रिव्यूज़

--Advertisement--

मूवी रिव्यूः हाऊसफुल 2

इस नॉन स्टॉप कॉमेडी में अक्षय और जॉन की बेहतरीन केमेस्ट्री, जॉनी लीवर के साथ-साथ मिथुन, ऋषि कपूर और रणधीर कपूर जैसे एक्टरों की लाजवाब एक्टिंग देखनी हो

Dainik Bhaskar

Apr 07, 2012, 06:40 PM IST

हाऊसफुल 2 की कहानी में कई पात्र हैं। चिंटू (ऋषि कपूर) और डब्बू (रणधीर कपूर) भाई हैं, जिनमें आपस में बिल्कुल नहीं पटती। दोनों की एक-एक बेटी हैं, हीना (असिन) और बॉबी( जैकलीन)।



चिंटू और डब्बू अपनी बेटियों की शादी लंदन में बसे एक अरबपति जेडी (मिथुन चक्रवर्ती) से करना चाहते हैं। जेडी को पहले से एक बेटा है, जॉली (रितेश देशमुख)।



इस बीच, चिंटू के कारण जय(श्रेयस तलपड़े) के पिता को हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़ता है। चिंटू से अपने पिता का बदला लेने के लिए जय तीन लोगों- सन्नी (अक्षय कुमार), मैक्स (जॉन अब्राहम) और जॉली (रितेश देशमुख)- को अपने साथ लेकर एक मिशन शुरू करता है।



स्टोरी ट्रीटमेंटःहाऊसफुल की तरह, इस फिल्म की कहानी को पर्दे पर कहने के ढ़ंग में कुछ कमियां रह गई हैं। हालांकि कहानी बहुत उलझी हुई है, फिर भी इसे सुलझे हुए तरीके से कहने की कोशिश डायरेक्टर ने की है। इसमें वह कामयाब हैं लेकिन फिल्म के डायलॉग्स कई सीन्स में दर्शकों को हंसाने में नाकामयाब हैं।



इंटरवल के बाद सिनेमा काफी रोचक और मनोरंजक हो जाता है। उसके बाद कुछ मेमोरेबल मोमेंट्स आते हैं। जॉनी लीवर की सिंपल और क्रिएटिव कॉमेडी इस फिल्म की जान हैं और वह दर्शकों को गुदगुदाने में कामयाब हैं।



स्टार कास्ट:अक्षय कुमार ने इस फिल्म में एक बार फिर खुद को कॉमेडी रोल में साबित करने में कामयाब रहे हैं। जॉन अब्राहम ने भी नेचुरल एक्टिंग की है। रितेश और श्रेयस, कॉमिक सीन्स में एक-दूसरे को सपोर्ट करते नज़र आते हैं।



ऋषि कपूर और रणधीर कपूर ने लालची बाप के रोल में जबर्दस्त एक्टिंग की है। असिन, जैकलीन, ज़रीन और शहजान पद्मसी अपने-अपने एक्टिंग स्पेस में ग्लैमरस लगी हैं हालांकि फिल्म में उनके लिए करने को कुछ खास नहीं है।



मिथुन चक्रवर्ती की एक्टिंग भी बेहतरीन है। बोमन इरानी अपनी छोटी भूमिका में प्रभाव छोड़ने में सफल हैं। जॉनी लीवर और चंकी पांडे इस फिल्म की लाइफलाइन हैं। मलाइका अरोड़ा खान ने भी अच्छा अभिनय किया है।



डायरेक्शनःसाजिद खान ने एक बेहद जटिल स्क्रिप्ट पर एक सुलझी हुई फिल्म बनाने की कोशिश की है और उन्होंने साबित किया है कि वह इसमें मास्टर हैं। उनका डायरेक्शन बेहतरीन है इसलिए दर्शकों को कहानी समझने में दिमाग नहीं लगाना पड़ता।



हाऊसफुल 2 में बड़ी उम्र के कलाकारों को लिया गया है। उन कलाकारों पर फिल्माए गए सीन्स को इस फिल्म में स्पेस दिया गया है और डायरेक्टर हर उम्र के दर्शकों को एक मनोरंजक फिल्म देने में कामयाब हुए हैं।



म्यूजिक/डायलॉग्स/सिनेमेटोग्राफी/ए़डिटिंगःइस फिल्म की म्यूजिक बेहतरीन है। 'पापा तो' और 'अनारकली डिस्को चली' सान्ग तो बहुत पहले से म्यूजिक चार्ट में टॉप पर चल रही हैं।



डायलॉग्स कहीं-कहीं सेंसलेस है लेकिन जैसे-जैसे कहानी का प्लॉट आगे बढ़ता है, वह भी बेहतर होती चली जाती है। सिनेमेटोग्राफी में क्रिएटिविटी का अभाव है। सही एडिंटिंग ना होने की वजह से फिल्म बहुत लंबी हो गई है।



क्यूं देखें:शानदार डायरेक्शन, बेहतरीन एक्टिंग, म्यूजिक और कुछ हद तक डायलॉग्स; इस फिल्म के स्ट्रॉंग प्वाइंट्स हैं। लंबी स्क्रीनप्ले, खराब ए़डिटिंग, स्क्रिप्ट में मौलिकता का अभाव; फिल्म की कुछ कमियां हैं।



इस नॉन स्टॉप कॉमेडी में अक्षय और जॉन की बेहतरीन केमेस्ट्री, जॉनी लीवर के साथ-साथ मिथुन, ऋषि कपूर और रणधीर कपूर जैसे एक्टरों की लाजवाब एक्टिंग देखनी हो तो इस फिल्म का टिकट बुक करा सकते हैं।



X
Click to listen..