विक्रम भट्ट की '1921' में नयापन नहीं, हर सीन ऑडियंस कर सकती हैं प्रिडिक्ट / विक्रम भट्ट की '1921' में नयापन नहीं, हर सीन ऑडियंस कर सकती हैं प्रिडिक्ट

dainikbhaskar.com

Jan 12, 2018, 12:37 PM IST

फिल्म '1921' की शुरुआत आयुष (करन कुंद्रा) से होती है।

Here Is 1921 Movie Review
रेटिंग 2
स्टार कास्ट करन कुंद्रा, जरीन खान
डायरेक्टर विक्रम भट्ट
म्यूजिक हरीश सगाने, असद खान और प्रनीत मावाले
प्रोड्यूसर विक्रम भट्ट
जोनर हॉरर मूवी

'1921' विक्रम भट्ट की हॉरर मूवी सीरीज '1920' की चौथी फिल्म है। इस फिल्म से करन कुंद्रा ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है, लेकिन फिल्म की कहानी में कोई नयापन नहीं है।

कहानी


फिल्म '1921' की शुरुआत आयुष (करन कुंद्रा) से होती है। आयुष म्यूजिक सीखने के लिए इंडिया से इंग्लैंड जाते हैं। लेकिन एक महीने बाद इनकी लाइफ में उथल-पुथल शुरू हो जाती है। दरअसल, वो एक दरवाजा खोल देते हैं जिस वजह से उनका पाला बुरी आत्माओं से पड़ने लगता है। बहुत सारे साए उनका पीछा करने लगते हैं। इसी बीच उनकी मुलाकात रोज (जरीन खान) से होती है। जरीन उन प्रेत-आत्माओं को देख पाती है और आयुष का उनसे छुटकारा दिलाने की कोशिश करती है।

डायरेक्शन


डायरेक्शन और लोकेशन बहुत खूबसूरत है। वहीं, कहानी की बात करें तो विक्रम भट्ट की कहानी एक बार फिर कमजोर लगी है। अगले सीन को प्रिडिक्ट करना ऑडियंस के लिए काफी आसान है। हालांकि, फिल्म का क्लाइमेक्स पिछली फिल्मों से काफी बेहतर है लेकिन कहानी पर और काम करना चाहिए था।

एक्टिंग


करन कुंद्रा पहले टीवी सीरियल्स, रियलिटी शो, 'जरा नचके दिखा' और 'बेताब दिल की तमन्ना' में नजर आ चुके हैं। ये पंजाबी फिल्मों में डेब्यू कर चुके हैं और अब '1921' से बॉलीवुड में भी कदम रख चुके हैं। रोमांस के अलावा जरीन ने फिल्म में प्रेत-आत्माओं से भी निपटने का काम किया है, लेकिन अभिनय की बात करें तो ये और बेहतर कर सकती थीं।

म्यूजिक


फिल्म की रिलीज से पहले गाने हिट नहीं हो पाए हैं। ब्रैकग्राउंड स्कोर तो अच्छा है लेकिन गाने और बेहतर हो सकते हैं। म्यूजिक हिट होता तो फिल्म पर और अच्छा रिस्पॉन्स मिल सकता था। इसका म्यूजिक एवरेज से नीचे है।

देखें या नहीं


यदि आप हॉरर फिल्में पसंद करते हैं तो ये फिल्म देख सकते हैं।

X
Here Is 1921 Movie Review
COMMENT