--Advertisement--

इस एक्ट्रेस के बाथरूम से मिले थे लाखों रुपए, बचाने के लिए इस हद तक गईं

गुजरे जमाने की एक्ट्रेस माला सिन्हा आज 81 साल की हो गई हैं। उनका जन्म 11 नवंबर, 1936 को कोलकाता में हुआ था।

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2017, 07:31 PM IST
अब ऐसी दिखने लगी हैं माला सिन्हा। अब ऐसी दिखने लगी हैं माला सिन्हा।
गुजरे जमाने की एक्ट्रेस माला सिन्हा आज 81 साल की हो गई हैं। उनका जन्म 11 नवंबर, 1936 को कोलकाता में हुआ था। कई सुपरहिट फिल्मों में काम करने वाली माला सिन्हा के बारे में कहा जाता है कि वे बेहद कंजूस थी। वे ही नहीं उनके पिता अल्बर्ट सिन्हा भी उन्हीं की तरह कंजूस थे। खबरों की मानें तो एक बार उनके घर पर इनकम टैक्स वालों ने छापा मारा, जिसमें उनके बाथरूम की दीवार से 12 लाख रुपए बरामद हुए थे। इन पैसों को बचाने के लिए माला सिन्हा इस हद तक चली गई थीं कि उन्होंने कोर्ट में ये लिखकर दिया था कि उन्होंने ये पैसे फिजिकल रिलेशन बनाकर कमाए हैं। और यह सब उन्होंने अपने वकील की सलाह पर किया था...


माला सिन्हा के घर इनकम टैक्स वालों ने छापामारकर रुपए बरामद किए। मामला कोर्ट के पास चला गया। अल्बर्ट और माला को यह रकम वापस मिल जाए, इसके लिए अल्बर्ट के वकील ने तमाम तर्क दिए। लेकिन कहा जाता है कि अदालत पर कोई असर होते न देख अल्बर्ट के वकील ने उन्हें सलाह दी- इन पैसों को पाने का एक ही तरीका है, जिसमें तुम्हें माला की मदद लेनी पड़ेगी। अल्बर्ट से वकील ने कहा, माला को लिखित में स्वीकारना होगा कि उसने ये रुपए फिजिकल रिलेशन बनाकर कमाए हैं। आपको बता दें कि माला तब फिल्म इंडस्ट्री की बहुत चर्चित स्टार थीं...। माला के लिए स्वयं को यूं पेश करना आसान कतई नहीं था, मगर अपने पिता की तरह वे भी पैसों की बेहद लालची थीं। आखिरकार माला ने कोर्ट में वो बात कुबूल की जैसा करने को वकील ने कहा था। ऐसे में अदालत को आपत्ति नहीं हुई और माला को उनके पैसे लौटा दिए गए।
बता दें कि अपने दौर में माला सिन्हा बहुत कामयाब एक्ट्रेस थीं। यह बात अलग है कि फीस के रूप में काफी मोटी रकम हासिल करने वाली माला स्वभाव से बेहद कंजूस थीं, इसलिए आयकर की अदायगी को लेकर चतुराई के चक्कर में एक बार वे बुरी तरह फंस गई थीं।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें माला सिन्हा से जुड़ी बातें...
फिल्म आंखे में माला सिन्हा। फिल्म आंखे में माला सिन्हा।
बता दें कि धीरेन्द्र किशन तब फोटोग्राफर के तौर पर इतने मशहूर थे कि फिल्म इंडस्ट्री में एंट्री के लिए प्रयासरत हर एक्टर उनसे ही फोटोशूट करवाता था। आशा पारेख, नंदा, साधना, शर्मिला टैगोर, माला सिन्हा, राखी आदि उस दौर की फेमस एक्ट्रेस के भी फोटोशूट उन्होंने किए थे। धीरेन्द्र की एक और खासियत थी कि 70 के दशक में यहां आने वाले नए-नए लोगों की वे खूब मदद करते थे। बॉलीवुड के फिल्म प्रचारक बने आरआर पाठक के आरंभिक दिनों की बात है, जब धीरेन्द्र ने उन्हें सांताक्रुज स्थित रंग महल नामक गेस्ट हाउस में काफी समय तक अपने ही साथ ठहराए रखा था। इसके बदले में पाठक उनका थोड़ा-बहुत काम कर दिया करते थे। एक बार की बात है धीरेन्द्र ने पहले कभी माला सिन्हा का फोटोशूट किया था, जिसके 700 रुपए बाकी थे। एक दिन धीरेन्द्र ने पाठक को बिल देकर माला के घर भेजा, ताकि वे जाकर बकाया वसूल लाएं। पाठक के मुताबिक, मैं जब माला जी के घर पहुंचा तो वहां भीड़ लगी थी। माला जी नहीं मिलीं, किंतु जब मुझे यह मालूम पड़ा कि घर के अंदर उनके पिता अल्बर्ट सिन्हा मौजूद हैं तो मैंने सिक्युरिटी गार्ड से आग्रह किया- फिर उन्हीं से मिलवा दीजिए। लेकिन गार्ड को तो मानो मेरी बात सुनने में रुचि ही नहीं थी, बोला- साहब बिजी हैं, बाद में आना। मैंने इसके बाद माला के ड्राइवर से बात की, ड्राइवर ने मेरी बात पहुंचाई भी, पर लौटते ही बोला- साहब फिल्म की स्क्रिप्ट लिख रहे हैं, आप किसी और दिन आइएगा।
फिल्म दिल तेरा दीवाना के एक सीन में माला सिन्हा और शम्मी कपूर। फिल्म दिल तेरा दीवाना के एक सीन में माला सिन्हा और शम्मी कपूर।
असल में अल्बर्ट किसी का बकाया देने में बहुत ना-नुकुर करते थे। यह व्यस्तता का बहाना उसी कवायद की बानगी भर था। सो, पाठक जब काफी परेशान हो गए तो वहीं से उन्होंने धीरेन्द्र को फोन किया। सब कुछ सुनने के बाद धीरेन्द्र ने कहा- वापस आ जाओ... उनके घर पर इनकम टैक्स का छापा पड़ा है। जाहिर है कि पाठक लौट आए, पर अगले दिन अखबारों में यह पढ़कर वे हैरान रह गए- माला के घर के बाथरूम की एक दीवार से इनकम टैक्स वालों ने 12 लाख रुपए नकद बरामद किए। बेशक, उस जमाने में इतनी बड़ी रकम बहुत मायने रखती थी। अल्बर्ट इसे अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहते थे, इसलिए उन्होंने कोर्ट में गुहार लगाई। अदालत में जब उनसे पूछा गया कि आपके घर में इतनी रकम आई कहां से? अल्बर्ट का जवाब था- मेरी बेटी माला ने फिल्मों से कमाए हैं।
फिल्म मेरे हुजूर के एक सीन में माला सिन्हा और राज कुमार। फिल्म मेरे हुजूर के एक सीन में माला सिन्हा और राज कुमार।
माला सिन्हा ने 1954 में फिल्म 'बादशाह' से अपना एक्टिंग करियर शुरू किया था। इस फिल्म में उनके को-स्टार प्रदीप कुमार थे। इसके अलावा उन्होंने 'प्यासा' (1957), 'उजाला' (1959), 'धूल का फूल' (1959), 'दिल तेरा दीवाना' (1962), 'हिमालय की गोद में' (1965), 'आंखे' (1968), 'दो कलियां' (1976), 'जिंदगी' (1976) सहित कई फिल्मों में काम किया है। 
X
अब ऐसी दिखने लगी हैं माला सिन्हा।अब ऐसी दिखने लगी हैं माला सिन्हा।
फिल्म आंखे में माला सिन्हा।फिल्म आंखे में माला सिन्हा।
फिल्म दिल तेरा दीवाना के एक सीन में माला सिन्हा और शम्मी कपूर।फिल्म दिल तेरा दीवाना के एक सीन में माला सिन्हा और शम्मी कपूर।
फिल्म मेरे हुजूर के एक सीन में माला सिन्हा और राज कुमार।फिल्म मेरे हुजूर के एक सीन में माला सिन्हा और राज कुमार।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..