विज्ञापन

MOVIE REVIEW: 'वार्निंग' / MOVIE REVIEW: 'वार्निंग'

dainikbhaskar network

Sep 27, 2013, 12:05 AM IST

यह इंडिया की पहली ऐसी फिल्म है जिसे अंडरवाटर शूट किया गया है और वह भी थ्रीडी में।

Movie review of Warning
  • comment
इस हफ्ते एक अलग कॉन्सेप्ट पर बनी फिल्म वार्निंग से दर्शक रूबरू होंगे। अलग इसलिए क्योंकि यह इंडिया की पहली ऐसी फिल्म है जिसे अंडरवाटर शूट किया गया है और वह भी थ्रीडी में। फिल्म की कहानी सात युवाओं की है जो पांच साल बाद मिलने का प्लान बनाते हैं और छुट्टियां मनाने के लिए एक बीच पर जाते हैं। इस बीच पर पहुंचने के लिए वह लग्जरी याट का सहारा लेते हैं। सब मिलते हैं और पुरानी यादों को ताजा कर खूब हंसते हैं, खुश होते हैं और मस्ती में डूब जाते हैं। तैरने का आनंद लिया जाता है। गहरे समंदर में सभी उतर जाते हैं। इस बात से वे अनजान हैं कि एक मुसीबत उन पर टूटने वाली है। यह मुसीबत उनकी जिंदगी को खतरे में डाल देगी। भाग्यशाली होंगे वे लोग जो मारे जाएंगे। बचने वाले सोचेंगे कि इस मुसीबत में पड़ने की बजाय तो वे भी मारे जाते।
सात दोस्त पांच वर्ष बाद मिलते हैं। इन पलों को यादगार बनाने के लिए वे खूबसूरत समंदर के बीच लग्ज़री याट के जरिये पहुंच जाते हैं। पुराने दिनों को याद किया जाता है। पांच वर्षों में किसने क्या किया, ये बताया जाता है। भावुकता के पल भी आते हैं। सारा का यह पहला जन्मदिन है। जब ये बात पता चलती है तो शैम्पेन की बोतल खुल जाती है।
फिल्म के सारे कलाकार युवा और नए हैं। सभी का चयन ऑडिशन के जरिए हुआ। वैसे, फिल्म की कहानी की मांग ही यही थी, इसलिए सभी का चुनाव सही भी है। सभी ने अपने किरदार के साथ न्याय किया है। फिल्म में कई जगह भरपूर सस्पेंस है और इससे एक रोमांच भी पैदा होता है, मगर यह ज्यादा समय तक बरकरार नहीं रह पाता। कहानी कहीं-कहीं बेहद ढीली हो जाती है और नए कलाकार सीन की मांग के अनुसार एक्टिंग नहीं कर पाते।
निर्देशक के तौर पर गुरमीत सिंह ने इसे थ्रीडी में बनाकर काफी साहसिक काम किया है। गुरमीत ने फिल्म की 80 फीसदी शूटिंग दक्षिण प्रशांत महासागर में की है। कुल मिलाकर कहा जाये तो वीकेंड पर कुछ खास करने लायक न हो तो इस फिल्म को एक बार देखा जा सकता है।

X
Movie review of Warning
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन