--Advertisement--

मूवी रिव्यू: 'पान सिंह तोमर'

हालातों से मजबूर पान सिंह को एक आम इंसान से डकैत बनते देखना बहुत ही दिलचस्प होता जाता है।

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2012, 11:17 AM IST

कहानी:पान सिंह तोमर भारत के गुमनाम एथलीट खिलाड़ी पान सिंह तोमर की जिंदगी पर ही आधारित है। चंबल गांव के निवासी पान सिंह सात साल तक लगातार एथलेटिक्स के नेशनल चैंपियन रहे मगर हालातों से मजबूर होकर वह डकैत बन गए।

अपनी जमीन के छोटे से टुकड़े को पाने के लिए वे आठ सालों तक जूते घिसते रहे। आखिर हालात से विवश होकर उन्होंने बंदूक उठाने का बेहद कठोर निर्णय लिया। जैसे जैसे कहानी आगे बढ़ती है हालातों से मजबूर पान सिंह को एक आम इंसान से डकैत बनते देखना बहुत ही दिलचस्प होता जाता है।

स्टोरी ट्रीटमेंट:तगड़ी स्क्रिप्ट और जबरदस्त स्क्रीनप्ले की वजह से फिल्म आपको जबरदस्त तरीके से बांधे रखती है। फिल्म की खास बात ये है कि आप जानते हैं कि आग क्या होगा मगर तब भी इसे इतने बढ़िया तरीके से बनाया गया है कि आप पान सिंह को देखते हुए बोर नहीं हो सकते।

स्टार कास्ट:इरफ़ान खान का नाम बॉलीवुड के बेहतरीन अभिनेताओं में शुमार किया जाता है और इस फिल्म से उन्होंने बिलकुल भी निराश नहीं किया है। इस फिल्म के जरिये एक बार फिर उनके जबरदस्त अभिनय के दर्शन हुए हैं। एक आम इंसान से खूंखार डकैत बनने के सफ़र को इरफ़ान ने बहुत ही स्वभाविकता से निभाया है। माही गिल ने पान सिंह की बीवी के तौर अपने छोटे से रोल में बढ़िया परफ़ॉर्मेंस दी है|मेजर के किरदार में विपिन शर्मा फिट बैठे हैं।

म्यूज़िक/डायलॉग्स/एडिटिंग: फिल्म की कहानी ऐसी है कि इसमें संगीत का कोई खास महत्त्व नहीं है फिर भी थीम सॉन्ग बढ़िया है। जोरदार डायलॉग्स फिल्म की खासियत हैं हालांकि एडिटिंग पर कुछ और ध्यान दिया जाता तो फिल्म और रोचक हो जाती।




क्यों देखें: इरफ़ान खान की शानदार एक्टिंग, बेहतरीन निर्देशन, धांसू डायलॉग्स के चलते यह फिल्म एक बार तो जरूर देखी जा सकती है।



X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..