--Advertisement--

जिस फिल्म ने इस डायरेक्टर को किया था फेमस, उसमें हुई थीं ऐसी Mistakes

आज के दौर में यह फिल्म हर दो-तीन दिन में किसी न किसी टीवी चैनल पर चलती देखी जा सकती है।

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 02:09 PM IST
फिल्म 'शोले' के दो सीन। इनसेट में डायरेक्टर रमेश सिप्पी। फिल्म 'शोले' के दो सीन। इनसेट में डायरेक्टर रमेश सिप्पी।

मुंबई. डायरेक्टर रमेश सिप्पी 71 साल के हो गए हैं। 23 जनवरी 1947 को कराची, ब्रिटिश इंडिया (अब पकिस्तान) में जन्मे सिप्पी को उनकी फिल्म 'शोले' के लिए खासकर जाना जाता है, जो 15 अगस्त 1975 को रिलीज हुई थी। आज के दौर में यह फिल्म हर दो-तीन दिन में किसी न किसी टीवी चैनल पर चलती देखी जा सकती है। फिल्म में दोस्ती, रोमांस, एक्शन और ट्रेजिडी सब कुछ डाला गया है। लेकिन डायरेक्टर की हलकी सी चूक के कारण फिल्म में कई फनी मिस्टेक्स भी देखने को मिलती हैं।नजर डालते हैं ऐसी ही कुछ गलतियों पर, जो हैं तो छोटी-छोटी, लेकिन इनसे बचा जा सकता था...

फिल्म के मुताबिक, रामगढ़ में बिजली नहीं थी। ठाकुर की बहू का लालटेन जलाना इसी बात का सबूत था। लेकिन बसंती को पाने के लिए वीरू जिस टंकी पर चढ़ता है, उसमें पानी कैसे पहुंचता होगा और ठाकुर की हवेली के बाहर इलेक्ट्रिक नाइट लैम्प क्यों लगाए गए थे।

आगे की स्लाइड्स में डालिए ऐसी ही 14 और मिस्टेक्स पर नजर...

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

जब गब्बर तीन डाकुओं को गोली मारता है तो वे उसके ठीक सामने की ओर मुंह करके खड़े होते हैं। लेकिन अगले सीन में दिखाई देता है कि एक डाकू की पीठ और दूसरे के माथे पर गोली लगी है। क्या गोली चक्कर लगाकर डाकू के शरीर में धंसी।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

इस सीन में होर्डिंग को ध्यान से देखें तो उसमें कन्नड़ भाषा में कुछ लिखा है। अब यह समझ नहीं आता कि जब कहानी नॉर्थ इंडिया के एक गांव की थी तो जय-वीरू साउथ में क्या कर रहे थे।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

डाकुओ को बचाने के लिए बसंती लकड़ी के पुल को तोड़ देती है। डाकू दूसरे रास्ते से जाने को मजबूर हो जाते हैं। वीरू को भी पुल टूटा मिलता है। लेकिन जब जय और वीरू बसंती को बचाकर वापस लौटते हैं तो पुल जुड़ा हुआ मिलता है। ताज्जुब वाली बात है कि इतने कम समय में पुल ठीक कैसे हो जाता है।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

जब बसंती मंदिर जाती है तो पैदल रहती है। यहां तक कि वीरू भी उससे पूछता है, 'आज तेरी धन्नो कहां है।' लेकिन यह बात समझ से परे है कि लौटते वक्त बसंती को अपना तांगा बाहर खड़ा कैसे मिलता है।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

ठाकुर जब गांव लौटता है तो उसके परिवार के सदस्यों की लाश से कफ़न उड़ जाता है। लेकिन अगले ही सीन में सब ढंके हुए दिखते हैं। दो सेकंड में यह कमाल कैसे हुआ, यह मेकर्स से बेहतर कौन बता सकता है।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

परिवार की लाशें देखने के बाद जब ठाकुर गब्बर को मारने को जाता है तो काले सफ़ेद चित्तेदार घोड़े पर सवार होता है। लेकिन रास्ते में घोड़ा भूरे रंग का हो जाता है, जिस पर सफ़ेद चित्ते भी नजर नहीं आते। अब यह कहना तो मुश्किल ही है कि ठाकुर ने घोड़े का रंग बदलवा लिया या घोड़ा ही बदल लिया।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

एक सीन में जय डाकुओं से लड़ते-लड़ते जमीन पर गिरता है और पिस्तौल चलाता है। उसकी एक गोली से दो डाकू घोड़े से गिर जाते हैं। एक गोली से दो लोग कैसे मर सकते हैं?

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

इस सीन में पहले खंभों की परछाई नहीं होती। लेकिन अगले ही पल परछाई दिखाई देने लगती है।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

इस सीन को ध्यान से देखें तो पहले वीरू की टी-शर्ट पर पसीने के निशान दिखाई देते हैं। लेकिन अगले ही पल वे अपने आप गायब हो जाते हैं।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

इस सीन को ध्यान से देखने पर पता चलता है कि एक ही सेकंड में गब्बर की परछाई उल्टी दिशा में हो जाती है।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

इस स्टेशन पर न कोई कुली है, न टिकिट चैकर और न ही कोई और पैसेंजर। तो क्या सिर्फ ठाकुर के परिवार के लिए यह ट्रेन स्पेशली चलाई गई थी।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

इस ट्रेन में कोयला जा रहा था और दूसरी पैसेंजर ट्रेन न मिलने की वजह से ठाकुर जय-वीरू को इसी से ले जाता है। सवाल यह है कि क्या डाकू कोयला लूटने के लिए ट्रेन पर हमला करते हैं।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

फिल्म के क्लाइमैक्स में जब जय पुल के पास आता है तो उसकी हथेलियां खुली रहती हैं। लेकिन जब वह वीरू की बाहों में मरता है तो उसके हाथ में सिक्का मिलता है। अब यह बात तो मेकर्स ही जानें कि सिक्का जय के हाथ में अचानक कैसे आ गया।

Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey

फिल्म को ध्यान से देखें तो क्लाइमैक्स में ठाकुर बलदेव सिंह जब गब्बर को मारता है तो कुर्ते की बांह से उसके हाथ दिखाई देते हैं। यह मिस्टेक फिल्म की एडिटिंग के दौरान हुई। खास बात यह है कि फिल्म को सिर्फ एक फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था और वो भी एडिटिंग के लिए।

X
फिल्म 'शोले' के दो सीन। इनसेट में डायरेक्टर रमेश सिप्पी।फिल्म 'शोले' के दो सीन। इनसेट में डायरेक्टर रमेश सिप्पी।
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Mistakes In Ramesh Sippy Movie Sholey
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..