--Advertisement--

‘बियॉन्ड..' के लेखक का खुलासा, हेमा नहीं चाहती थीं कि उन पर किताब लिखी जाए

हेमा मालिनी 16 अक्टूबर को 69वां जन्मदिन मना रही हैं। इसके साथ आज ही भारतीय सिनेमा में उनके 50 वर्ष पूरे हो रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Oct 16, 2017, 10:04 AM IST
हेमा मालिनी हेमा मालिनी
मुंबई. हेमा मालिनी 16 अक्टूबर को 69वां जन्मदिन मना रही हैं। इसके साथ आज ही भारतीय सिनेमा में उनके 50 वर्ष पूरे हो रहे हैं। इस मौके पर उनकी किताब ‘बियॉन्ड द ड्रीमगर्ल' लॉन्च की जा रही है। इसके लेखक राम कमल मुखर्जी से DainikBhaskar.com ने खास बातचीत की...
राम कमल मुखर्जी कहते हैं, ‘हेमा मालिनी जैसी हस्ती को शब्दों और तस्वीरों में समेटा नहीं जा सकता। हां, अनदेखे-अनूठे चित्रों और घटनाओं के बयान के जरिए ‘ट्रिब्यूट' देने की कोशिश जरूर की जा सकती है। 2005 में हेमा जी पर आधारित, 1500 रुपए कीमत की कॉफी टेबल बुक ‘दीवा अनवील्ड' की 10 हजार कॉपी छपी थी। बाद में लगा कि मेहनत क्यों जाया होने दें और एक कंप्लीट किताब बनाएं। बीते 12 वर्षों में हेमा जी की जिंदगी में जो बदलाव आए हैं, उन्हें नई किताब में दर्ज करने की कोशिश की गई है। हमने हेमा जी को किताब की प्लानिंग के बारे में बताया तो उन्होंने मना करते हुए कहा - मैंने जीवन में अब तक ऐसा कुछ खास किया ही नहीं है कि मुझ पर पुस्तक लिखी जा सके।' हालांकि उनके हां कहने के बाद आहाना ने भी पहली बार इंटरव्यू दिया। ये किताब अगले साल हिंदी और बांग्ला में भी लाई जाएगी।’
आगे की स्लाइड्स में जानें बाकी बातचीत...
हेमा मालिनी हेमा मालिनी
सपनों का सौदागर' की शूटिंग चल रही थी....
1967 की बात है। ‘सपनों का सौदागर' की शूटिंग चल रही थी। ब्रेक टाइम में फिल्म की हीरोइन हेमा मालिनी आराम कर रही थीं। तभी पास से गुजरते हुए धर्मेंद्र ने दोस्त शशि कपूर से पंजाबी में कुछ कहा। तमिलियन हेमा मालिनी कुछ अरसा पहले ही मद्रास से आई थीं, पर वे समझ गईं कि धर्मेंद्र उन पर छींटाकशी कर रहे हैं। हेमा बताती हैं, ‘मैंने सुना और समझा भी, लेकिन उन्हें इग्नोर कर दिया।' बात ये है कि हेमा बचपन में दिल्ली में रह चुकी थीं। उन्हें हिंदी अच्छी तरह समझ में आती थी और पंजाबी तो उससे भी ज्यादा! हेमा की जिंदगी में बहुत-से मोड़ आए हैं। दिलचस्प और डरा देने वाले भी। जब वे पहली बार जुहू के बंगले में शिफ्ट हुईं तो अक्सर रात में अजीब सी हलचल दिखाई देती। धीरे-धीरे लोग उसे भूत बंगला कहने लगे, लेकिन हेमा मालिनी को यकीन था कि भूत जैसी किसी चीज का वजूद नहीं होता। 
हेमा मालिनी हेमा मालिनी
भारतीय सिनेमा में पांच दशक...
सफलता-असफलता के उतार-चढ़ाव से जूझते हुए हेमा मालिनी ने भारतीय सिनेमा में पांच दशक पूरे कर लिए हैं, लेकिन वे न रुकी हैं, न थकी हैं। लगातार कुछ न कुछ नया कर लोगों को अचरज में डालती जा रही हैं। हाल में ही वे सिंगर भी बन गई हैं। हेमा मालिनी ने जीवन के उस पड़ाव पर गायकी की ट्रेनिंग हासिल की है, जब लोग रिटायरमेंट ले लेते हैं। 
X
हेमा मालिनीहेमा मालिनी
हेमा मालिनीहेमा मालिनी
हेमा मालिनीहेमा मालिनी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..