इस डायरेक्टर के कहने पर अमिताभ ने रखी फ्रेंच दाढ़ी, जानिए ऐसे 5 किस्से / इस डायरेक्टर के कहने पर अमिताभ ने रखी फ्रेंच दाढ़ी, जानिए ऐसे 5 किस्से

राकेश ओमप्रकाश मेहरा निर्देशक होने के अलावा, प्रसिद्ध एड मेकर भी रह चुके हैं।

chandidutt shukla

Oct 11, 2017, 12:04 AM IST
राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चन राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चन
मुंबई. `रंग दे बसंती', `भाग मिल्खा भाग', `अक्स' जैसी फिल्में बना चुके राकेश ओमप्रकाश मेहरा निर्देशक होने के अलावा, प्रसिद्ध एड मेकर भी रह चुके हैं। अमिताभ बच्चन को एड वर्ल्ड में लाने का श्रेय उन्हीं के हिस्से है। DainikBhaskar.com ने की राकेश ओमप्रकाश मेहरा से खास बातचीत और जाने अमिताभ से जुड़े पांच किस्से-
उस दिन से बिग बी ने रख ली फ्रेंचकट दाढ़ी
राकेश ओमप्रकाश मेहरा कहते हैं, `अक्स' के दौरान मैंने सुझाव दिया कि फ्रेंचकट दाढ़ी रखते हैं। उन्होंने कहा - तुम समझ नहीं रहे हो। हिंदी सिनेमा के इतिहास में किसी हीरो ने ऐसी दाढ़ी नहीं रखी है। ऑडियंस शायद एक्सेप्ट न करे। 6 महीने तक डिस्कशन चलता रहा। मैं भी अड़ा रहा। आखिरकार, वो फ्रेंच दाढ़ी उनका परमानेंट स्टाइल बन गई।
हर फिल्म का पहला शो उनके लिए...
अमिताभ बच्चन मेरे मेंटॉर हैं। उन्होंने सिनेमा की दुनिया में मुझे नया जन्म दिया। मैं कोई भी फिल्म जब बनाता हूं तो उसका पहला शो अमित जी के लिए ही रखता हूं। ये मेरा उनके लिए छोटा सा ट्रिब्यूट होता है। फिलहाल, मैंने उन्हें कोई नई कहानी नहीं सुनाई है, लेकिन जब भी किसी स्टोरीलाइन पर काम करता हूं तो एक बार जरूर उनके बारे में सोचता हूं।
आगे की स्लाइड्स में जानें बाकी किस्से...
फिल्म अक्स का पोस्टर फिल्म अक्स का पोस्टर
फ्लाइट में फाइनल हुई `अक्स' की स्क्रिप्ट
साल 2000 के आसपास, एक दिन शाम के वक्त अभिषेक की डेब्यू फिल्म - `समझौता एक्सप्रेस' के प्रोजेक्ट को लेकर हम मीटिंग कर रहे थे। उसी वक्त अमिताभ बच्चन ने कमरे में एंट्री की। वो कहीं आउटडोर ट्रैवल के लिए जा रहे थे। मैंने 25 पन्नों का एक ड्राफ्ट उन्हें देकर कहा - `अमित जी, इसे आप इनफ्लाइट एंटरटेनमेंट समझकर पढ़ लीजिएगा।' मीटिंग के बाद मैं घर आ गया, तभी फोन की घंटी बजी। उन दिनों मोबाइल नए-नए इंट्रोड्यूस हुए थे। दूसरी तरफ से अमित जी की धीमी सी आवाज़ आई - `राकेश! फ्लाइट अभी लैंड ही हुई है। मोबाइल ऑन करने की परमिशन नहीं मिली है, लेकिन मैं खुद को रोक नहीं पा रहा हूं, इसलिए कॉल कर रह हूं, एक बात बताओ, जब तुम लिख रहे थे तो क्या पी रहे थे?' वो खुश थे और यकीन मानिए, मैं अपने अंदर भी उतनी ही मीठी खुशी महसूस कर रहा था। मैंने कहा कि अमित जी आपको अच्छा लगा, समझिए - मैंने अमृत पी लिया। उन 25 पन्नों में `अक्स' की इनीशियल स्क्रिप्ट थी। फिर `अक्स' बनी और 2001 में रिलीज हुई।
राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अभिषेक बच्चन राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अभिषेक बच्चन
`समझौता एक्सप्रेस' हो सकती थी अभिषेक की पहली फिल्म
