MOVIE REVIEW : खामोशियां / MOVIE REVIEW : खामोशियां

dainikbhaskar.com

Jan 30, 2015, 01:03 PM IST

खामोशियां महेश भट्ट की हॉरर-लव ड्रामा फिल्म है।

Khamoshiyan: Movie Review

(फिल्म के एक सीन में गुरमीत चौधरी और सपना पब्बी)

फिल्म का नाम खामोशियां
क्रिटिक रेटिंग 1.5/5
मुख्य कलाकार गुरमीत चौधरी, सपना पब्बी, अली फजल
डायरेक्टर करन दर्रा
प्रोड्यूसर महेश भट्ट और मुकेश भट्ट
म्यूजिक डायरेक्टर अंकित तिवारी, जीत गांगुली, बॉबी इमरान, नवाद जफर
जेनर हॉरर, लव ड्रामा

‘खामोशियां’ से दो टीवी एक्टर्स ने बॉलीवुड में अपनी पारी शुरू की है। एक हैं एक्टर गुरमीत चौधरी और दूसरी एक्ट्रेस सपना पब्बी। दोनों ही स्टार्स टीवी के चर्चित चेहरे हैं। ये तीन युवाओं की कहानी है जो अपनी जिंदगी में कुछ पाने और करने की कोशिश में कई उतार-चढ़ाव से गुजरते हैं।

कहानीः

एक युवा लेखक हैं कबीर (अली फजल), जिसकी सिर्फ एक ही बुक हिट रही। उसे ‘वन बुक वंडर’ कहा जा रहा है। इसी असफलता के कारण उसका प्यार भी उससे दूर हो जाता है। कबीर जिंदगी का उद्देश्य पाने में और अपने प्यार से किए वादे को पूरा करने में नाकाम रहता है। वो अपने उद्देश्य को पूरा करने के लिए यात्रा पर निकल जाता है जहां उसकी मुलाकात मीरा (सपना पब्बी) से होती है। मीरा एक गेस्ट हाउस चलाती है, जिसका मालिक जयदेव (गुरमीत चौधरी) उसका पति है। जयदेव कभी बेहद अमीर और पेपर मिल का मालिक हुआ करता था, लेकिन अब उसकी तबीयत ठीक नहीं है और जबरदस्ती मीरा से वो गेस्टहाउस चलवा रहा है। उस गेस्ट हाउस में रहने के दौरान कबीर के साथ कुछ अजीब घटनाएं होती हैं, जिसके बाद वो उस घर और मीरा की जिंदगी से जुड़ी सच्चाई को जानने में जुट जाता है। वो जितना मीरा से इस बारे में बात करता है उतना ही उसकी ओर खिंचा चला जाता है और कन्फ्यूज होता है कि ये घटनाएं वास्तविक हैं या उसका भ्रम। इसी उधेड़बुन में फिल्म की पूरी कहानी चलती है।

एक्टिंग:

फिल्म में अली फजल और गुरमीत चौधरी की एक्टिंग शानदार रही। गुरमीत के लिए ये भले ही पहली बॉलीवुड फिल्म हो, लेकिन वो टीवी के मंझे हुए और सफल एक्टर हैं। जिसका पूरा फायदा उन्हें फिल्म में मिला। अली फजल इससे पहले कई फिल्मों में खुद को साबित कर चुके हैं और यहां भी उन्होंने स्क्रीन पर आते ही दर्शकों को बांधकर रखा। वहीं, ब्रिटिश मॉडल रहीं सपना की एक्टिंग को भी पहली फिल्म के हिसाब से ठीक कहा जा सकता है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें शेष REVIEW, साथ ही देखें फिल्म का वीडियो रिव्यू...

Khamoshiyan: Movie Review
डायरेक्शन:
 
डायरेक्शन में कुछ खामियां नजर आई हैं। इंटरवल के पहले फिल्म अच्छी रही है लेकिन दूसरा हिस्सा दर्शकों को बांधने में नाकाम रहा। खासकर तब जब फिल्म में गुरमीत की एंट्री होती है। फिल्म में डायरेक्टर करन दर्रा ने लव स्टोरी को खूबसूरती से पेश किया, लेकिन हॉरर दृश्यों में डराने में नाकाम रहे।
 
संगीतः
‘खामोशियां’ का म्यूजिक अंकित तिवारी ने दिया है, जो ठीक है। फिल्म के गाने ज्यादा लोकप्रिय तो नहीं हुए लेकिन ऐसा भी नहीं लगता कि इनकी वजह से फिल्म की गति को कहीं नुकसान हो रहा है या ये जबरदस्ती डाले गए हैं।
 
क्यों देखें:
कुल मिलाकर लव ट्रायंगल और हॉरर से सजी ये फिल्म वन टाइम वॉच है। तीनों नए स्टार्स की एक्टिंग ठीक है।
X
Khamoshiyan: Movie Review
Khamoshiyan: Movie Review
COMMENT