारे रोमांटिक सीन्स और नोंक-झोंक भी। सब कुछ ठीक चल रहा होता है। ऐसे में एक दिन रघु टकराता है तारा (वाणी कपूर) से, जो बहुत ही आधुनिक और स्ट्रेट फॉरवर्ड लड़की है। जो दिमाग में चल रहा होता है, मुंह पर बोल देती है। रघु भी उसकी इसी अदा पर मर मिटता है। तारा यह बाद समझ जाती है और उससे सीधा कहती है, किस्सी विस्सी करने का मन कर रहा है तो कर न, बेवजह बातें बनाकर टाइम क्यों वेस्ट कर रहा है?
अब ऐसे में दो हसीनाओं के बीच में फंसता है रघु और शुरू होता है असली झमेला।फिल्म में रघु तारा और गायत्री में से किसे चुनता है, आगे यही लव ट्रायंगल रोचक तरीके से दिखाया जाता है।
निर्देशन: 'बैंड बाजा बारात' जैसी उम्दा और 'लेडीज वर्सेस रिकी बहल' जैसी औसत दर्जे की फिल्म बनाने के बाद मनीष शर्मा ने इस फिल्म का निर्देशन किया है। लिव-इन रिलेशनशिप जैसे बोल्ड सब्जेक्ट को उन्होंने मनोरंजंक तरीके से दिखाने की कोशिश की है। उनका निर्देशन बढ़िया है।
एक्टिंग: सुशांत सिंह राजपूत एक यंग टैलेंटेड एक्टर के तौर पर उभरकर सामने आये हैं। उन्होंने अपने किरदार को बखूबी निभाया है। परिणीति अपने बोल्ड किरदार को निभाने में सफल साबित हुई हैं, मगर कहीं-कहीं अति बोल्डनेस भी उनके किरदार पर हावी होती दिखती है।
सरप्राइज पैकेज के तौर पर उभरकर सामने आई हैं नई-नवेली वाणी कपूर। उनकी नेचुरल एक्टिंग आपको दंग करके रख देती है।वह बहुत ही चार्मिंग हैं और इस फिल्म में उनके अभिनय को देखकर लगता है कि बॉलीवुड में वह लंबी पारी खेल सकती हैं।
कुल मिलकर देखा जाये तो फिल्म मनोरंजक है, मगर बोल्ड सब्जेक्ट की वजह से फैमिली के साथ देखने पर आप असहज हो सकते हैं।किरदारों की बढ़िया परफ़ॉर्मेंस और सब्जेक्ट के फ्रेश ट्रीटमेंट की वजह से इस फिल्म को वीकेंड पर देखने का रिस्क आप एक बार उठा सकते हैं। हमारी तरफ से इसे 2.5 स्टार।
X
Movie review of Shudh desi romance
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..