अमित जी से मेरे पारिवारिक संबंध हैं। `दिल्ली 6' से पहले मैं अभिषेक के साथ फिल्म `समझौता एक्सप्रेस' प्लान कर रहा था, लेकिन अभिषेक और मैं, कहानी को लेकर एक राय नहीं हो पाए। दरअसल, फिल्म में उन्हें पाकिस्तानी आतंकवादी का रोल करना था, जो बाद में भारत आकर प्यार की भाषा सीख लेता है। सबका यही कहना था कि पहली फिल्म में अभिषेक का टेररिस्ट बनना ठीक नहीं होगा। अच्छा, उन दिनों हिंदुस्तान-पाकिस्तान का नाम तक नहीं लिया जाता था। माहौल ऐसा था कि लोग पड़ोसी मुल्क ही कहते थे। बातें खुलकर नहीं होती थीं। खैर, वो प्रोजेक्ट नहीं हो सका। बाद में `दिल्ली 6' में हमने कई जरूरी सवाल उठाए। बीबीसी वाले कोई डॉक्यूमेंट्री बना रहे हैं। पिछले दिनों वे इंटरव्यू करने आए। ज्यादातर सवाल दिल्ली 6 के बारे में थे। न किसी ने रंग दे बसंती को लेकर सवाल किए, न भाग मिल्खा भाग की चर्चा हुई। ऐसे ही चैनल - 4 ने पिछले दिनों `दिल्ली 6' दिखाई।  उसे 87 प्वाइंट्स मिले। एक भारतीय फिल्म को इतने प्वाइंट्स मिलना कमाल की बात है।
राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चन राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चन
जब रिजेक्ट किए गए 15 वर्ल्डक्लास डायरेक्टर
मैंने और अमित जी ने साथ में बीपीएल का एड किया, फिर पेप्सी के शुरुआती कॉमर्शियल्स बनाए। इसके बाद दो म्यूजिक वीडियो भी बने। पहला वीडियो `एबी बेबी' था, जिसमें `ईर बीर फत्ते' गाना शामिल किया गया था। दरअसल, अमित जी ने मुझे कुछ गाने सुनाकर पूछा कि अगर हम ऐसे गानों का म्यूजिक वीडियो बनाएं तो उसके लिए अच्छा डायरेक्टर कौन होगा? मैंने उनसे कहा कि अमिताभ बच्चन जैसी हस्ती वीडियो लाए तो प्रोडक्ट वर्ल्ड क्लास का होना चाहिए। उससे पहले हिंदुस्तान में ऐसे वीडियो का चलन नहीं था। रिसर्च के लिए माइकल जैक्सन वगैरह की शो-रील इकट्ठी की गई। दुनिया भर के 15 टॉप डीओपी और डायरेक्टर्स से इस सिलसिले में बातचीत शुरू हुई।
सब कुछ फाइनल हो गया तो अमित जी ने फिर सवाल किया - `इसमें गाने कौन-कौन से रखे जाएं?' मैंने कहा कि हरिवंश राय बच्चन जी ने `ईर बीर फत्ते' जैसी शानदार कविता लिखी है, बचपन में वे इसे आपको प्यार से सुनाते थे, आपने कई जगह प्यार से नैरेट किया है तो उसे जरूर रखें। इसके अलावा, साहिर लुधियानवी की नज़्म `कभी कभी' को भी एलबम का हिस्सा बना सकते हैं। अमिताभ बच्चन का जवाब था - `मुझे आपके दोनों आइडिया अच्छे लग रहे हैं। ये वीडियो आप ही डायरेक्ट करेंगे।' मैंने कभी गाने पिक्चराइज किए नहीं थे, इसलिए मैं एक बार संकोच में पड़ गया पर अंततः सब कुछ ठीक हो गया। 1996 में एलबम आया और सबने उसे हाथोहाथ लिया।
X
राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चनराकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चन
फिल्म अक्स का पोस्टरफिल्म अक्स का पोस्टर
राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अभिषेक बच्चनराकेश ओमप्रकाश मेहरा और अभिषेक बच्चन
राकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चनराकेश ओमप्रकाश मेहरा और अमिताभ बच्चन
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना