विज्ञापन

Movie Review: ताबड़तोड़ एक्शन से भरपूर 'फोर्स 2', लेकिन कहानी कमजोर

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2016, 10:03 AM IST

जॉन अब्राहम को लेकर एक बार फिर से प्रोड्यूसर विपुल शाह ने फोर्स सीरीज की अगली फिल्म बनाई है।

Movie Review : Force 2
  • comment
साल 2011 में आई एक्शन थ्रिलर फिल्म 'फोर्स' के 5 साल बाद उसकी सीक्वल सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। पिछली फिल्म से सिर्फ जॉन अब्राहम के कैरेक्टर को आगे बढ़ाया गया है। बाकी पूरी टीम नई है। आइए जानते हैं आखिर कैसी है यह 'फोर्स 2'...
कहानी
यह कहानी चाइना में अचानक हुई भारत के 'रॉ एजेंट्स ' की मौत से शुरू होती है। इसके पीछे का कारण पता लगाने के लिए मुंबई से इंस्पेक्टर यशवर्धन (जॉन अब्राहम) और रॉ एजेंट कमलजीत कौर उर्फ के के (सोनाक्षी सिन्हा) की टीम बुडापेस्ट जाती है। वहां दोनों की भिड़ंत संदिग्ध शिव शर्मा (ताहिर राज भसीन) से होती है। सिलसिलेवार घटनाएं होती हैं और आखिर कहानी को अंजाम मिलता है।

डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन जबरदस्त है। खासतौर से एक्शन सीक्वेंस और लोकेशंस कमाल की हैं। मुश्किल सीन्स के लिए सिनेमैटोग्राफर्स की भी दाद देनी पड़ेगी| उन्होंने काफी अच्छे तरीके से फिल्म को शूट किया है। फिल्म एक एक्शन थ्रिलर है और प्लॉट ट्रेलर से हु साफ हो चुका था| इस वजह से कोई बहुत बड़ा सरप्राइज एलिमेंट सामने नहीं आता। फिल्म को और ज्यादा रहस्यमयी बनाया जा सकता था। स्क्रीनप्ले और भी बेहतर हो सकता था। खासतौर से क्लाइमेक्स फीका दिखाई पड़ता है।
स्टारकास्ट की परफॉर्मेंस
जॉन अब्राहम को सबसे ज्यादा एक्शन सूट करता है और इस फिल्म में भी उन्होंने कमाल के एक्शन सीक्वेंस किए हैं। वहीं सोनाक्षी का काम भी सहज है। ताहिर राज भसीन नेगेटिव किरदार में अच्छे लग रहे हैं। बाकी कलाकारों का काम भी सटीक है

फिल्म का म्यूजिक

फिल्म का म्यूजिक और बैकग्राउंड स्कोर कहानी की रफ्तार के साथ-साथ चलता है और आपको बांधे रखता है।
देखें या नहीं
अगर जॉन अब्राहम या सोनाक्षी के बड़े फैन हैं तो एक बार जरूर देख सकते हैं।

X
Movie Review : Force 2
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन