सितारों के जन्मदिन

--Advertisement--

उस मां ने की ऐसे लिया था बदला, श्रीदेवी की वजह से टूटी थी जिसकी बेटी की शादी

अर्जुन कपूर की मां मोना शौरी उन महिलाओं में से एक हैं, जिनकी शादीशुदा जिंदगी दूसरी औरत के चलते बर्बाद हुई।

Danik Bhaskar

Feb 03, 2018, 03:33 PM IST
श्रीदेवी और बोनी कपूर। इनसेट में : सत्ती शौरी। श्रीदेवी और बोनी कपूर। इनसेट में : सत्ती शौरी।

मुंबई. अर्जुन कपूर की मां मोना शौरी उन महिलाओं में से एक हैं, जिनकी शादीशुदा जिंदगी दूसरी औरत के चलते बर्बाद हुई। जी हां, हम बात कर रहे हैं श्रीदेवी की। अगर श्रीदेवी बोनी कपूर की लाइफ में न आई होतीं तो उनका और बोनी का रिश्ता कभी न टूटता। बोनी ने श्रीदेवी के लिए मोना को तलाक दिया और उन्होंने इस अन्याय को चुपचाप बर्दाश्त कर लिया। लेकिन मोना की मां सत्ती शौरी को तभी से श्रीदेवी से नफरत करने लगी थीं, जब उनकी और बोनी की शादी नहीं हुई थी। प्रेग्नेंट श्रीदेवी के पेट में घूंसा मारने की कोशिश की थी...

- जून 2016 में पब्लिश हुए एक आर्टिकल के मुताबिक, 1996 में मोना और बोनी ऑफिशियली कपल थे। लेकिन श्रोदेवी बोनी की लाइफ में दूसरी महिला बनकर आईं। जब उनकी प्रेग्नेंसी की खबर मोना को मिली तो वे ज्यादा कुछ नहीं कर सकीं। लेकिन उनकी प्रोड्यूसर मां सत्ती शौरी बेटी के साथ हो रहे अन्याय से बेहद नाराज थीं।
- एक बार जब उन्हें पता चला कि न्यू ईयर ईव पर श्रीदेवी बोनी के साथ जुहू के एक फाइवस्टार होटल में कॉफ़ी पी रहे हैं तो वे वहां पहुंच गईं और पब्लिकली कपल्स पर हमला कर दिया।
- रिपोर्ट्स में यहां तक आया था कि सत्ती ने प्रेग्नेंट श्रीदेवी के पेट में घूंसा मारने की कोशिश की थी। गौरतलब है कि जाह्नवी कपूर उस वक्त श्रीदेवी की कोख में थीं।

बोनी के खिलाफ किया था सत्ती ने केस

- सत्ती ने अपनी बेटी को न्याय दिलाने की पूरी कोशिश की। यहां तक कि उन्होंने बोनी के खिलाफ के बड़ा केस दायर किया था। लेकिन चूंकि मोना नहीं चाहती थीं कि उनके बच्चों (अर्जुन और अंशुला) के पिता को जनता की अवहेलना का सामना करना पड़े। इसलिए कोर्ट ने इस केस में कोई कार्रवाई नहीं की।

आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, बोनी-श्री की शादी पर क्या था मोना का रिएक्शन...

बोनी कपूर और मोना शौरी। बोनी कपूर और मोना शौरी।

19 की उम्र में 10 साल बड़े बोनी से हुई थी मोना की शादी

 

- 2007 के एक इंटरव्यू में मोना ने बोनी के साथ अपने रिलेशनशिप पर खुलकर बात की थी। उन्होंने कहा था, "बोनी के साथ मेरी अरेंज मैरिज हुई थी। वे मुझसे 10 साल बड़े थे।" 
- "जब मैंने उनसे शादी की, तब मेरी उम्र 19 साल थी। हमारी शादी 13 साल पुरानी थी। यही वजह है कि जब मुझे पता चला कि मेरे हसबैंड किसी और से प्यार करते हैं तो धक्का लगा।"

मौना शौरी। मौना शौरी।

'उनका रिश्ता कायम हो चुका था'

 

- मोना ने इंटरव्यू में आगे कहा था, "दूसरे रिलेशनशिप के बारे में सिर्फ पढ़ा और सुना था। लेकिन जब यह मेरे साथ हुआ तो हर पॉइंट्स पर शादी ख़त्म हो चुकी थी। मेरे लिए प्यार से पहले सम्मान था।"
- "बोनी को अब मेरी नहीं किसी और की जरूरत थी। दूसरा मौक़ा देने के लिए रिश्ते में कुछ भी नहीं बचा था। क्योंकि श्रीदेवी प्रेग्नेंट हो चुकी थीं। उनका रिश्ता कायम हो चुका था। मेरा इससे बाहर निकलना ही बेहतर था।"

मौना शौरी, अर्जुन और अंशुला कपूर। मौना शौरी, अर्जुन और अंशुला कपूर।

बच्चों के लिए भी था बुरा दौर

 

- मोना ने इस इंटरव्यू में कहा था कि वह दौर बच्चों के लिए भी बहुत बुरा था। उन्होंने बताया था, "बेटा अर्जुन और बेटी अंशुला तब स्कूल में थे।"
- "दुनिया बड़ी जालिम है। जब आप पर बुरा समय आता है तो दुनिया आपके बारे में कयास लगाने लगती है, डिस्कस करने लगती है।"
- "स्कूल में मेरे बच्चों को भी क्लासमेट्स के बुरे-बुरे तानों का सामना करना पड़ा। लेकिन वे स्ट्रॉन्ग बने और फैक्ट्स को फेस किया।"

अंशुला और अर्जुन कपूर। अंशुला और अर्जुन कपूर।

बच्चों को नहीं रखा पिता से दूर

 

- मोना ने कहा था, "बच्चे मेरे साथ रहते हैं। लेकिन वे अपने पापा के करीब भी हैं। वे उनके साथ घूमते हैं, खाते हैं। मेरे मन में अपने पति को लेकर कोई दुर्भावना नहीं है।" 
- "अगर मैं बच्चों को उनसे दूर रखती हूं तो मैं बेरहम मां कहलाउंगी। क्योंकि मैं उनकी कमी पूरी नहीं कर सकती। मुझे एक आदमी की तरह सोचना नहीं आता। मैं उन्हें खुश देखना चाहती हूं।"

अर्जुन कपूर और मौना शौरी। अर्जुन कपूर और मौना शौरी।

2012 में कैंसर से हुई मोना की मौत

 

- मोना शौरी ने 25 मार्च 2012 को दुनिया को अलविदा कह दिया था। उनका निधन मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में कैंसर के चलते हुआ था। मोना अपने बेटे अर्जुन की पहली फिल्म 'इशकजादे' देखना चाहती थीं। 
- लेकिन वक्त ने उनका साथ नहीं दिया और फिल्म की रिलीज से पहले ही उनका निधन हो गया था। उनकी मौत के लगभग डेढ महीने बाद 'इशकजादे' रिलीज हुई थी।
- मोना जिंदगी के प्रति सकरात्मक सोच रखती थीं। उन्होंने बहन के साथ मिलकर प्रोडक्शन हाउस खोला और 'युग', 'विलायती बाबू', 'हेरा फेरी' और 'कैसा ये कानून' जैसे सीरियल बनाए। मुंबई में फ्यूचर स्टूडियो का निर्माण मोना के विजन का ही कमाल था।

Click to listen..